24 जुलाई को धरती पर आएगी तबाही? पृथ्वी की ओर तेजी से आ रहा है विशालकाय Asteroid, NASA ने किया कंफर्म

पृथ्वी की ओर बेहद तेज़ी से बढ़ रहा Asteroid 24 जुलाई को पृथ्वी के बेहद करीब होगा.

NASA के मुताबिक एक विशालकाय एस्टेरॉयड (Large Asteroid) धरती की ओर बेहद तेज़ी से बढ़ (Asteroid Heading Towards Earth) रहा है. 24 जुलाई को ये धरती के बेहद करीब (Apocalypse On Earth) होगा.

  • Share this:
    अंतरिक्ष (Space) की दुनिया बेहद अलग और रहस्यों (Space Mystery) से भरी हुई है. यहां रोज़ाना कुछ न कुछ ऐसा होता है, जिसे देखकर वैज्ञानिक भी डर जाते हैं. इस वक्त अंतरिक्ष में हमारी धरती की ओर एक बड़ा उल्कापिंड (Asteroid Heading Towards Earth)बेहद तेज़ी से आ रहा है. माना जा रहा है कि 24 जुलाई को ये (Large Asteroid) धरती पर तबाही का पैगाम (Apocalypse On Earth) ला सकता है.

    NASA के वैज्ञानिकों ने इस विशाकाय उल्कापिंड (Large Asteroid) के धरती की ओर बढ़ने की पुष्टि की है. बताया जा रहा है कि अंतरिक्ष के इस चट्टानी उल्कापिंड का आकार 220 मीटर से भी ज्यादा बड़ा है. ये धरती के ऑर्बिट की ओर बढ़ रहा है. इसकी स्पीड 8 किलोमीटर प्रति सेकेंड है. वैज्ञानिकों ने इसे 2008 GO20 नाम दिया है और ये लंदन के मशहूर बिग बेन के दोगुने आकार का है.

    क्या धरती पर आएगी तबाही?
    माना जा रहा है कि ये उल्कापिंड 24 जुलाई यानि आने वाले शनिवार को धरती के पास (Earth is in Danger) से होकर गुजरेगा. इस ऑर्बिट को अपोलो की श्रेणी में रखा गया है. अपोलो श्रेणी में उन उल्कापिंडों को रखा जाता है, जो धरती के ऑर्बिट से होकर गुजरने वाले होते हैं. सबसे पहले साल 1862 में अपोलो उल्कापिंड धरती के ऑर्बिट से होकर गुजरा था. 2008 GO20 नाम के उल्कापिंड का आकार बहुत बड़ा है, जो 17,895MPH की गति से धरती की ओर बढ़ रहा है. यूं तो धरती की ओर उल्कापिंड का आना (Big Asteroid is expected to collide with the Earth) हमेशा ही खतरे का संकेत होता है, लेकिन इस बार ये खतरा कम है. वैज्ञानिकों का मानना है कि इस बात का चांस बहुत कम है कि उल्कापिंड धरती की सतह से टकराए.

    ये भी पढ़ें- 24 जुलाई को धरती पर आएगी तबाही? पृथ्वी की ओर तेजी से आ रहा है विशालकाय Asteroid, NASA ने किया कंफर्म

    पहले भी आए हैं उल्कापिंड
    माना जा रहा है कि 2008 GO20 उल्कापिंड धरती और चांद के बीच की दूरी से भी ज्यादा दूरी पर है, ऐसे में इससे धरती पर तबाही आने के चांस काफी कम हैं. मई 2020 में 2020 DM4 नाम के उल्कापिंड ने भी धरती की कक्षा में दस्तक दी थी. इस वक्त अंतरिक्ष विज्ञानी करीब 2000 उल्कापिंडों पर अध्ययन कर रहे हैं, जो धरती के लिए खतरा बन सकते हैं.यूं तो धरती के पास से होकर उल्कापिंडों के गुजरने का सिलसिला कोई नया नहीं है. ये घटना आए दिन होती रहती है. खतरा तब होता है जब चट्टाननुमा ये उल्कापिंड काफी विशाल हों.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.