Home /News /ajab-gajab /

it is difficult to recognize a creature sitting among dry stones it is easy to hide anywhere due to the color of the skin shitri

सूखे पत्थरों के बीच बैठे जीव को पहचानना हुआ मुश्किल, खाल के रंग-रुप के चलते कहीं भी छुपना होता है आसान

सौ.इंटरनेट- भूरे पत्थरों पर बैठे छोटे उल्लू को नहीं खोज पाई किसी की आंखें, पत्थर के रंग में घुल—मिल जाने से देखना हुआ मुश्किल

सौ.इंटरनेट- भूरे पत्थरों पर बैठे छोटे उल्लू को नहीं खोज पाई किसी की आंखें, पत्थर के रंग में घुल—मिल जाने से देखना हुआ मुश्किल

दिन में सोना रात में जगना, ऐसी प्रवृत्ति वाले जीव को दिन में खोजना मुश्किल हो जाता है. डर्बीशायर फार्म की तस्वीर में सूखे पत्थरों के बीच एक उल्लू बिल्कुल सामने बैठा रहा मगर रंगरूप ऐसा कि लाख कोशिश के बाद भी नहीं खोज पाया कोई.

धरती पर जीव-जन्तुओं की इतनी प्रजातियां है कि याद रखना मुश्किल हो जाए. फिर भी कई ऐसे जीव होते हैं जो अपनी अनोखी खासियत तो कभी रंग-रूप के चलते सबका ध्यान अपनी ओर खींच ही लेते हैं. ऐसा ही एक जीव है उल्लू जिसे रात भर जागने की खूबी के चलते निशाचर भी कहते हैं.

लेकिन आज बात उल्लुओं की विशेषता पर नहीं होने वाली है. बल्कि एक छोटे उल्लू को तलाशने की चुनौती मिली है. जो एक खेत में सूखे-सूखे से दिखने वाले पत्थरों के बीच कहीं बैठा बताया गया. लेकिन यकीन मानिए तस्वीर एकदम स्पष्ट होते हुए भी शायद ही किसी ने छवि में उल्लू को खोज निकाला हो.

शरीर और पत्थर आपस में ऐसे घुलमिले कि नज़र ही नहीं आया
दिन में सोना रात में जगना जी हां यही खासियत होती है उल्लू की. जो डर्बीशायर फार्म में गायब हो गया. हालांकि फार्म की तस्वीर के ज़रिए यूज़र्स को अपनी आंखे गड़ा-गड़ाकर उसकी तलाश की चुनौती मिली है जो मुश्किल लग रही है. वजह ये है तलाश दिन में करनी है जब वो सोया रहता है अगर रात होती तो उसकी चमकदार आंखों से उसे खोजना आसान हो जाता. तस्वीर एक खेत की हैं जहां सूखे पीले कुछ छिंटेदार पत्थरों के बीच एक उल्लू बिल्कुल सामने बैठा है मगर बंद आंखो और अपने शरीर के फर के रंग के चलते पत्थरों में ऐसे घुलमिल गए कि आंखें गड़ाने पर भी न दिखे. लेकिन हार मान लेने के बाद तस्वीर को क्लोजअप किया गया तो बिल्कुल सामने की आधी दिवार पर बैठा उल्लू नज़र आ गया. जिसे देख पत्थर और पक्षी में अंतर करना नामुमकिन था.

owl hiding

सौ.इंटरनेट- यूरोप के गर्म भागों में रहते हैं छोटे उल्लू, शरीर के रंग के चलते कहीं भी आसानी से छुप जाते हैं

यूरोप के गर्म इलाकों में रहते हैं छोटे उल्लू
डर्बीशायर पीक जिले के फूलों के सुंदर से गांव में एक सूखी पत्थर की दीवार पर बैठे एथेना के एक छोटे उल्लू को देखा गया. उल्लू की बाकी प्रजातियों के विपरित वो दिन और रात दोनों में रंग पहचान लेता है. इन्हें आमतौर पर खेत की ज़मीन, ग्रामीण इलाकों और पार्कलैंड में रहते हुए पाया जा सकता है. उल्लुओं को उनकी आकर्षक पीली आँखे और धब्बेदार क्रीम और भूरे रंग के कोट से देखा जा सकता है. किस्मत से छोटे उल्लू की पीठ पर बने निशान एक कवच की तरह काम करते हैं जो उसे शिकारियों की नज़र से बचाते हैं. छोटे उल्लू यूरोप के गर्म भागों में रहते हैं, इसलिए संभवत: यूके की हालिया हीटवेव के बाद इसे देखा गया.

Tags: Ajab Gajab news, Khabre jara hatke, OMG News, Owl

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर