Home /News /ajab-gajab /

आ रहा है कोरोना का दुश्मन Chewing Gum, मुंह में ही कर देगा वायरस का काम तमाम

आ रहा है कोरोना का दुश्मन Chewing Gum, मुंह में ही कर देगा वायरस का काम तमाम

वैज्ञानिक ऐसा च्युइंग गम (Scientists developing Anti Corona Chewing Gum) बना रहे हैं, जो कोरोना को फेफड़े में प्रवेश करने से पहले ही मुंह में मार देगा. (सांकेतिक तस्वीर)

वैज्ञानिक ऐसा च्युइंग गम (Scientists developing Anti Corona Chewing Gum) बना रहे हैं, जो कोरोना को फेफड़े में प्रवेश करने से पहले ही मुंह में मार देगा. (सांकेतिक तस्वीर)

Anti Corona Chewing Gum : कोरोना वायरस (Corona Virus) के नए वैरिएंट (Covid-19 New Variant Omicron) के आने के बाद ही एक बार फिर कोविड को लेकर लोगों का डर बढ़ने लगा है. इसी बीच एक अच्छी खबर ये है कि अब वैज्ञानिक कुछ ऐसी चीज़ें भी खोज रहे हैं, जिससे कोरोना (Chewing Gum could kill Corona) को आराम से खत्म किया जा सके. इसी कड़ी में वैज्ञानिक ऐसा च्युइंग गम (Scientists developing Anti Corona Chewing Gum) बना रहे हैं, जो कोरोना को फेफड़े में प्रवेश करने से पहले ही मुंह में मार देगा. ये च्युइंग गम कोरोना के इलाज की कड़ी में मील का पत्थर साबित होगा.

अधिक पढ़ें ...

    Coronavirus से लड़ाई लड़ने के लिए वैज्ञानिक लगातार इससे जुड़े हुए शोध (New Study On Covid-19) कर रहे हैं, ताकि वायरस को नुकसान पहुंचाने से पहले ही खत्म किया जा सके. अब वैज्ञानिकों ने पौधों के ज़रिये मिले प्रोटीन का इस्तेमाल करके एक ऐसा च्युइंग गम (Chewing Gum could kill Corona) विकसित करने पर काम शुरू किया है, जो कोरोना वायरस का दुश्मन (Scientists developing Anti Corona Chewing Gum) होगा. ये कोरोना वायरस के संक्रमण को घटाने का काम (Anti Corona Chewing Gum) करेगा.

    ये च्युइंग गम SARS COV -2 वायरस के लिए एक ‘जाल’ का काम करेगा. इस पर काम कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि जिन लोगों का टीकाकरण हो चुका है, उन्हें भी कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका है. ऐसे में वैज्ञानिक नेज़ल स्प्रे और च्युइंग गम जैसे उपाय अपनाकर इंफेक्शन को पहले चरण में ही रोकने की कोशिश कर रहे हैं.

    लार में वायरस को खत्म करेगा च्युइंग गम
    कोरोना को खत्म करने वाले च्युइंग गम पर अमेरिका स्थित पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के हेनरी डेनियल ने बताया कि ‘SARS COV -2 लार ग्रंथी में मिलकर अपने जैसे ही वायरस को बनाता है. ऐसे में जब कोई संक्रमित व्यक्ति छींकता, खांसता या बोलता है और वह दूसरों में पहुंच जाता है.’ जिस शख्स ने अपना टीकाकरण नहीं कराया है और वो कोरोना से संक्रमित हो चुका है, वो दूसरे टीका लिए हुए शख्स को भी संक्रमित करने की क्षमता रखता है. मोलेक्यूलर थेरेपी जर्नल में पब्लिश स्टडी में डेनियल ने कहा है, ‘ये गम लार में वायरस को न्यूट्रल कर देता है, जो संक्रमण के स्रोत को खत्म कर देने का आसान तरीका हो सकता है.’

    स्पाइक प्रोटीन को बांधेगा च्युइंग गम
    कोरोना से पहले डेनियल हाई ब्लड प्रेशर के लिए एक प्रोटीन हार्मोन का अध्ययन कर रहे थे. उन्होंने ACE 2 प्रोटीन और कई अन्य प्रोटीन विकसित किए, जिनमें इलाज करने की क्षमता को खोजा गया था. च्युइंगम मानव कोशिकाओं में ACE2 के लिए रिसेप्टर SARS-CoV-2 स्पाइक प्रोटीन को बांधने के लिए भी होता है. च्यूइंग गम के टेस्ट के लिए शोधकर्ताओं ने पहले पौधो में ACE 2 तैयार किया, उसे अन्य यौगिक के साथ संलग्न किया ताकि वह प्रोटीन के जुड़ने में सहायक हो सके. आखिर में पौधे की सामग्री को गम में तब्दील कर दिया गया. अब इसी गम से च्युइंग गम बनाने की कोशिश की जा रही है, जिसे कोरोना के खिलाफ इस्तेमाल किया जा सकेगा.

    Tags: Corona Drug, Corona vaccination, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर