Home /News /ajab-gajab /

Shocking : तालिबानी राज में नशेड़ी बनाए जा रहे हैं आवारा कुत्ते, बिना ड्रग्स के हो जाते हैं बीमार !

Shocking : तालिबानी राज में नशेड़ी बनाए जा रहे हैं आवारा कुत्ते, बिना ड्रग्स के हो जाते हैं बीमार !

अफगानिस्तान में आवारा कुत्तों (Afghan Dogs are given Drugs) को ड्रग्स लेने की ऐसी ही लत लग गई है और उनकी हालत बेहद खराब (Stray Dogs Drugged in Afghanistan) होती जा रही है.  (Credit- AFP )

अफगानिस्तान में आवारा कुत्तों (Afghan Dogs are given Drugs) को ड्रग्स लेने की ऐसी ही लत लग गई है और उनकी हालत बेहद खराब (Stray Dogs Drugged in Afghanistan) होती जा रही है. (Credit- AFP )

Taliban In Afghanistan : अफगानिस्तान में तालिबान (Afghanistan Taliban) का राज आने के बाद यहां रहने वाले लोगों को जितनी परेशानी हो रही है, उतनी ही त्रासदी अफगानी जानवर (Afghan Dogs are given Drugs) भी झेल रहे हैं. चिड़ियाघरों में उनकी हालत खराब है तो सड़क पर आवारा घूमने वाले कुत्तों (Stray Dogs Drugged in Afghanistan) के साथ भी जो हो रहा है, वो दुखद है. यहां के कुत्तों को ज़बरन ड्रग्स देकर नशेड़ी (Afghani Dogs are High in Drugs) बनाया जा रहा है. ये बेज़ुबान जानवर न तो खुद पर काबू रख पाते हैं न ही किसी ने कुछ कह सकते हैं. ऐसा क्यों हो रहा है, उसकी वजह आपको चौंका देगी.

अधिक पढ़ें ...

    ड्रग्स (Drug Addiction) की लत अगर इंसान को लग जाए, तो उन्हें बर्बाद कर देती है. सोचिए, ये लत अगर कहीं बेजुबान जानवरों को लग जाए, तो वे कैसे सर्वाइव करेंगे? अफगानिस्तान में आवारा कुत्तों (Afghan Dogs are given Drugs) को ड्रग्स लेने की ऐसी ही लत लग गई है और उनकी हालत बेहद खराब (Stray Dogs Drugged in Afghanistan) होती जा रही है. अब ये कुत्ते खुद तो ड्रग्स लेंगे नहीं, ज़ाहिर है इन्हें ड्रग्स (Afghani Dogs are High in Drugs) दी जा रही है, लेकिन क्यों?

    सभी को पता है कि तालिबानी राज (Afghanistan Taliban) में अफगानिस्तान के अंदर खाने-पीने के लाले पड़े हुए हैं. लोग पैसों के लिए बच्चियों का सौदा कर रहे हैं. इसी कड़ी में बेघर हुए लोगों के पास कड़ाके की ठंड में खुद को गर्म रखने का कोई इंतज़ाम नहीं है. ऐसे में ठंड में ठिठुरते लोग खुद भी ड्रग्स लेकर हाई रहते हैं और बदन की गर्मी के लिए कुत्तों (Stray Dogs Drugged in Afghanistan) को अपने पास सुलाते हैं.

    कौड़ियों के भाव मिलती है हेरोइन
    Daily Star की रिपोर्ट के मुताबिक अफगानिस्तान में ड्रग एडिक्शन अपने आपमें बड़ी समस्या है. यहां हेरोइन चूंकि काफी सस्ती मिलती है, ऐसे में भिखारी और बेघर लोग भी इसे खरीद सकते हैं. तालिबान एक तरफ तो नशा खत्म करने की बात करता है, तो वहीं तालिबान के ही राज में आवारा कुत्तों को भी ड्रग्स सुंघाई जा रही है. शहर-ए नाव में अक्सर सड़क पर रहने वालों को हेरोइन का नशा करते हुए देखा जाता है और वे खाली बोतलों के ज़रिये ये ड्रग्स आवारा कुत्तों को भी दे रहे हैं. ड्रग्स लेने के बाद इधर-उधर घूम रहे कुत्ते शांत हो जाते हैं और चुपचाप एक जगह बैठ जाते हैं.

    ये भी देखें- 6 महीने तक मां की लाश के साथ सोती रही बेटी, वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप !

    क्यों कुत्तों को सुंघाया जा रहा है नशा?
    ड्रग्स का प्रभाव कुत्तों पर भी ठीक उसी तरह से होता है, जैसे इंसानों पर. ऐसे में जब वे एक जगह चुपचाप बैठ जाते हैं तो बेघर लोगों को उनके पास रहने से गर्मी का एहसास होता है, जो ठंडी रातों में उनके लिए सहारा बनता है. काबुल में रात का तापमान माइनस 4 डिग्री तक गिर जाता है. ऐसे में कुत्तों के पास होने से नशेड़ियों को ठंड नहीं लगती. आपको बता दें कि तालिबान के राज में नशेड़ियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाती है

    Tags: Afghanistan Crisis, Dogs, Drugs Problem

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर