Home /News /ajab-gajab /

पहली बार चिम्पांजी में मिला कुष्ट रोग का निशान, जंगल में बीमारी से ग्रस्त जानवरों को देख एक्सपर्ट्स हैरान

पहली बार चिम्पांजी में मिला कुष्ट रोग का निशान, जंगल में बीमारी से ग्रस्त जानवरों को देख एक्सपर्ट्स हैरान

आइवरी कोस्ट के नर चिम्पांजी में ऐसे  दिखाई दिया कुष्ट रोग का असर (इमेज- Tai Chimpanzee Project)

आइवरी कोस्ट के नर चिम्पांजी में ऐसे दिखाई दिया कुष्ट रोग का असर (इमेज- Tai Chimpanzee Project)

वेस्ट अफ्रीका (West Africa) में दो अलग-अलग जगहों पर कुष्ट रोगी चिम्पांजी देख लोग हैरान रह गए हैं. चिम्पांजी में कुष्ट रोग (Leprosy In Chimpanzee) का ये पहला मामला सामने आया है. इन्हें देखने के बाद एक्सपर्ट्स हैरान हैं.

    इंसान में कुष्ट रोग (Leprosy) पाया जाना आम बात है. दवाइयों से इसे ठीक भी किया जा सकता है. लेकिन बीते दिनों पहली बार चिम्पांजी में कुष्ट रोग (Leprosy In Chimpanzee) देखने को मिला. इसकी कुछ तस्वीरें भी शेयर की गई है. चिम्पांजी के चेहरे पर बड़े-बड़े फोड़े देखने को मिले. आज से पहले कभी भी चिम्पांजियों में इस बीमारी के लक्षण नहीं देखे गए थे. अपने आप में ये पहला मामला है, जिसने एक्सपर्ट्स को हैरान कर दिया है.

    चिम्पांजी में कुष्ट रोग के ये मामले वेस्ट अफ्रीका के गिनी बिस्सौ और आइवरी कोस्ट ( Guinea-Bissau and the Ivory Coast) में देखने को मिले. यूनिवर्सिटी ऑफ़ एक्सेटर के सेंटर फॉर इकोलॉजी एंड कंज़र्वेशन के साइंटिस्ट्स के मुताबिक़, चिम्पांजी में मिले किश्त रोग के निशान इंसान से अलग हैं. अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि चिम्पांजियों में कुष्ट रोग कैसे फैला. लेकिन इस बात की पूरी आशंका है कि अब इन चिम्पांजियों से ये बीमारी जंगल के बाकी के जानवरों में फ़ैल जाएगी. हालांकि, एक्सपर्ट्स का कहना है कि किसी इंसान से ही ये बीमारी चिम्पांजी तक पहुंची है.

    leprosy in chimps

    कुष्ट रोग का जानवर की बॉडी पर ऐसा असर दिखा

    बात अगर कुष्ट रोग की करें, तो इंसान ही सीए फ़ैलाने वाले बैक्टेरिया, जिसे Mycobacterium leprae bacteria कहते हैं, को पालते हैं. इन्हीं से ये इन जानवरों में पहुंची होगी. एक समय में कुष्ट रोग ने इंसानों को काफी परेशान कर दिया था. 1980 से पहले ये बीमारी तेजी से फ़ैल रही थी. लेकिन इसके बाद एंटीबायोटिक बन गए और इसपर लगाम लगा दी गई. जानवरों में भी इसके निशान नहीं दिखाई देते थे. ऐसे में साइंटिस्ट्स रिलैक्स हो गए थे. लेकिन बीते बीस साल से यूके की गिलहरियों में कुष्ट रोग देखने को मिल रहा था. इसके बाद अमेरिका के अर्माडिल्लोस में. और ताजा मामले में चिम्पांजी के अंदर.

    leprosy in chimps

    पूरी बॉडी को सड़ा देती है ये बीमारी

    बता दें कि कुष्ट रोग एक इंफेक्शियस बीमारी है, जो फैलती है. इसमें स्किन और नसों में परेशानी होती है. अगर इसका इलाज नहीं किया जाए तो इससे स्किन खराब हो जाती है और कुछ मामलों में इंसान अंधा हो सकता है. अफ्रीका के चिम्पांजियों में पाए गए ये मामले अपने तरह के पहले हैं. डॉ किम्बर्ले हॉकिंग्स के मुताबिक़, इंसान के सबसे करीबी रिश्तेदार में गिने जाने वाले इन चिम्पांजियों को अब स्टडी किया जाएगा. इसे लेकर एक्सपर्ट्स में उत्साह भी है और चिंता भी. आगे की स्टडी में ही अब सारी बातें सामने आ पाएगी.

    Tags: Disease, Genetic diseases, Khabre jara hatke, Shocking news, Weird news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर