होम /न्यूज /अजब गजब /चटोरे कैदियों ने जेलकर्मियों के गले पर रखा चाकू, जान बख्शने के बदले मांगे 20 कबाब शॉप Pizza

चटोरे कैदियों ने जेलकर्मियों के गले पर रखा चाकू, जान बख्शने के बदले मांगे 20 कबाब शॉप Pizza

पिज्ज़ा के शौकीन कैदियों ने जेलकर्मियों को बंधक बनाकर 20 पिज्ज़ा की डिमांड रखी.

पिज्ज़ा के शौकीन कैदियों ने जेलकर्मियों को बंधक बनाकर 20 पिज्ज़ा की डिमांड रखी.

जेल में बंद दोनों हत्यारों (Pizza lover killers) ने हाई सिक्योरिटी जेल (High Security Jail) के दो अधिकारियों को बंधक बन ...अधिक पढ़ें

    कई बार ऐसी-ऐसी घटनाएं सामने आती हैं, जिसे सुनकर हंसी भी आ जाए और खौफ भी पैदा हो जाए. ऐसी ही घटना स्वीडेन (Sweden) की एक जेल में हुई. यहां पर बंद दो कैदियों (Prisons Demanded Pizza) ने जेल के ही अफसरों को बंधक बना लिया. दिलचस्प बात तो ये रही कि जेलकर्मियों को छोड़ने के बदले इन हत्या के आरोपियों ने 20 कबाब शॉप पिज्ज़ा की मांग की.

    ये घटना स्वीडेन (Sweden) की एक हाई सिक्योरिटी जेल (High Security Jail) की है. यहां पर बंद दो कैदियों ने जेल के ही दो अधिकारियों के गले पर उस्तरा या चाकू जैसी धारदार चीज़ रखी और उन्हें बंधक बना लिया. ये ड्रामा काफी देर तक चला. कैदी तब तक गले पर चाकू रखे बैठे रहे, जब तक कि पिज्ज़ा का ऑर्डर (Pizza Order) नहीं दे दिया गया. ये घटना Stockholm से 75 मील की दूरी पर Hällby jail में हुई.

    जान बख्शने के बदले मांगा Pizza
    30 साल के Isak Dewit और 24 साल के Haned Mahamed Abdullahi ने गार्ड रूम में जाकर दो लोगों को बंधक बना लिया. इन दोनों जेल अधिकारियों के गले पर चाकू रखकर कैदियों ने 20 कबाब शॉप पिज्ज़ा की मांग की. ये 20 पिज्ज़ा उनके साथ उनकी सेल में बंद सभी कैदियों के लिए थे. हालांकि इन कैदियों का इरादा सिर्फ पिज्ज़ा खाने का नहीं था, उन्होंने अपने लिए एक हेलिकॉप्टर की भी मांग कर डाली थी. उन्होंने जेल के सीसीटीवी कैमरा को खराब कर दिया था. हालात काफी खतरनाक बन चुके थे.

    ये भी पढ़ें- OMG: अपनी जांघों से 1 सेकंड में तोड़ देती है तरबूज, मसल्स देखकर शरमा जाए कोई भी मर्द! 

    पुलिस कार में लाया गया Pizza
    ये दोनों ही कैदी हत्या के आरोप में स्वीडेन की जेल में थे. उनके साथ जेल की सेल में बंद बाकी कैदी भी गंभीर अपराधों में ही यहां बंद हैं. उनकी ओर से उठाए गए इस कदम को देखते हुए स्वीडिश जेल और प्रोविज़न सर्विस के अधिकारियों ने कैदियों से नेगोशिएट करने की कोशिश की. पुलिस और टास्क फोर्स को भी जल्दी ही साइट पर बुलाया गया. स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हत्यारों के कहने पर नज़दीकी दुकान में पिज्ज़ा बनवाए भी जाने लगे और इन्हें एक पुलिस कार में लोड कर जेल तक लाया गया. इसका मतलब ये है कि अधिकारियों ने कैदियों से बातचीत करने में सफलता हासिल की.

    Tags: Police officers, Prisoners, World news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें