• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • 24 घंटे बाद पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरेगा विशालकाय Asteroid, 15 साल का डर कहीं हो ना जाए सच

24 घंटे बाद पृथ्वी के बेहद नजदीक से गुजरेगा विशालकाय Asteroid, 15 साल का डर कहीं हो ना जाए सच

धरती की ओर तेज़ रफ्तार से बढ़ रहा है विशालकाय (Asteroid 2021 GM4) उल्कापिंड. (Photo Credit- Getty Images)

धरती की ओर तेज़ रफ्तार से बढ़ रहा है विशालकाय (Asteroid 2021 GM4) उल्कापिंड. (Photo Credit- Getty Images)

धरती पर एक बार फिर से बड़ा खतरा (Earth is in Danger) मंडरा रहा है. वैज्ञानिक जिस उल्कापिंड (Big Asteroid is expected to collide with the Earth) पर साल 2006 से रिसर्च कर रहे थे, वो धरती की ओर ज़बरदस्त रफ्तार से दौड़ रहा है.

  • Share this:
    हमारी धरती ब्रह्मांड का वो खूबसूरत ग्रह है, जो जीवित रहने की सबसे अनकूल परिस्थितियां देता है. हालांकि जलवायु परिवर्तन (Climate Change) और अंतरिक्ष में होने वाली गतिविधियों के चलते धरती पर खतरा (Earth is in Danger) मंडराता ही रहता है. एक बार फिर 250 मीटर का एक विशाल उल्कापिंड (Big Asteroid is expected to collide with the Earth) धरती के लिए मुसीबत बना हुआ है. 14000 मीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ये धरती की ओर बढ़ रहा है.

    NASA के मुताबिक 1 जुलाई को ये उल्कापिंड धरती के ऑर्बिट से टकराएगा. स्पेस एजेंसी के वैज्ञानिक इस खतरे को साल 2006 में ही भांप चुके थे और अब 15 साल बाद ये खतरा बेहद नज़दीक आ चुका है. नासा ने इस उल्कापिंड का नाम 2021 GM4 दिया है. आकार में ये 110 मीटर से 250 मीटर तक है.

    बेहद तेज़ी से बढ़ रहा है एस्टेरॉयड
    मई 2020 में भी करीब इतने ही आकार का ये विशाल उल्कापिंड 2020 DM4 धरती के बेहद नज़दीक से होकर गुजरा था. हालांकि तब कोई नुकसान नहीं हुआ था. एक बार फिर 2021 GM4 नाम का ये उल्कापिंड वैज्ञानिकों की चिंता का विषय बना है. 6.29 किलोमीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से उल्कापिंड धरती की ओर बढ़ रहा है. वैज्ञानिकों के मुताबिक ये उल्कापिंड 1 जुलाई को रात करीब 11 बजकर 53 मिनट पर धरती की कक्षा से टकराएगा. नासा ने उल्कापिंड को Apollo की कैटेगरी में रखा है, क्योंकि ये साल 1862 के उल्कापिंड Apollo जैसा ही है.

    5 उल्कापिंडों से तबाही के संकेत
    मई 2020 में 2020 DM4 नाम के उल्कापिंड ने भी धरती की कक्षा में दस्तक दी थी. धरती को 5 बड़े उल्कापिंडों के टकराने का खतरा बताया गया है, जिनमें से ये तीसरा विशालकाय उल्कापिंड है. इसका आकार इतना बड़ा है कि आप इसकी तुलना लंदन आई या फिर बुर्ज खलीफा टावर से भी कर सकते हैं. इस वक्त अंतरिक्ष विज्ञानी करीब 2000 उल्कापिंडों पर अध्ययन कर रहे हैं, जो धरती के लिए खतरा बन सकते हैं.

    ये भी पढ़ें- वो 'पवित्र' जंगल जहां महिलाओं का कपड़े पहनना है वर्जित, भूल से भी अंदर नहीं जाता कोई मर्द

    यूं तो धरती के पास से होकर उल्कापिंडों के गुजरने का सिलसिला कोई नया नहीं है. ये घटना आए दिन होती रहती है. खतरा तब होता है जब चट्टाननुमा ये उल्कापिंड काफी विशाल हों. ऐसे में इनके धरती से टकराने के बाद भयानक तबाही आ सकती है. NASA इन गतिविधियों पर नज़र बनाए रखता है. पिछले 100 सालों में करीब 22 एस्टरॉयड्स धरती के लिए खतरनाक माने जा चुके हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज