• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • कभी नहीं मिलती थी दो वक्त की रोटी भी, साग-भात खाकर अब लाखों कमा रहा है मजदूर

कभी नहीं मिलती थी दो वक्त की रोटी भी, साग-भात खाकर अब लाखों कमा रहा है मजदूर

Isak Munda Eating अब Youtube का जाना-माना चैनल है. (Photo Credit- YouTube)

Isak Munda Eating अब Youtube का जाना-माना चैनल है. (Photo Credit- YouTube)

इसाक मुंडा (Isak Munda) के घर खाने को रोटी भी नहीं थी, ऐसे में उबले चावल और साग खाते (Isak Munda Eating Youtube) हुए उसने अपना वीडियो यूट्यूब (Labourer Eating Viral Video) पर डाला और वो रातोंरात हिट हो गया.

  • Share this:
    जिस आदमी के घर में बीवी-बच्चों का पेट भरने को रोटी नहीं थी. उसे एक दिन फूड ब्लॉगर (Isak Munda Eating Youtube) बनने का ख्याल आया. मज़ेदार बात तो ये रही कि शायद वो फूड ब्लॉगिंग का मतलब भी न जानता हो, लेकिन आज उसका यूट्यूब चैनल हिट है. आपको यकीन नहीं होगा लेकिन लाखों लोग ओडिशा के एक दिहाड़ी मजदूर (Labourer Eating Viral Video) के फैन हैं.

    सोशल मीडिया (Social Media Sensation) से आपने तमाम लोगों की किस्मत बदलते हुए देखी होगी. ओडिशा के इसाक मुंडा (Isak Munda Eating Youtube) की भी कहानी इन्हीं में से एक है. संबलपुर जिले के एक आदिवासी इलाके में इसाक मुंडा रहते हैं . यूं तो ये दिहाड़ी मजदूरी करते थे, लेकिन कोरोना में काम छूट जाने की वजह से इन्होंने पिछले साल अपनी रोज़ाना की ज़िंदगी से जुड़े हुए कुछ वीडियो इंटरनेट पर पोस्ट क्या किए, इनकी तकदीर ने पलटी खाई और अब इसाक (Labourer Eating Viral Video) लाखों कमाते हैं.

    YouTube ने बदल दी ज़िंदगी
    Isak Munda इस वक्त इंटरनेट की दुनिया में ठीक-ठाक पहचान रखते हैं. हालांकि पिछले साल तक ऐसा कुछ नहीं था. उनके हालात ये थे कि काम छूटने के बाद खाने को घर में रोटी भी नहीं थी. इसी बीच उन्होंने फूड ब्लॉगर्स के कुछ वीडियो देखे और अपना वीडियो शूट करने का फैसला किया. अब पैसे नहीं होने की वजह से उन्हें 3000 रुपये का कर्ज लेकर एक स्मार्टफोन खरीदना पड़ा. फोन हाथ में आया तो उन्होंने अपना पहला वीडियो शूट किया. इस वीडियो में 35 साल के इसान मुंडा उबले हुए चावल और साग के साथ मिर्ची और टमाटर खाते हुए दिख रहे हैं. वीडियो में इसाक महज 17 निवाले में चावल से भरपूर अपनी थाली को खत्म कर देते हैं. उनका ये वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिट हो गया.



    यूं तो इस वीडियो में खास कुछ भी नहीं था, सिवाय इसाक मुंडा के खाने के देसी स्टाइल के. लेकिन लोगों को उनका ये ठेठ अंदाज़ भा गया. इसाक मुंडा को खुद 3000 रुपये की ये अहमियत नहीं पता थी. वे बताते हैं कि अब वे अपने गांव और यहां के जीवन के बारे में वीडियो पोस्ट करते हैं. वे क्या खाते हैं? कैसे रहते हैं? लोग ये सब कुछ देखने में दिलचस्पी लेते हैं. इसाक मुंडा के चैनक Isak Muda Eating को खूब पसंद किया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें- अब चीन की हर मां के पेट से पैदा होगा सिर्फ जांबाज सैनिक, साइंटिस्ट गर्भ में बदल देंगे डरपोक बच्चे का DNA 

    7 लाख सब्सक्राइबर्स
    आप इस शख्स की पॉप्युलैरिटी का अंदाज़ा इसीसे लगा सकते हैं कि साल भर के अंदर ही उनके YouTube चैनल को 7 लाख से ज्यादा लोग सब्सक्राइब कर चुके हैं. वे खुद भी इस बात से काफी खुश हैं. उन्हें अगस्त 2020 में अपने इस चैनल के ज़रिये 5 लाख की आमदनी हुई. उन्होंने इसके जरिये अपना घर बनाया और ज़रूरत का सामान खरीदा. इसाक अब दिहाड़ी मजदूरी भी नहीं करते, बल्कि अपने गांव और समुदाय की खाटी परंपराओं को वीडियो के ज़रिये दुनिया को दिखाते हैं. उनके दिखाए गए स्थानीय व्यंजन और लोगों के रहने का अंदाज़ सभी को पसंद आता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज