ग्रीन टी या कॉफी पीने वालों के लिए 60 फीसदी तक कम हो जाएगा इस बात का खतरा, स्टडी में दावा

शोध में ग्रीट टी और कॉफी को लेकर किया गया दावा

शोध में ग्रीट टी और कॉफी को लेकर किया गया दावा

ओसाका विश्वविद्यालय (Osaka University) के शोधकर्ताओं ने इस बारे में पता लगाया है. उन्होंने 40 से 79 साल के 46000 लोगों पर ये शोध किया. ये सारे लोग जापान कोलैबोरेटिव कोहर्ट स्टडी का हिस्सा थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 6:17 PM IST
  • Share this:
शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि अगर रोज एक कप कॉफी (Coffee) या ग्रीन टी (Green Tea) पिया जाए तो हार्ट अटैक (Heart Attack) से मरने का खतरा 60 फीसदी तक कम हो जाता है. जिन लोगों को पहले भी कभी दिल का दौरा पड़ा है उनके लिए भी ग्रीन टी या कॉफी पीना बहुत अच्छा साबित हो सकता है क्योंकि ये उन्हें भी फायदा करेगा.

ओसाका विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इस बारे में पता लगाया है. उन्होंने 40 से 79 साल के 46000 लोगों पर ये शोध किया. ये सारे लोग जापान कोलैबोरेटिव कोहर्ट स्टडी का हिस्सा थे. वालंटियरों को लाइफस्टाइल, मेडिकल हिस्ट्री और डाइट से जुड़ा प्रश्न पत्र भरवाए गए थे. इस प्रश्नपत्र में चाय और कॉफी के सेवन से जुड़े भी सवाल थे.

जब शोधकर्ताओं ने उन लोगों से तुलना की जो कभी-कभी ग्रीट टी या कॉफी पीते हैं तो शोध में ये पाया गया कि जो लोग रोज ग्रीन टी पीते हैं उनका हार्ट अटैक से मरने का खतरा 60 फीसदी तक कम हो जाता है. इसमें वो लोग भी शामिल हैं जिनको पहले कभी हार्ट अटैक आया था और वो रोज ग्रीन टी पीते हैं.

इस शोध में रोज कॉफी पीने वालों पर भी खुलासा हुआ है. रिसर्च में पाया गया कि जो लोग रोज कॉफी पीते हैं उनमें हार्ट अटैक से मरने का खतरा 22 फीसदी तक कम हो जाता है. रिसर्च करने वाले वैज्ञानिक हीरोयासू ने कहा कि ये ऑब्जर्वेशनल रिसर्च है इसलिए इससे ये नहीं पता चल पाया है कि ग्रीन टी पीने से क्यों खतरा कम होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज