Home /News /ajab-gajab /

'मोगली गर्ल' ने 12 दिन खूंखार जानवरों के बीच बिताए, 7 साल बाद भी याद है खौफनाक कहानी

'मोगली गर्ल' ने 12 दिन खूंखार जानवरों के बीच बिताए, 7 साल बाद भी याद है खौफनाक कहानी

करीना चिकितोवा (Karina Chikitova) ने बेहद छोटी उम्र में मौत से आंखमिचौली (4 year old girl survived in forest) खेलकर अपनी जान बचाई. (Credit-  Sakha Republic Rescue Service)

करीना चिकितोवा (Karina Chikitova) ने बेहद छोटी उम्र में मौत से आंखमिचौली (4 year old girl survived in forest) खेलकर अपनी जान बचाई. (Credit- Sakha Republic Rescue Service)

Real life Mowgli Girl : जाको राखे साइयां, मार सके ना कोय. वाकई जिसकी मौत नहीं लिखी है, वो खूंखार जंगली जानवरों (12 Days Living With Wild Animals) के चंगुल से बचकर भी ज़िंदा रह सकता है. 11 साल की करीना चिकितोवा (Karina Chikitova) की कहानी भी इसी कहावत के इर्द-गिर्द घूमती है. उसने जिस तरह बेहद छोटी उम्र में मौत से आंखमिचौली (4 year old girl survived in forest) खेलकर अपनी जान बचा ली, वो दुनिया में हर किसी को दंग कर देने वाली कहानी (Horror Stories of Forest) थी. 2 हफ्ते तक जंगली जानवरों के बीच रहकर करीना ने जब वापसी की तो उसके परिवार समेत रेस्क्यू दल भी हैरान था.

अधिक पढ़ें ...

    किसी जंगल में अकेले सर्वाइव (Survivor in a Jungle) करना आसान बात नहीं है. करीना चिकितोवा (Karina Chikitova) नाम की बच्ची ने जब साइबेरियन जंगल में 12 दिन अकेले गुजारे और फिर वापस आई तो वो दुनिया भर में सुर्खियां बन चुकी थी. एक बार फिर 11 साल की चिकितोवा चर्चा में हैं क्योंकि उसने याकुत बैले स्कूल (Yakut Ballet School) में आगे की पढ़ाई के लिए एडमिशन पा लिया है.

    करीना चिकितोवा (Karina Chikitova) को रियल लाइफ मोगली गर्ल कहा जाता है क्योंकि जब वो जंगलों में खोई थी, तब उसकी उम्र महज 4 साल थी. उसके परिवार को भी उसके बचने की आस नहीं थी. जंगल में खूंखार जंगली जानवरों के बीच रहते हुए बच्ची ने 12 दिन गुजार दिए और जब वो परिवार से वापस मिली, तो उसे मोगली गर्ल का नाम दे दिया गया.

    कुत्ते के बिस्तर पर सोती थी बच्ची
    Daily Star की रिपोर्ट के मुताबिक चिकितोवा साल 2014 में साइबेरियन जंगलों में खो गई थी. जब वो गुम हुई तो उसके साथ एक पालतू कुत्ता भी था. बच्ची जंगल में कुत्ते के साथ ही घास के बिस्तर पर सो जाती थी और भूख लगने पर जंगली जामुन खाती थी. बच्ची को ढूंढने में उसके माता-पिता और रेस्क्यू दल के सदस्य 12 दिन तक लगे रहे. उन्हें लगने लगा था कि खतरनाक जंगल में इतने दिन में तो बच्ची को किसी जंगली जानवर ने खा लिया होगा.

    ये भी देखें- Shocking : छोटा सा मुंह फैलाकर सांप ने निगल लिया विशाल अंडा, रोंगटे खड़े कर देगा Video

    इस हाल में मिली थी चिकितोवा
    बच्ची को ढूंढने में लगी टीम के सदस्य अर्टो बोरिसोव ने बताया कि जब बच्ची मिली तो वो घास में बैठी हुी थी. चुपचाप बैठी बच्ची को लंबी घास के बीच देखना भी मुश्किल था. हालांकि उसने खुद ही उनकी तरफ देखकर अपनी बाहें फैलाई और कुछ खाने के लिए मांगा. बच्ची डरी हुई थी और उसे मच्छरों ने काट रखा था. बच्ची का वज़न भी कम हो चुका था और वो रो रही थी. जब उसकी कहानी दुनिया के सामने आई तो लोगों ने उसे मोगली कहा. अब चिकितोवा 11 साल की हो चुकी है और वो बड़ी होकर एक्ट्रेस बनना चाहती है.

    Tags: Interesting news, Viral news, Wildlife news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर