Home /News /ajab-gajab /

man drinks diarrhoea smoothie for experiment regrets instantly sankri

एक्सपेरिमेंट के नाम पर शख्स ने पिया 'डायरिया स्मूदी', मांगने लगा मौत की भीख!

पीते ही खराब पेट ने कर दी हालत टाइट (इमेज- ट्विटर)

पीते ही खराब पेट ने कर दी हालत टाइट (इमेज- ट्विटर)

26 साल के एक नौजवान शख्स ने डॉक्टर्स की मदद के चक्कर में अपनी ही जान मुसीबत में डाल दी. शख्स ने एक्सपेरिमेंट के नाम पर ऐसा ड्रिंक पिया, जिसके बाद उसका पेट खराब हो गया और वो खुद मौत की भीख मांगने लगा.

आज के समय में ऐसे कई एक्सपेरिमेंट होते रहते हैं, जिनमें ऐसी बीमारियों का इलाज ढूंढा जाता है, जो अभी तक अवेलेबल नहीं है. इसके लिए कई बार रिसर्च टीम ऐसे लोगों को ढूंढते हैं, जो उसके लिए एक्सपेरिमेंट रैट की तरह काम करते हैं. ऐसे ही एक्सपेरिमेंट रैट जैक एबर्टस ने लोगों के साथ अपना पर्सनल एक्सपीरियंस शेयर किया. जैक ने खतरानक शिगेला बैक्टीरिया इन्फेक्शन के इलाज के लिए चल रहे रिसर्च को ज्वाइन किया था. लेकिन डॉक्टर्स की मदद के चक्कर में उसने अपनी ही हालत खराब कर ली.

जैक ने डायरिया के इलाज के लिए किये जा रहे एक्सपेरिमेंट में पार्टिसिपेट किया था. इसके लिए उसने खतरनाक शिगेला बैक्टेरिया, गंदे पानी का सोल्यूशन पिया. लेकिन इस ड्रिंक को लेते ही उसका पेट खराब हो गया, जिससे उसकी बुरी हालत हो गई. उसने अपनी मर्जी से ही इस गंदे स्मूदी को पिया था. इस ड्रिंक को पीने के पीछे मकसद था खतरानक बैक्टेरिया शिगेला के खिलाफ वैक्सीन ढूंढने में साइंटिस्ट्स की मदद करना. अगर इस बैक्टेरिया से लड़ने के लिए वैक्सीन बन जाता है, तो इससे कई लाख लोगों की जान हर साल बच सकती है.

11 दिन का था चैलेंज
26 साल के जैक ने बैक्टेरिया से लड़ने के लिए 11 दिन का चैलेंज लिया था. इस दौरान वो लाइव ट्वीट कर अपना एक्सपीरियंस भी शेयर करता रहा. अपने एक्सपेरिमेंट के छठे दिन जैक ने लिखा कि आज का एक्सपीरियंस सबसे बुरा था. उसका पेट बेहद खराब हो गया है और उसने दो बार खुद को वाशरूम में पहुंचने से पहले ही गन्दा कर लिया है. इसके बाद जैक को तेज फीवर भी आ गया और उसका ब्लड प्रेशर भी काफी बढ़ गया. जैक ने कहा कि उसकी हालत ऐसी थी कि उससे बेहतर मौत लगने लगी थी.

experiment drink

हर साल होती है लाखों मौतें
शिगेला बैक्टेरिया काफी खराब है. इसकी चपेट में आने की वजह से हर साल लाखों लोगों की मौत हो जाती है. खासकर ये बैक्टेरिया छोटे बच्चों को अपनी चपेट में ले लेता है जिसके बाद जान बचने की संभावना काफी कम हो जाती है. जैक ने अपने अनुभव के आधार पर कहा कि सिर्फ छह घंटे में उसे मौत ज्यादा प्यारी लगने लगी थी. ऐसे में वो सोच भी नहीं सकता कि छोटे बच्चों को कैसा लगता होगा. अब ठीक होने के बाद उसने पानी की सफाई के लिए पैसे इक्कठा करना शुरू कर दिया है, जिससे ये बैक्टेरिया कम फैले. शिगेला बैक्टेरिया सबसे कॉमन बैक्टेरिया है, जो खासकर गरीब देशों में तेजी से फैलकर लोगों की जान ले ले रहा है.

Tags: Ajab Gajab, Khabre jara hatke, OMG News, Weird news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर