पहली बार सऊदी अरब ने जारी की मक्का के काले पत्थर की Photos, 50 घंटे में कैद की गई ये अद्भुत तस्वीरें

इन दो तस्वीरों को जारी करने से पहले 1 हजार 50 फोटोज खींची गई थी.

इन दो तस्वीरों को जारी करने से पहले 1 हजार 50 फोटोज खींची गई थी.

सोशल मीडिया पर मक्का (Mecca) के काबा (Kaaba) में मौजूद प्राचीन काले पत्थर (Black Stone) की तस्वीर शेयर की जा रही है. इस तस्वीर को सऊदी अरब सरकार ने जारी किया है. पहली बार इस पत्थर की इतनी साफ़ फोटो सामने आई है.

  • Share this:

सऊदी अरब सरकार ने पहली बार मक्का के काबा में बने प्राचीन काले पत्थर की तस्वीर जारी की है. अभी तक इस पत्थर की इतनी साफ़ हाई रिजोल्यूशन (High Resolution) की तस्वीर कभी देखने को नहीं मिली थी. तस्वीरों को जनरल प्रेसिडेंसी फॉर द अफेयर्स ऑफ सऊदी ग्रैंड मॉस्क्यू (General Presidency for the Affairs of the Saudi Grand Mosque) ने जारी किया. इस पत्थर को अल हजर अल अस्वाद (al-Hajar al-Aswad) के नाम से जाना जाता है. इन तस्वीरों को खींचने में 50 घंटे का समय लगा. इन दो तस्वीरों को जारी करने से पहले 1 हजार 50 फोटोज खींची गई थी. हर दिन 7 घंटे की फोटोग्राफी के बाद इन दो तस्वीरों का चुनाव हुआ.

आदम और ईव के जमाने का है पत्थर

इस्लाम के अनुसार ये काला पत्थर आदम और ईव (Adam-Eve) के समय का है. इसे मक्का के काबा में स्थित ग्रैंड मॉस्क्यू के बीचों-बीच रखा गया है. मान्यताओं के मुताबिक, इस पत्थर को मस्जिद में प्रोफेट मोहम्मद ने 605 CE में रखा था. इतने समय में ये पत्थर कई टुकड़ों में बंट गया है, जिसे सिल्वर फ्रेम से जोड़ा गया है. CNN के मुताबिक, पत्थर की ये नई तस्वीरें ख़ास तकनीक फोकस स्टैकिंग कहते हैं, से ली गई है.

बेहद नजदीक से दिखता है भूरा
यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड के इस्लामिक स्टडीज के स्टूडेंट अफीफी अल अकीती ने तस्वीरों को लेकर कहा कि अभी के मुश्किल दौर में इन तस्वीरों को देखना अद्भुत है. नजदीक से काला पत्थर भूरा नजर आता है. 50 घंटे की मेहनत से क्लिक ये तस्वीरें बेहद आकर्षक हैं. जो पत्थर वैसे काला नजर आता है, असल में भूरा है. काले पत्थर की ये डिजिटल आकृति लोगों का ध्यान खींच रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज