• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • सिर्फ खांसी की आवाज सुन बीमारी बता देगा App, खत्म हो जाएगी डॉक्टर के पास जाने की झंझट

सिर्फ खांसी की आवाज सुन बीमारी बता देगा App, खत्म हो जाएगी डॉक्टर के पास जाने की झंझट

रिसर्चर्स इस एप में लाखों लोगों के खांसने की आवाज फीड कर रहे हैं (इमेज- सांकेतिक)

रिसर्चर्स इस एप में लाखों लोगों के खांसने की आवाज फीड कर रहे हैं (इमेज- सांकेतिक)

द वॉल स्ट्रीट जर्नल (The Street Wall Journal) में छपी खबर पर विश्वास करें, तो जल्द ही एक ऐसा एप आने वाला है, जिसके बाद आपको डॉक्टर्स के पास जाकर अपनी बीमारी का पता करने की जरुरत नहीं पड़ेगी. इस एप को डाउनलोड कर सिर्फ आपको खांसना होगा (App Diagnose Disease With Cough).

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    दुनिया में हर दिन तकनीक के क्षेत्र में उन्नति हो रही है. हर दिन कोई ऐसी चीज बनाई जा रही है, जिसके बारे में कभी कल्पना भी नहीं की गई थी. हाल ही में द वॉल स्ट्रीट जर्नल (The Street Wall Journal) ने एक खबर से सनसनी मचा दी. इस न्यूज के मुताबिक़, साइंटिस्ट्स एक ऐसा एप बना रहे हैं, जिसमें मात्र खांसने की आवाज (App Diagnose Disease With Cough) से आपको आपकी बीमारी का पता चल जाएगा. इसके लिए रिसर्चर्स लाखों खांसी की आवाज रिकॉर्ड कर रहे हैं. इस एप का निर्माण Hyfe Inc नाम की डेलवारे कंपनी कर रही है.

    कंपनी खांसी की आवाज को आर्टिफिशियल ट्रेनिंग (Artificial Training) के जरिये एप में फीड कर रही है. इससे भविष्य में अगर किसी इंसान को अस्थमा, निमोनिया, सांस की बीमारी, यहां तक कि कोविड भी हो जाए, तो एप में खांसकर इसका पता लग जाएगा कि सामने वाले को कौन सी बीमारी है? लोग इस एप के बारे में काफी एक्साइटेड हैं. हो भी क्यों ना. आखिर स्मार्टफोन सबके पास है और सिर्फ इस एप को डाउनलोड कर आपको आपकी बीमारी का पता चल जाएगा.

    खांसी से ऐसा है कनेक्शन
    इंसान को खांसी तब आती है जब उसकी स्वांस नली में कोई चीज फंसती है. ऐसे में दिमाग को बॉडी मैसेज भेजती है. इस सिग्नल के रिस्पॉन्स में दिमाग चेस्ट और पेट को सिग्नल भेज उस चीज को बॉडी से बाहर फेंकने के लिए कहती है. जब हम प्रेशर के साथ खांसते हैं, तब वो हमारे मुंह से बाहर की तरफ आ जाती है. Hyfe Inc के टीबी एक्सपर्ट डॉ पीटर स्माल ने बताया कि तरह-तरह की बीमारी में खांसने की आवाज अलग होती है. ऐसे में एप को इन्ही अंतरों को पकड़ना सिखाया जा रहा है.

    डॉक्टर्स से भी सटीक मिलेगा जवाब
    डॉ पीटर स्माल ने एप के बारे में अधिक जानकारी देते हुए बताया कि डॉक्टर्स आपकी खांसी से एक बार में बीमारी डिटेक्ट नहीं कर पाते हैं. पेशेंट्स को कई टेस्ट करवाने पड़ते हैं. उसके बाद ही जाकर सटीक जानकारी मिल पाती है. लेकिन हम इस एप में लाखों खांसने के पैटर्न फीड करेंगे. ऐसे में जैसे ही आप इस एप पर खांसने की आवाज भेजेंगे, वो आपकी आवाज के पैटर्न में फीड की गई खांसी से मैच कर तुरंत आपको बता देगा कि आपको कौन सी बीमारी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज