अब रोबोट भी आपस में संबंध बनाकर पैदा कर सकेंगे बच्चे, वैज्ञानिकों ने तकनीक को बताया इंसानों के लिए खतरा

रोबोटों से पैदा हुए बच्चे मानव जाति के लिए खतरा होंगे.

Terminator सीरीज़ के फैंस के लिए खबर ये है कि हो सकता है कि कुछ सालों में वैसा ही रोमांच (Adventure of Robots) हमारी ज़िंदगी में भी आ जाए. दरअसल वैज्ञानिक रोबोट्स (Scientists Developed Technology to Breed Robots) के भी बच्चे पैदा कराने में लगे हैं और अगर ऐसा हुआ तो ये बच्चे किसी तबाही से कम नहीं होंगे.

  • Share this:
    आपको रजनीकांत की फिल्म रोबोट (Robot) में चिट्टी का भयानक वर्जन तो याद ही होगा न? अब वैज्ञानिकों का दावा है कि अगर रोबोट खुद ही बच्चे पैदा करने में सक्षम हो जाएंगे तो दुनिया को एक-दो नहीं बल्कि चिट्टी के तमाम बैड वर्जन से जूझना पड़ सकता है. आने वाले कुछ ही सालों में संभव हो सकता है कि रोबोट आपस में संबंध बनाकर तमाम पॉवरफुल नैनो रोबोट्स की पूरी फौज तैयार कर दें.

    ब्रिटेन (UK) और नीदरलैंड (Netherlands) के वैज्ञानिक ऐसी टेक्नॉलजी विकसित कर रहे हैं, जिसके ज़रिये रोबोट न सिर्फ आपस में संबंध बना सकेंगे, बल्कि इंसानों की देखरेख के बिना ही बच्चे (Child Robots) भी पैदा कर सकेंगे. ये बच्चे पिछले रोबोट्स से कहीं ज्यादा शक्तिशाली होंगे. हालांकि वैज्ञानिकों को इस बात का भी डर है कि रोबोट्स बढ़े तो इंसानों की जाति के लिए खतरा पैदा हो जाएगा.

    मशीनें ही मशीनें होंगी, इंसान पड़ जाएंगे मुसीबत में
    इस प्रोजेक्ट में लगे ब्रिटेन और नीदरलैंड के वैज्ञानिकों का कहना है कि इस टेक्नॉलजी के जरिये एडवांस मशीनों की बड़ी संख्या पैदा की जा सकेगी. हालांकि उनका कहना है कि इस तकनीक से जो चिल्ड्रेन रोबोट पैदा होंगे, वो ज्यादा विध्वंसकारी हो सकते हैं. कम्प्यूटर प्रोफेसर एम्मा हार्ट ( Emma Hart ) के मुताबिक डिजिटल DNA से पैदा हुए चाइल्ड रोबोट्स की क्षमता कहीं ज्यादा होगी. ब्रीडिंग फार्म्स में ज़रूरत के मुताबिक रोबोट पैदा कराए जा सकेंगे. इनके जन्म के बाद ये नुकसान पहुंचाने वाला व्यवहार भी कर सकते हैं.

    मुश्किल होगा ऐसे रोबोट्स को संभालना
    (University of York) यॉर्क यूनिवर्सिटी के एक प्रोजेक्ट Autonomous Robot Evolution: Cradle To Grave के तहत 4 सालों की रिसर्च के मदर-फादर रोबोट के DNA को मिलाया जा सका है. पहले इनका ब्रेन बनाया गया है, जिसे और भी एडवांस किए जाने का काम जारी है. इस तरह से जो रोबोट जन्म लेंगे उनके 6 पैर होंगे ताकि वे सी माइनिंग (Sea Mining)और स्पेस के साथ-साथ न्यूक्लियर रिएक्टर (Nuclear Reactor) में भी काम कर सकें. नैनो रोबोट्स के जरिये मेडिकल क्षेत्र में माइक्रो सर्जरी भी संभव हो सकेगी.

    ये भी पढे़ें- होटल के कमरे में शख्स को दिखा रहस्यमई दरवाजा, खोलते ही पहुंच गया 'पाताल लोक

    इतने सारे गुणों के साथ-साथ वैज्ञानिक इस बात को लेकर लगातार चेता रहे हैं कि ये रोबोट नुकसान भी पहुंचा सकते हैं. टर्मिनेटर (Terminator) सीरीज़ या फिर ब्लेड रनर 2049 (Blade Runner 2049 ) जैसी फिल्मों में दिखाए गए भविष्य के रोबोट इस कॉन्सेप्ट से काफी मिलते-जुलते नज़र आते हैं. यानि खतरा भी मानवता पर इतना ही बड़ा हो सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.