• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • सावधान: प्रदूषण की वजह से भी फैलता है कोरोना... डराने वाला है रिसर्च में हुआ सनसनीखेज खुलासा

सावधान: प्रदूषण की वजह से भी फैलता है कोरोना... डराने वाला है रिसर्च में हुआ सनसनीखेज खुलासा

Coronavirus को Air pollution से और भी बल मिलता है, ऐसा वैज्ञानिकों की नई रिसर्च में कहा गया है.

वैज्ञानिकों को अपनी रिसर्च (New Research on Coronavirus) में ये तथ्य देखने को मिला है कि जब प्रदूषण बढ़ा (Pollution instigate Coronavirus) तो कोरोना का स्तर भी बढ़ गया. इस दौरान COVID-19 अपने सबसे खतरनाक रूप में था.

  • Share this:
    दुनिया में तबाही मचा देने वाले Coronavirus पर वैज्ञानिकों की रिसर्च अब भी जारी है. इस छोटे से वायरस से जुड़े हुए एक से बढ़कर एक खतरनाक तथ्य सामने आ रही हैं. Journal of Exposure Science and Environmental Epidemiology में प्रकाशित नई रिसर्च में वैज्ञानिकों की टीम ने खुलासा किया है कि कोरोनावायरस के फैलने में प्रदूषण भी ज़िम्मेदार है. जब-जब प्रदूषण बढ़ा, इस वायरस को भी अपने पांव फैलाने का मौका मिला.

    ये रिसर्च Desert Research Institute की ओर से की गई है. वैज्ञानिकों की टीम में शामिल Daniel Kiser ने कहा है कि रिसर्च में नेवाडा के रेनो इलाके को शामिल किया गया था. जहां कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग के दौरान काफी प्रदूषण फैला. जब यहां प्रदूषण का स्तर उच्च था, तो कोरोना का पॉजिटिविटी रेट भी बढ़ गया. इस इलाके में प्रदूषण बढ़ने के दौरान 18 प्रतिशत अधिक कोरोना केस रिपोर्ट किए गए.

    धुएं और प्रदूषण से COVID-19 को मिलती है मजबूती
    Reno Gazette Journal से बात करते हुए डेनियल काइज़र ने बताया कि इस बार पश्चिमी अमेरिका में 80 से ज्यादा जंगल की आग के केस देखे गए. इससे पैदा हुए धुएं और प्रदूषण के न्यूयॉर्क तक पहुंचने के बाद कोरोना केस बढ़े. उन्होंने उम्मीद की है कि इस रिसर्च के नतीजे देखने के बाद लोग महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन कराएंगे और मास्क पहनकर खुद को वायरस के सामने एक्सपोज़ होने से बचाएंगे. वैज्ञानिकों ने Washoe County Health District and Renown Health से डेटा इकट्ठा लिया था. जंगल की आग के दौरान वातावरण में 2.5 माइक्रोमीटर से भी छोटे पार्टिकल्स तैर रहे थे. वैज्ञानिकों को इन पार्टिकल्स के बीच नए तरह का कोरोनावायरस मिला.

    ये भी पढ़ें- देखने में दूसरे ग्रह जैसी, लेकिन असल में धरती पर मौजूद है ये जगह... जानिए कहां है और क्यों दिखता है ऐसा?

    नमी और गर्मी से मिला वायरस फैलने में मदद
    इस स्टडी में शामिल University of California के वायु प्रदूषण विशेषज्ञ Kent Pinkerton का कहना है कि ज्यादा तापमान, नमी, वायु प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन जैसी चीज़ें COVID-19 के केसेज़ को और बढ़ने में मदद देती हैं. उनका कहना है कि प्रदूषण के छोटे-छोटे पार्टिकल्स के साथ कोरोना वायरस का सांस के ज़रिये शरीर में पहुंचना आसान हो जाता है. टर्की में भी इस पर एक रिसर्च हुआ था, जिसमें वायु प्रदूषण से कोरोना के संबंध को स्थापित किया गया था. स्टडी कहती है कि जंगल की आग से हुए प्रदूषण से कोरोना के केस अमेरिका में बढ़े. ऐसे में दुनिया के बाकी हिस्से में भी वायु प्रदूषण से इस डेडली वायरस को बढ़ने का मौका मिलेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज