होम /न्यूज /अजब गजब /

बेटी ने पूरा किया डॉक्ट्रेट, तो मां ने खुशी में लगवा दिए चौराहे पर बधाई के पोस्टर !

बेटी ने पूरा किया डॉक्ट्रेट, तो मां ने खुशी में लगवा दिए चौराहे पर बधाई के पोस्टर !

केंड्रा बसबी (Kendra Busbee) ने अपनी बेटी के डॉक्ट्रेट पूरा करने की खुशी में चौराहे पर बधाई देने वाली होर्डिंग लगवा दी. (Credit- Twitter)

केंड्रा बसबी (Kendra Busbee) ने अपनी बेटी के डॉक्ट्रेट पूरा करने की खुशी में चौराहे पर बधाई देने वाली होर्डिंग लगवा दी. (Credit- Twitter)

Mother Rents Hoarding to Congratulate Daughter : न्यू जर्सी में रहने वाली 52 साल की केंड्रा बसबी (Kendra Busbee) ने अपनी बेटी के डॉक्ट्रेट पूरा करने की खुशी में चौराहे पर बधाई देने वाली होर्डिंग लगवा दी.

हर माता-पिता के लिए सबसे ज्यादा खुशी का पल होता है, उसकी औलाद का उनसे ज्यादा उपलब्धि हासिल करना. इसके बाद वो खुशी से फूले नहीं समाते और इसे पूरी दुनिया के सामने बताना चाहते हैं. एक ऐसी ही अमेरिकन मां ने अपनी बेटी के डॉक्ट्रेट (Mother Rents Hoarding to Congratulate Daughter) पूरा करने की खुशी में इसे परिवार और रिश्तेदारों तक सीमित नहीं रखा, बल्कि एक बार में ही पूरे शहर को बता दिया. उन्होंने इसके लिए जो आइडिया लगाया, वो बेहतरीन है.

न्यू जर्सी में रहने वाली 52 साल की केंड्रा बसबी ने अपनी बेटी के डॉक्ट्रेटपूरा करने की खुशी में चौराहे पर बधाई देने वाली होर्डिंग लगवा दी. उनकी बेटी क्रिस्टीन स्मॉल्स ( Kristine Smalls) ने अपनी डॉक्ट्रेट की डिग्री पूरी की है और मां उनकी इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं. आमतौर लोग ऐसे अचीवमेंट की खुशी में पार्टी करते हैं, लेकिन केंड्रा ने इसे सेलिब्रेट करने के लिए चौराहे पर बड़ी सी होर्टिंग लगवा दी.

1 लाख रुपये खर्च कर लगवाई होर्डिंग
केंड्रा बसबी (Kendra Busbee) की बेटी क्रिस्टीन स्मॉल्स ( Kristine Smalls) ने Philadelphia College of Osteopathic Medicine से मनोविज्ञान में पीएचडी की उपाधि हासिल की है. मां ने बेटी की इस उपलब्धि से खुश होकर उसे बधाई देने के लिए $1,250 यानि भारतीय मुद्रा में 98 हज़ार 958 रुपये खर्च करके एक होर्डिंग किराये पर ली और उसे न्यूजर्सी के सबसे व्यस्त इलाके में लगवा दिया. रूट नंबर 130 पर क्रिस्टीन की मुस्कुराती हुई पिक्चर के साथ उसका नया परिचय डॉक्टर क्रिस्टीन स्मॉल्स के तौर पर लिखा गया है.

5 साल की उम्र से था यही सपना
WPVI-TV से बात करते हुए केंड्रा ने बताया कि क्रिस्टीन का बचपन से ही यही सपना था कि वो बड़ी होकर डॉक्टर बने. वे इस होर्डिंग के ज़रिये जइलाके के बाकी यंगस्टर्स को प्रेरित करना चाहती हैं. वहीं बेटी क्रिस्टीन ने Philadelphia Inquirer से बात करते हुए कहा कि उनकी मां अपने बच्चों के लिए हमेशा बहुत ज्यादा उत्साहित रहती हैं. हालांकि कुछ ऐसे भी माता-पिता हैं, जो बच्चों की उपलब्धियों को हल्के में लेते हैं. हाल ही में BlueLearn के को-फाउंडर ने बताया था कि उन्होंने अपने पिता को खुद के फोर्ब्स 30 अंडर 30 की लिस्ट में जगह बनाने के बारे में बताया, जिस पर पिता ने सिर्फ व्हाटऐप चैट पर थम्ब्स अप का इमोजी दिया था.

Tags: Viral news, Viral on Internet, Weird news

अगली ख़बर