Home /News /ajab-gajab /

130 बीवियों और 203 बच्चों का पिता था ये मौलाना, मरते-मरते भी कई पत्नियों को कर गया प्रेग्नेंट

130 बीवियों और 203 बच्चों का पिता था ये मौलाना, मरते-मरते भी कई पत्नियों को कर गया प्रेग्नेंट

मौलाना के मुताबिक़ खुदा ने उसे ख़ास मिशन के लिए भेजा था जिसके तहत उसे 100 से अधिक शादियां करनी थी

मौलाना के मुताबिक़ खुदा ने उसे ख़ास मिशन के लिए भेजा था जिसके तहत उसे 100 से अधिक शादियां करनी थी

इन दिनों साउथ अफ्रीका (South Africa) में एक साथ 10 बच्चे पैदा करने वाले कपल की काफी चर्चा हो रही है. इस कहानी में एक के बाद एक ट्विस्ट आता जा रहा है. लेकिन अगर आप 10 बच्चों के पैदा होने पर हैरान हैं तो आइये आपको बताते हैं उस मौलाना के बारे में, जिसने 203 बच्चों का पिता बनने का रिकॉर्ड बनाया था.

अधिक पढ़ें ...
    बच्चे किसी भी परिवार को मजबूत बनाने की कड़ी होते हैं. महंगाई के इस ज़माने में लोग एक से दो बच्चों में ही रुक जाते हैं लेकिन कुछ ऐसे लोग होते हैं जो बच्चों को खुदा का तोहफा मान बच्चे पैदा करते ही जाते हैं. सेंट्रल नाइजर स्टेट (Central Niger State) के मोहम्मद बेल्लो अबूबकर (Mohammed Bello Abubakar) ने कई शादियां और उनसे सैंकड़ों बच्चे पैदा कर चर्चा बटोरी. अबूबकर ने अपने जीते जी 130 शादियां की थी. इन पत्नियों से अबूबकर के 203 बच्चे हुए. लेकिन इनकी संख्या अबूबकर की मौत के बाद भी बढ़ी क्यूंकि मौत के समय भी उसकी कई पत्नियां प्रेग्नेंट थी.

    2017 में अबूबकर की मौत हो गई थी. अबूबकर ने अपनी लाइफ में 130 शादियां की थी. लेकिन इनमें से कुछ ने उन्हें तलाक दिया तो कुछ की मौत हो गई थी. मरते समय अबूबकर के साथ उसकी 86 बीवियां रहती थी. अबूबकर को अपनी 82 बीवियों को तलाक देने को कहा गया था. लेकिन अबूबकर ने ऐसा करने से साफ़ मना कर दिया. उसने अल्लाह का तोहफा बता सभी पत्नियों को साथ रखने का ऐलान किया था.

    अल्लाह देता था ताकत
    BBC को दिए इंटरव्यू में अबूबकर ने कहा था कि कई लोग 10 पत्नियों में ही परेशान हो जाते हैं. लेकिन उसने कहा कि उसे अल्लाह से शक्ति मिलती है जिसकी वजह से वो आराम से 86 बीवियों को कंट्रोल कर लेता है. अपनी जिंदगी अबूबकर ने 203 बच्चे पैदा किये. जब उसकी मौत हो गई तब भी उसकी कई बीवियां प्रेग्नेंट थी. इतनी बीवियों को और बच्चों को अबूबकर एक ही जगह पर रखते थे. बड़े से घर में सभी साथ रहते थे.

    अल्लाह का दूत मान करती थी शादियां
    इंटरव्यू में अबूबकर की पत्नियों ने कहा था कि वो पहले तो मौलाना के पास उपदेश लेने आई थी. फिर अबूबकर ने जब उन्हें शादी का इन्विटेशन दिया तब उन्होंने इसे खुदा का फरमान समझ कर मान लिया. बीच में उन्हें इतनी शादियां करने के लिए अरेस्ट कर लिया गया था. तब उसके पूरे परिवार ने उसे बेहतरीन पिता और पति बताकर उसका साथ दिया था. हालांकि मौत से पहले अबूबकर ने किसी और को 100 शादियां ना करने की सलाह दी थी. अबूबकर के मुताबिक़, अल्लाह ने सिर्फ उसे इस मिशन के लिए भेजा था.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर