Home /News /ajab-gajab /

बेटी को अजीबोगरीब परवरिश दे रही है मां, न जाती है स्कूल, न ही है सोने-जागने का कोई वक्त !

बेटी को अजीबोगरीब परवरिश दे रही है मां, न जाती है स्कूल, न ही है सोने-जागने का कोई वक्त !

Social Media पर डाले गए वीडियो में मां ने बताया है कि वो अपनी बेटी को बेहद गैर पारंपरिक परवरिश दे रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

Social Media पर डाले गए वीडियो में मां ने बताया है कि वो अपनी बेटी को बेहद गैर पारंपरिक परवरिश दे रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

Parenting Tips : बच्चों के पालन-पोषण (Parenting Style) में जो सबसे अहम संस्कार डाले जाते हैं, वो अनुशासन (Discipline for Children) है. कहा जाता है कि ज़िंदगी में वक्त और दिनचर्या का अनुशासन अगर बच्चे सीख लें, तो वे आगे चलकर कामयाब होते हैं. अगर हम आपसे कहें कि एक मां (Mother puts no restriction on daughter) ऐसी भी है, जो इस बात को बिल्कुल भी नहीं मानती तो आप हैरान हो जाएंगे. जी हां, बच्चों के पालन-पोषण (Weird Parenting Theory) को लेकर मां की एक अलग की थ्योरी है, जो बच्चों पर किसी तरह की रोक-टोक करने के खिलाफ है.

अधिक पढ़ें ...

    बच्चों को अगर कोई चीज़ बचपन से घर (Parenting Tips) और स्कूल में सिखाई जाती है, तो वो अनुशासन का पाठ (Lesson Of Discipline) है. हर काम का वक्त तय किया जाता है. खेलने-कूदने से लेकर पढ़ने-लिखने और सोने के लिए भी समय (Routine Time Table of Children) तय किया गया है, ताकि बच्चे बिना थके अच्छी तरह नई चीज़ें सीख सकें. हाल ही में TikTok पर एक मां ने ये कहकर (Weird Parenting Theory) विवाद खड़ा कर दिया कि उसने अपनी 10 साल की बच्ची को अनुशासन नाम की चीज़ ही नहीं (Mother puts no restriction on daughter) सिखाई.

    @treeeflower नाम की TikTok यूज़र ने एक वीडियो अपलोड करते हुए बताया है कि वो अपनी बेटी को बिल्कुल गैर-पारंपरिक अंदाज़ में पाल रही हैं. उन्होंने न तो बेटी के लिए कोई सोने का वक्त निश्चित किया है और न ही वे उसे पढ़ने-लिखने के लिए बाधित करती हैं. इतना ही नहीं मां का ये भी कहना है कि उसने बेटी को कभी स्कूल भी नहीं भेजा. उसकी ये बातें सुनकर इंटरनेट पर लोग दंग रह गए हैं.

    बेटी की परवरिश की कहानी सुन आ जाएगा चक्कर
    वीडियो में मां बताती हैं कि वो अपनी बेटी को बेहद गैर पारंपरिक या फिर विवादित परवरिश दे रही है. न तो उसके सोने का वक्त है न ही जागने का. कई बार वो सुबह 5 बजे सोती है और शाम को 4 बजे उठती है. वो कभी भी स्कूल नहीं गई है. वो वही पढ़ती है, जो पढ़ना चाहती है. मां ने ये बताकर भी चौंका दिया कि उसने 10 साल की बेटी के लिए कोई स्क्रीन टाइम नहीं रखा है. वो अपनी मर्जी के मुताबिक इसे देखने के लिए फ्री है. उन्होंने जो एक नियम उसके लिए लगा रखा है, वो ये है कि घर के किसी भी सदस्य के लिए स्लीपओवर नहीं है, वे सभी एक साथ सोते हैं. मां का कहना है कि वो इस तरह से अपने दिमाग से चलने और अपना मत रखने वाली बेटी की परवरिश कर रही हैं.

    ये भी पढ़ें – दुनिया की सबसे खतरनाक चिड़िया से हुआ शख्स का सामना, लात मारकर कर देती है बुरा हाल 

    इंटरनेट पर आ रहे हैं अलग-अलग रिएक्शन
    वो वीडियो क्लिप में खुद को क्रंची मदर (Crunchy Mother) कह रही है. ये टर्म उनके लिए इस्तेमाल किया जाता है, जो प्रकृतिवाद पर ज्यादा भरोसा करते हैं. इसमें बिना दवाओं के बच्चों को जन्म देना, जब तक बच्चा न छोड़े तब तक ब्रेस्टफीड कराना, एक साथ सोना, अटैचमेंट पैरेंटिंग और घर पर ही बच्चों को पढ़ाना शामिल होता है. इस वीडियो को अब तक 8 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है. लोग इस पर प्रतिक्रियाएं देते हुए लिख रहे हैं कि बच्ची को बेसिक शिक्षा ही नहीं मिल रही. एक अन्य यूज़र ने लिखा कि सर्वाइवल के लिए तैयार नहीं होगी. लोगों ने बच्ची के भविष्य को लेकर भी चिंता ज़ाहिर की है, जो आम ज़िंदगी से बिल्कुल दूर है.

    Tags: Bizarre story, Parenting tips, Viral news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर