• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • Weird: वैज्ञानिकों ने बनाया कैमरे वाला टॉयलेट ! मजाक नहीं, बड़े काम की चीज है अनोखा आविष्कार

Weird: वैज्ञानिकों ने बनाया कैमरे वाला टॉयलेट ! मजाक नहीं, बड़े काम की चीज है अनोखा आविष्कार

Smart Toilet में स्कैनिंग की तकनीक से कैंसर (bowel cancer) जैसी गंभीर बीमारी का भी शुरू में ही पता चल जाएगा.  (सांकेतिक तस्वीर)

Smart Toilet में स्कैनिंग की तकनीक से कैंसर (bowel cancer) जैसी गंभीर बीमारी का भी शुरू में ही पता चल जाएगा. (सांकेतिक तस्वीर)

स्टैंडफोर्ड स्कूल ऑफ मेडिसिन (Stanford School of Medicine) की ओर से विकसित किया गया ये स्मार्ट टॉयलेट (smart toilet) सुनने में भले ही मज़ाक की बात लग रहा हो, लेकिन ये बहुत सी बीमारियों को बढ़ने से पहले ही पहचान लेगा. और भी बहुत कुछ हैं इस अनोखे टॉयलेट के फायदे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    अब तक आपने बिल्डिंग में, घरों में और अलमारी के अंदर भी कैमरे लगाने की बात सुनी होगी. शायद ही आपने कभी ये सुना हो कि टॉयलेट के अंदर कैमरा लगा हो. हालांकि ब्रिटिश वैज्ञानिकों (British Scientists) ने अब ऐसी तकनीक विकसित कर ली है, कि टॉयलेट के अंदर (Camera Inside Toilet) भी कैमरा लगा होगा, जो बैठने वाले का एनल प्रिंट (unique anal print) ले लेगा.

    अब आप सोच रहे होंगे कि भला ऐसी स्कैनिंग और ऐसे टॉयलेट की क्या ज़रूरत? तो हम आपको बता दें कि ये अनोखा आविष्कार बड़े काम की चीज़ है. Stanford School of Medicine के रिसर्चर्स ने कहा है कि टॉयलेट हर यूज़र को उसके एनल प्रिंट  (unique anal print) से पहचान लेगा. इस कैमरे के ज़रिये ह्यूमन वेस्ट (Poop Testing) का भी डेटा सेव होगा, जो जांच के लिए काम आ सकेगा.

    Life Saving तकनीक है स्मार्ट टॉयलेट
    इस तरह के स्मार्ट टॉयलेट की खासियत है कि पेशाब के फ्लो और वॉल्यूम के पर यूरोफ्लोमीटर से नज़र रखी जाएगी. जबकि ह्यूमन वेस्ट से जुड़ा डेटा भी सेव होगा. ऐसे में स्कैनिंग की तकनीक से कैंसर (bowel cancer) जैसी गंभीर बीमारी का शुरू में ही पता चल जाएगा. इरिटेबल बावल सिंड्रोम (irritable bowel syndrome) और इंफ्लेमेटरी बावल डिज़ीज़ ( inflammatory bowel disease) जैसी कंडीशन पता लगाने में भी ये टॉयलेट फायदेमंद साबित होंगे.

    ये भी पढ़ें- पत्तागोभी तोड़ने की ‘शानदार’ नौकरी ! 63 लाख के पैकेज में सालभर तोड़नी होगी ब्रोक्ली और गोभी 

    कई तरह के Smart Toilet हैं मौजूद
    Toi Labs की ओर से विकसित किए गए स्मार्ट टॉयलेट की खासियत ये है कि वो यूज़र के सीट पर बैठने के पोश्चर का भी विश्लेषण करता है और ह्यूमन वेस्ट की जांच कर लेता है. जैसे ही कोई असामान्य पैटर्न मिलता है, इंसान के पेट की बीमारी का पता चल जाता है. इसे रिपोर्ट के तौर पर भी तैयार कर लिया जाता है, जो ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर को दिखाया जा सकता है. इस तरह के टॉयलेट के मेडिकल फायदे होने के बाद भी बहुत से लोगों को इस तरह के कैमरे असामान्य लगते हैं और वे अपनी प्राइवेट मेडिकल कंडीशन को स्कैन नहीं होने देना चाहते हैं. कुछ लोगों की चिंता ये भी है इंश्योरेंस कंपनियों के हाथ डेटा लगने के बाद वे अपनी पॉलिसी में बदलाव कर सकती हैं. ऐसी परिस्थिति में वैज्ञानिक इस बात के लिए लोगों को निश्चिंत कर रहे हैं कि ये डेटा प्राइवेट ही रहेगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज