लाइव टीवी

जेल में एक महीने में 62 बीयर पी जाता था हिटलर!


Updated: December 24, 2015, 10:35 AM IST
जेल में एक महीने में 62 बीयर पी जाता था हिटलर!
इतिहासकार पीटर फ्लेश्चमैन ने खुलासा किया है कि हिटलर जेल में बंद रहने के दौरान वीआईपी ट्रीटमेंट पाता था।

इतिहासकार पीटर फ्लेश्चमैन ने खुलासा किया है कि हिटलर जेल में बंद रहने के दौरान वीआईपी ट्रीटमेंट पाता था।

  • Share this:
बर्लिन। अभी तक हमें ये पता है कि हिटलर सत्ता में आने से पहले जिस समय जेल में बंद था, उसके साथ बुरा व्यवहार होता था। ये वो समय था, जब उसने मीन कैंफ नाम से अपनी आत्मकथा लिखी थी। पर इतिहासकार पीटर फ्लेश्चमैन ने खुलासा किया है कि हिटलर जेल में बंद रहने के दौरान वीआईपी ट्रीटमेंट पाता था। यही नहीं, वो माह में 62 बीयर की बोतलों का ऑर्डर देता था, तो हर रोज उससे मिलने कम से कम एक व्यक्ति आता था।

राजनीतिक बंदी के दौरान हिटलर और उसके नाजी साथी जेल में अच्छी सुविधाएं पा रहे थे। अधिकारी उसके साथ अदब से पेश आते थे, जबकि उसके साथ ही जेल में बंद कम्युनिस्टों को घास भी नहीं डालते थे। ये 1920 का दशक था। जब वर्साय की संधियों का विरोध करने के बाद हिटलर का उफान हुआ था  और वो जर्मनी में सनसनी बनकर उभरा था। उसकी नाजी पार्टी के समर्थकों की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही थी।

यही नहीं, सरकारी अधिकारी और पुलिसवाले भी उसके प्रति सहानुभूति भरा अच्छा व्यवहार करते थे। इतिहासकार पीटर फ्लेश्चमैन का दावा है कि वो हर महीने 62 बीयर की बोतलें पीता था। ऐसा पहला ऑर्डर जेल में रहने के दौरान उसने जुलाई 1924 में दिया था, पर उसके बाद से हर माह उसके लिए इतना बीयर आता था। यही नहीं, उससे हर समय कोई न कोई मिलने आता था। और अधिकारी उसे तंग करने की जगह लोगों से उसे मिलाते थे। क्योंकि वो उसके विचारों से प्रभावित होते थे।

हिटलर सन 1923 में लैंड्सबर्ग की जेल में बंद किया गया था। यहां उसके साथियों को भी रखा गया। उसी जेल में जर्मनी के साम्यवादी विरोधियों को भी रखा गया था। पर 20 दिसंबर 1924 को उसके अच्छे व्यवहार के लिए उसे रिहा कर दिया गया था। जबकि उसे राष्ट्रविरोधी गतिविधियों की वजह से 10 साल के जेल की सजा हुई थी।



 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए OMG से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2015, 10:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर