अचानक एसिड में बदल गया नदी का पानी, पीले रंग की एक बूंद जला दे रही लोगों की चमड़ी

स्कॉटलैंड (Scotland) में बहने वाली नदी का रंग पीला हो गया जिससे वहां खौफ का माहौल बन गया है

स्कॉटलैंड (Scotland) में बहने वाली नदी का रंग पीला हो गया जिससे वहां खौफ का माहौल बन गया है

स्कॉटलैंड में अचानक लोगों के बीच डर का माहौल बन गया है. सोशल मीडिया (Social Media) पर स्कॉटलैंड के ग्लास्गो (Glasgow) में बहने वाले पोलमाड़ी बर्न (Polmadie Burn) नदी का पानी अचानक एसिड (Acid) में बदल गया. इसका पता तब चला जब नदी का पानी पीले रंग का हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 1:14 PM IST
  • Share this:
पर्यावरण पर लोगों की हरकतें कहर बनकर टूटती है. ऐसे कई मामले देखने को मिलती है जहां लोगों की हरकतों का खमियाजा पर्यावरण को चुकाना पड़ा है. अक्सर ऐसे मामले सामने आने के बाद लोग लेक्चर देना शुरू कर देते हैं लेकिन सुधरते नहीं. कोरोना जैसी महामारी से जूझती दुनिया में अचानक सनसनी तब फैली जब स्कॉटलैंड की एक नदी का पानी अचानक एसिड में बदल गया. इसकी तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही हैं.

देखते ही देखते पीला हो गया पानी

स्कॉटलैंड के ग्लास्गो में बहने वाले पोलमाड़ी बर्न नदी का पानी अचानक पीले रंग में बदल गया. इसकी तस्वीरें कई जगह शेयर की गई. जब शुरुआत में लोगों ने पानी का पीला रंग देखा तो इसे चमत्कार मान बैठे लेकिन असल में ये इंसानों द्वारा की गई भूल का नतीजा था.नदी के किनारे बने एक केमिकल फैक्ट्री ने अपनी गंदगी नदी में छोड़ दी थी. इसी के कारण नदी का पानी पीले रंग में बदल गया था.

जांच में हुआ खौफनाक खुलासा
जब नदी के पीले रंग की खबर फैली, तो Clyde Gateway, जो स्कॉटलैंड की एक रीजेनरेशन ऑर्गनाइजेशन (Regeneration Organisation) है, उसने पानी की जांच की. जांच में भयंकर बातें सामने आई. पानी एसिड में बदल गया था. इसकी एक बूँद भी चमड़ी तक जलाने के सक्षम था. अगर गलती से इस पानी को पी लिया तो गला और किडनी दोनों डैमेज हो सकता है.

आसपास रहते हैं कई लोग

इस नदी के पानी का इस्तेमाल कई लोग करते हैं. नदी के पास कई घर है, जिसके लोग इसके पानी का इस्तेमाल करते हैं. इसकी तस्वीरें तेजी से वायरल हो रही है. अब वैज्ञानिक इसके पानी को जल्द से जल्द ठीक करने का ढूंढ रहे हैं. काफी लंबे रास्ते तक पानी पीला हो गया. अभी तक पानी से किसी को नुकसान पहुँचने की खबर नहीं आई है लेकिन इतना तो तय है कि इससे नदी की मछलियां मर गई होंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज