• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • Most Expensive Feathers: 400 शिकारी मिलकर ढूंढते हैं बत्तख के नायाब पंख, कीमत लगती है हज़ारों में 

Most Expensive Feathers: 400 शिकारी मिलकर ढूंढते हैं बत्तख के नायाब पंख, कीमत लगती है हज़ारों में 

World's Most Expensive Feathers वाला पक्षी है Eider Polar Duck. (Credit- Pixabay)

World's Most Expensive Feathers वाला पक्षी है Eider Polar Duck. (Credit- Pixabay)

Eiderdown नाम के इस फेदर (World's Most Expensive Feathers) को ढूंढने में शिकारी अपनी जान लड़ा देते हैं, क्योंकि बाज़ार में इसकी कीमत हजारों में लगती है.

  • Share this:

    दुनिया में अलग-अलग तरह के जानवर और पक्षी हैं. इंसान ने इनसे पैसे कमाने का कोई न कोई जरिया ढूंढ लिया है. ऐसा ही एक पक्षी है आइसलैंड में रहने वाला Eider polar duck. इस बत्तख के पंखों को ढूंढने में शिकारी अपना पूरा-पूरा दिन लगा देते हैं, क्योंकि अगर ये हाथ लग जाए तो कीमत सोने से कम नहीं है.

    Iceland के Breizafjorzur Bay में रहने वाले Eider polar duck के पंखों को ढूंढने के लिए शिकारी गर्मियों में निकलते हैं. ये दुनिया का सबसे महंगा बिकने वाला पंख है. इसे दुनिया का सबसे गर्म प्राकृतिक फाइबर माना जाता है. इसका इस्तेमाल लग्ज़री प्रोडक्ट्स बनाने में बडे़-बड़े ब्रांड्स करते हैं. वज़न में बेहद हल्का और शरीर को गर्माहट देने वाला ये फाइबर इंटरनेशनल मार्केट में डिमांड में रहता है.

    Eiderdown की कीमत है हज़ारों में

    Eider polar duck की गर्दन के निचले हिस्से में मौजूद ये फाइबर बेहद गर्म और नरम होता है. यही वजह है कि इसे हजारों डॉलर में भी खरीदने को सब तैयार रहते हैं. ये फाइबर तब तैयार होता है, जब Eider polar duck अपने अंडो को हैच करती है. उसके ब्रेस्ट से निकलने वाला ये फाइबर जिस किसी को भी मिलता है, उसे इसकी अच्छी खासी रकम मिल जाती है. ये फाइबर काफी हल्का होता है और बहुत कम मिल पाता है. 800 ग्राम फाइबर की कीमत बाज़ार में 5000 डॉलर में लगती है.

    ये भी देखें – गजब ! जान पर बनी तो 12 फीट के मगरमच्छ से भिड़ गई लड़की, मुक्के मार-मारकर भगाया

    कई बार चली जाती बतखों की जान भी

    स्थानीय लोगों के लिए ये रोज़गार का ज़रिया है. वे बताते हैं कि अगर पक्षी के घोसले में सिर्फ अंडे होते हैं तो वे वहां से फाइबर का टुकड़ा उठा लेते हैं और अगर आइडर बतख भी वहां मौजूद होती है, वो वे सब कुछ ले लेते हैं. लोग इसे ढूंढने के लिए साल में तीन बार निकलते हैं. एक किलोग्राम फाइबर के लिए उन्हें 60 बतखों के घोसले देखने पड़ते हैं. इस फाइबर के लिए बतखों का होना ज़रूरी है, इसलिए दिलचस्प बात ये है कि इसके लिए बतखों को मारा नहीं जाता है, बल्कि उन्हें ज्यादा से ज्यादा ज़िंदा रखा जाता है. एनिमल लवर्स के लिए भी ये प्रक्रिया काफी सुकून देने वाली है, जिसमें जानवर को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाता.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज