कांग्रेस के मंत्री का वीडियो वायरल, सिक्का उछालकर किया नौकरी का फैसला

चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने महकमे में नौकरी पाने वाले युवाओं को स्टेशन पोस्टिंग देने के लिए टॉस का सहारा लिया.

News18Hindi
Updated: February 13, 2018, 4:37 PM IST
कांग्रेस के मंत्री का वीडियो वायरल, सिक्का उछालकर किया नौकरी का फैसला
टॉस करते चरणजीत सिंह चन्नी
News18Hindi
Updated: February 13, 2018, 4:37 PM IST
पंजाब सरकार में तकनीकी शिक्षा मंत्री, चरणजीत सिंह चन्नी का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है, जिसमें वो दफ्तर में सिक्का उछाल रहे हैं. आरोप है कि चरनजीत सिंह ने पोस्टिंग के फैसले के लिए मेरिट की जगह टॉस का सहारा लिया.

चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने महकमे में नौकरी पाने वाले युवाओं को स्टेशन पोस्टिंग देने के लिए  टॉस का सहारा लिया.

दरअसल पिछले दिनों PPSC के अंतर्गत सेलेक्ट हुए मैकेनिकल लेक्चरर्स को स्टेशन अलॉट किए जाने थे, इसके लिए पंजाब के तकनीकी शिक्षा मंत्री, चरणजीत चन्नी ने करीब 37 लेक्चरर्स को अपने चंडीगड़ कार्यालय में बुलाया था.

यहां उन्हें अपनी मर्जी के मुताबिक खाली पड़े स्टेशन पर पोस्टिंग का ऑफर दिया गया. लेकिन, बरेटा के पॉलिटेक्निकल कालेज की एक पोस्ट के लिए दो लोगों ने अपना नाम दे दिया, ऐसे में मंत्री जी ने उन्हें मेरिट के आधार पर पोस्टिंग देने की जगह टॉस करके स्टेशन अलॉट किया.

क्या बोले मंत्री?
इस मामले में सफाई देते हुए पंजाब के मंत्री ने कहा कि पहले भर्ती के लिए सीटों की बिक्री होती थी. मैंने इस नेक्सस को तोड़ा और 37 उम्मीदवारों को बुलाकर उनकी पसंद की जगह पर पोस्टिंग दे दी. बराबर मेरिट वाले दो लड़के एक ही जगह पर पोस्टिंग चाहते थे. ऐसे में उन्होंने टॉस करने का प्रस्ताव दिया.

बीजेपी ने साधा कांग्रेस सरकार पर निशाना
इस मामले को लेकर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने पंजाब की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा है. हरसिमरत ने कहा कि यह बताता है कि अमरिंदर सिंह कैबिनेट के मंत्रियों का स्तर कैसा है. लोगों को उन्हें सत्ता से हटा देना चाहिए. भर्ती के लिए और भी कई तरीके हैं लेकिन उन्होंने सिक्का उछाल कर फैसला कर लिया.

चरणजीत सिंह चन्नी पहले भी विवादों में रहे हैं. कभी अपने घर के सामने गैरकानूनी तरीके से रास्ता बनवाने, तो कभी हाथी की सवारी करने को लेकर मजाक का पात्र बनने वाले मंत्री जी अब टॉस कर स्टेशन अलॉट करने को लेकर फिर चर्चा में हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर