Home /News /ajab-gajab /

ऐसा दिखता है एबॉर्शन के बाद गर्भ से निकला 2 महीने का भ्रूण, मां ने हथेली में रख फेसबुक पर डाली फोटो

ऐसा दिखता है एबॉर्शन के बाद गर्भ से निकला 2 महीने का भ्रूण, मां ने हथेली में रख फेसबुक पर डाली फोटो

फेसबुक पर महिला की दर्द भरी कहानी वायरल हो रही है

फेसबुक पर महिला की दर्द भरी कहानी वायरल हो रही है

यूके (United Kingdom) के इंग्लैंड (England) और वेल्स (Wales) में पिछले साल एबॉर्शन (Abortion) के सबसे ज्यादा मामले सामने आए. इस दौरान 2 लाख 10 हजार एबॉर्शन हुए. सोशल मीडिया पर कई महिलाओं ने अपने एबॉर्शन का दर्द शेयर किया. इसमें एक मां ने अपने गर्भ से निकले दो महीने के भ्रूण की तस्वीर शेयर की.

अधिक पढ़ें ...
    एबॉर्शन (Abortion) का दर्द हर महिला के लिए असहनीय होता है. कभी किसी दुर्घटना में तो कभी किसी अन्य परिस्थिति में महिला जब अपने बच्चे को खो देती है तब उस दर्द को सिर्फ वही समझ पाती है. लेकिन हर केस में ऐसा नहीं होता. हाल ही में कोरोना काल (Corona) में यूके ने रजिस्टर हुए एबॉर्शन के केस का आंकड़ा जारी किया. इसमें ये बात सामने आई कि एबॉर्शन करवाने वाली महिलाओं में अधिकांश की उम्र 35 के पार थी. जब इसकी वजह का पता लगाया गया तो सामने आया कि अपने करियर की ग्रोथ के लिए ये महिलाएं बच्चों को एबोर्ट (Abort) करवा लेती हैं.

    इस बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक (Facebook) पर एक पेज ने महिलाओं का एबॉर्शन से जुड़ा दुःख शेयर करने का मौका दिया. इस पेज पर कई महिलाओं ने अपने साथ घटी इस दुखद घटना का एक्सपीरियंस शेयर किया. गर्भ में अपने अजन्में बच्चे को खो देने का एक्सपीरियंस शेयर करने वाली ये कहानियां किसी का भी दिल छलनी कर देगी. अमेरिका की काइल मारी (Kaili Maarie) भी उन्हीं महिलाओं में से एक हैं जिन्होंने अपने दो महीने के बच्चे को खो दिया था.

    woman shares aborted baby photo of 8 weeks

    अपने एबॉर्शन की कहानी शेयर करते हुए काइली ने लिखा कि 1 जुलाई 2019 को उन्हें पता चला कि गर्भ में उनके 2 महीने 2 दिन के बच्चे की दिल की धड़कन रूक गई है. अल्ट्रासाउंड में उन्हें बच्चे की बॉडी और उसका सिर साफ़ दिखाई दे रहा था. लेकिन वो कोई मूवमेंट नहीं कर रहा था. इससे पहले उन्होंने इसी बच्चे को एक महीने पहले अल्ट्रासाउंड में देखा था. तब वो हिल रहा था. अब उसका शांत बदन देखना असहनीय था.

    इसके बाद काइली अपने पति के साथ अबॉर्शन के लिए हॉस्पिटल गई. वहां काइली ने डॉक्टर्स से रिक्वेस्ट करते हुए कहा कि उन्हें बच्चे की बॉडी चाहिए ताकि वो उसे दफना सके. काइली नहीं चाहती थी कि उसका अजन्मा बच्चा यूं ही टॉयलेट में गिर जाए या उसे हॉस्पिटल वाले फेंक दे. इस कारण अजन्में बच्चे सर्जरी के जरिये निकाल कर सुरक्षित रखा गया. काइली ने बताया कि जब नर्स ने उसके अजन्में बच्चे को उसके हाथ में दिया तो उसका दिल टूट गया था.

    इस बच्चे का मुंह पूरी तरह बन चुका था. इसकी आंखें, नाक, मुंह, हाथ, पैर सबकुछ था. साथ ही नाभि से एक छोटी सी नली भी जुडी हुई थी. काइली ने अपने बच्चे को हथेली पर रख इसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की. साथ ही लिखा कि ये कोई टिस्यू नहीं था. ये मेरा अंश था. जो अब जिंदा नहीं है. काइली ने अपने बच्चे को दफना कर उसे विदा किया. काइली ने उसका एवंगेलिने कैथरीन रखा था. उसे नहीं पता था कि ये लड़का था या लड़की? पर उसने लड़की मान उसका अंतिम संस्कार कर दिया था.

    Tags: Abortion, Abortion law

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर