मंगल पर मौजूद हैं एलियंस ! वैज्ञानिकों को अब हो गया है पक्का यकीन

मंगल ग्रह पर ऑर्गेनिक सॉल्ट मिलने के बाद बढ़ी जीवन की संभावना. (Photo Credit-NASA)

मंगल ग्रह पर ऑर्गेनिक सॉल्ट मिलने के बाद बढ़ी जीवन की संभावना. (Photo Credit-NASA)

MARS पर जीवन की संभावना को लेकर खोज कई सालों से चल रही है. वैज्ञानिकों ने इस लाल ग्रह (Possibility of Life on MARS) पर कई ऐसी चीज़ें खोज निकाली हैं, जो इस बात का संकेत दे रही हैं कि मंगल ग्रह (MARS) पर जीवन ज़रूर रहा होगा. इसके साथ ही यहां बसने की भी संभावनाओं को बल मिलने लगा है.

  • Share this:

NASA के वैज्ञानिकों को इस बात का पूरा यकीन हो गया है कि MARS पर एलियंस की मौजूदगी है. अंतरिक्ष के रहस्यमय लाल ग्रह पर पानी और बादल के बाद अब नमक भी मिला है. मई के अंत में वैज्ञानिकों को नमक मिलने के बाद उन्होंने ये मान लिया है कि मंगल पर जीवन ज़रूर मौजूद है. मंगल ग्रह पर मिला नमक जियोलॉजिकल प्रक्रिया का अंग है. ऐसे में यहां मिला ऑर्गेनिक सॉल्ट या नमक जीवाणुओं का निशान हो सकता है. ये नमक मंगल पर कभी मौजूद रहे ऑर्गेनिक कंपाउंड्स के हिस्से हैं, जिन्हें NASA का क्यूरियॉसिटी रोवर ( Curiosity Rover) पहले खोज चुका है.

NASA की खोज के बाद इस बात की संभावना बढ़ गई है कि लाल ग्रह पर जीवन संभव है. धरती पर ऐसा जीवन देखा गया है जो ऑर्गैनिक नमक, ऑग्जलेट (oxalates) और एसेटेट (acetate) पर निर्भर होता है। मंगल पर खोज के लिए ऑर्गैनिक मॉलिक्यूल मिलने NASA के लिए अहम है लेकिन यह चुनौतीपूर्ण है. रिसर्चर्स की ये नई खोज जर्नल ऑफ जियोफिजिकल रिसर्च में प्रकाशित हुई है.

Youtube Video

मंगल पर ज़रूर रहा है जीवन
शोध की टीम में शामिल जेम्स लेविस (James Lewis) बताते हैं कि अगर मंगल ग्रह ऑर्गेनिक सॉल्ट मिला है तो हमें उन जगहों पर और खोज करनी है, जहां नमक दिखा हो. इन जगहों पर ड्रिल करके खोज की जाएगी. इस तरह से हम अरबों साल पहले की ऑर्गेनिक कैमिस्ट्री का पता लगा सकेंगे. इस बात का भी सबूत मिल जाएगा कि यहां पहले भी जीवन रहा है. मंगल पर जीवन रहा होगा तो यहां मिलने वाले ऑर्गेनिक कंपाउंड्स पर उन एलियंस के फिंगरप्रिंट्स भी मिलेंगे.

वे आगे कहते हैं कि 'अगर हम मंगल पर सतह के नीचे ड्रिल कर सकते हैं, जहां ऑर्गैनिक मैटर सुरक्षित मिल सकता है.' लेविस के लैब एक्सपेरिमेंट और Curiosity में लगे पोर्टबल लैब (Sample Analysis at Mars, SAM) से मिले डेटा के आधार पर इस क्षेत्र में रिसर्च बढ़ाया जा सकता है.

2018 में मार्स पर मिला था कार्बन



साल 2018 में नासा के क्यूरियॉसिटी रोवर (NASA's Curiosity rover) को ऐसे ऑर्गेनिक कंपाउंड्स मार्स पर मिले थे, जिनमें कार्बन था. तभी इस बात को बल मिला था कि मार्स पर जीवन संभव है. चूंकि यहां मिलने वाले कंपाउंड्स आकार में छोटे होते हैं, ऐसे में रिसर्च में समय भी लग रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज