• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • अब ऑफिस में महिला कर्मचारी को लव, हनी, स्वीटी बोला तो खैर नहीं, गंवानी पड़ सकती है नौकरी

अब ऑफिस में महिला कर्मचारी को लव, हनी, स्वीटी बोला तो खैर नहीं, गंवानी पड़ सकती है नौकरी

मेनचेस्टर कोर्ट ने इन शब्दों को महिला का अपमान करने वाले शब्द घोषित किये हैं (इमेज- सांकेतिक)

मेनचेस्टर कोर्ट ने इन शब्दों को महिला का अपमान करने वाले शब्द घोषित किये हैं (इमेज- सांकेतिक)

मेनचेस्टर कोर्ट (Menchester Court) में एक अजीबोगरीब मामले की सुनवाई हुई. यहां एक शख्स पर ऑफिस की महिला कर्मचारियों को लव, हनी, स्वीटी (Love, Honey, Sweety) बोलने के कारण नौकरी से निकाले जाने के केस पर सुनवाई की गई. मामले में कोर्ट ने शख्स को दोषी ठहराते हुए कंपनी के फैसले को सही माना.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    क्या आप भी अपने ऑफिस में काम करने वाली महिला कर्मचारियों (Pet Names To Female Employee) को दूसरे नामों से बुलाते हैं? अगर हां, तो तुरंत अपनी इस आदत को बदल डालिये. हाल ही में मेनचेस्टर (Menchester) के एक ऑफिस ने अपने यहां काम करने वाले मेल कर्मचारी को निकाल (Man Suspended For Calling Colleague Love) दिया. उस पर ऑफिस की महिलाओं को हनी, लव, स्वीटी आदि बोलने का दोषी माना गया था. इस मामले को लेकर शख्स ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. जहां कोर्ट ने भी ऑफिस के फैसले को सही मानते हुए लोगों को वार्निंग दी कि ऑफिस में महिला कर्मचारियों को ऐसे नामों से पुकारना उनका अपमान करना है.

    कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि ऑफिस में महिला कर्मचारी को लव बोलना उनकी इंसल्ट करना है. जज ने कहा कि स्वीटी और बेब्स जैसे शब्द महिला को अपमानित करते हैं.महिलाओं के लिए इन शब्दों का इस्तेमाल गलत है. ये सुनवाई एक फ्यूनरल होम के मैनेजर माइक हार्टले को इन शब्दों के इस्तेमाल के कारण नौकरी से निकाले जाने के केस में हुई. माइक पर आरोप था कि वो अपने साथ काम करने वाली महिलाओं को इन शब्दों से बुलाता था जो उनकी इंसल्ट थी.

    शख्स ने दी ऐसी दलील
    नौकरी से निकाले जाने के के बाद माइक ने मेनचेस्टर कोर्ट में इसे लेकर केस दायर किया था. माइक का कहना था कि वो सिर्फ महिलाओं को ही नहीं, बल्कि पुरुष कर्मचारियों को भी मेट और पाल जैसे शब्दों से बुलाता था. वो सिर्फ महिलाओं को पेट नेम से बुलाता था. उसका कोई बुरा या खराब इंटेंशन नहीं था. ऐसे में जॉब से निकाला जाना गलत था और कोर्ट को कंपनी को उसे वापस रखने का आर्डर जारी करना चाहिए.

    कोर्ट ने सुनाया फैसला
    माइक की दलील सुनने के बाद मेंसचेस्टर कोर्ट ने जज ने अपना फैसला सुनाया. उन्होंने कहा कि मर्द और औरत के लिए इस्तेमाल शब्दों में तुलना नहीं की जा सकती. किसी को मेट या लैड बोलना इंसल्ट नहीं है. ये निकनेम अपमानित करने वाले नहीं हैं. लेकिन वहीं महिला को चिक, बेब्स, हनी या स्वीटी स्वीटी बोलना उनका अपमान करना है. इस वजह से कंपनी का फैसला बिलकुल सही है और उसे कोर्ट नहीं हटाएगा.

    words banned in office for female workers

    कई महिलाओं ने की थी कंप्लेन
    बता दें कि माइक के खिलाफ कंपनी की कई महिलाओं ने कम्प्लेन की थी. कई महिलाओं ने शिकायत की थी कि माइक उन्हें ऑफिस में सबके सामने लव, हनी जैसे शब्दों से बुलाता था. जब एचआर से इसकी शिकायत की गई, तो उसे सस्पेंड कर दिया गया. तब माइक ने कहा था कि वो किसी की इंसल्ट नहीं कर रहा था. वो बस फ्रेंडली हो रहा था. अब कोर्ट एक फैसले के बाद बाकि कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को इसे लेकर वार्निंग जारी कर दी है. ऐसे में अगर आप भी ऐसा करते हैं तो अब संभल जाइये.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज