महिला ने बढ़ती 'एलर्जी' से तंग आकर छोड़ी नौकरी, जानिए 6 महीने बाद कैसे हो गई बिल्कुल ठीक!

सांकेतिक तस्वीर

अगर आप भी लगातार एलर्जी (allergic) के शिकार होते हैं या आपको हाइव्स की प्रॉब्लम है, तो इस बात पर गौर जरूर करें कि इसकी वजह तनाव तो नहीं? लंदन की एक इंवेस्टमेंट बैंकर (investment banker) के साथ जो हुआ, वो किसी भी पेशेवर के साथ हो सकता है. इसलिए ये रिपोर्ट आप भी पढ़ें.

  • Share this:
    लंदन. कई बार हम अपनी बीमारी की वजह खुद ही नहीं समझ पाते क्योंकि इंसान का शरीर सबसे कॉम्लेक्स चीज़ मानी गई है. अब आपने ही इससे पहले कभी सुना है कि स्किन एलर्जी (Allergic) की वजह आपका तनाव (Stress)हो सकता है? लेकिन ऐसा हुआ लंदन की कैटलिन टेलर (Caitlin Taylor) के साथ. जो अपनी तनावभरी नौकरी की वजह से भयानक एलर्जी का शिकार हो गईं. दिलचस्प बात तो ये रही कि जैसे ही उन्होंने नौकरी छोड़कर दुनिया भर की सैर करनी शुरू की, कैटलिन की सेहत खुद ब खुद सुधरने लगी.

    फाइनेंस में करियर बनाने वाली कैटलिन ने ज्यादा पैसे कमाने के लिए इंवेस्टमेंट बैंकर का काम चुना. काम तो ठीक चल रहा था लेकिन घंटों की सिटिंग और तनाव के चलते कैटलिंग की तबियत कुछ ही महीनों में खराब रहने लगी. उन्हें तनाव बढ़ने के साथ शरीर पर चकत्ते पड़ने और सूजन की समस्या आने लगी.

    डॉक्टरों की भी समझ में नहीं आया मर्ज़
    कैटलिन जब डॉक्टर के पास गईं तो उनके करीब-करीब सारे टेस्ट कराए गए. कैंसर तक की आशंका डॉक्टर्स के मन में आई, लेकिन टेस्ट निगेटिव रहे. कैटलिन बताती हैं कि ये सब बेहद डरावना था. शरीर पर चकत्ते इतने बढ़ गए थे कि उनकाठीक से देख पाना और सांस ले पाना भी मुश्किल था. वे बताती हैं कि उनका काम सुबह 7 बजे से रात साढ़े 10 बजे तक चलता था. इसके अलावा घंटे भर का सफर करने के बाद वे साल भर में इतनी मेहनत के बाद बीमार हो चुकी थीं. बीमारी बढ़ने के साथ पैनिक अटैक भी शुरू हो गए.

    ये भी पढ़ें- पहले COVID रिलीफ फंड से लिया 36 करोड़ का लोन, फिर लैंबोर्गिनी खरीदकर मनाईं छुट्टियां
    आखिरकार नौकरी छोड़ने का लिया फैसला
    इतना सब कुछ होने के बाद भी कैटलिन की रिपोर्ट्स एलर्जिक रिएक्शन की ओर इशारा कर रही थीं. जब ये सब ठीक हुआ तो कैटलिन को पता चला कि तनाव उसके एलर्जिक रिएक्शन की वजह थी. कैटलिन ने अपनी बेहतरीन सैलरी की जॉब छोड़कर दुनिया की सैर पर निकल गईं. नतीजा ये रहा कि महीने भर बाद ही उनकी सेहत सुधरने लगी और 6 महीने में उनकी बीमारी खत्म हो चुकी थी.

    पहले भी तनाव से एलर्जी का संबंध पता चल चुका है
    इससे पहले भी एक अध्ययन से पता चला है कि बढ़ी हुई एलर्जी कॉर्टिकोट्रोपिन-रिलीजिंग तनाव हार्मोन (सीआरएच) के कारण होती है. इसका मतलब है कि स्ट्रेस का एलर्जी से सीधा संबंध हो सकता है. हार्मोन मुख्य तत्व है, जो तनाव के लिए शरीर की प्रतिक्रिया को संचालित करता है. यह उन बीमारियों में भी मौजूद होता है, जो सूजन का कारण बनती हैं.