यहां के स्कूलों में स्कर्ट पहनकर क्यों आ रहे हैं मर्द शिक्षक? पीछे की वजह है बेहद दिलचस्प

PHOTO-Twitter/@borjamusico,Twitter/@joxepinas

स्पेन (Spain) के कुछ स्कूलों की क्लास इस वक्त सोशल मीडिया (Social Media) पर चर्चा का विषय बनी हुई है. वजह है, इन क्लासेज में पुरुष शिक्षकों स्कर्ट (Male Teachers Wearing Skirts) पहनकर पहुंचना और बच्चों की क्लास लेना. आखिर वो ऐसा क्यों कर रहे हैं, ये जानने के लिए ये रिपोर्ट पढ़िए.

  • Share this:
    दुनिया में एक से बढ़कर एक कारनामे करने वाले लोग मौजूद हैं. आपने स्कॉटलैंड के बैगपाइपर्स के बारे में तो सुना ही होगा. यहां पुरुष भी स्कर्टनुमा पोशाक पहनते हैं लेकिन इन दिनों स्पेन के एक स्कूल में भी ऐसा ही नज़ारा देखने को मिल रहा है, जहां स्कूल के दो टीचर्स बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कर्ट पहनकर स्कूल आते हैं.

    दरअसल ये कोई फैशन नहीं है, न ही स्कर्ट यहां की पारंपरिक पोशाक है बल्कि ये तो एक आंदोलन है, जो जेंडर इक्वालिटी (Gender Equality Movement) को लेकर छेड़ा गया है. इस आंदोलन को पूरे देश में समर्थन मिल रहा है और स्पेन के कई स्कूलों में शिक्षक स्कर्ट पहनकर क्लास लेने पहुंच रहे हैं. आंदोलन का नाम है - Clothes Have No Gender.

    क्या है ये मामला?
    हुआ यूं कि स्पेन (Spain) में एक छात्र को स्कर्ट पहनने के बाद स्कूल से निकाल दिया गया. ये मामला 27 अक्टूबर,2020 का है. बास्क्यू काउंटी के एक स्कूल में छात्र को स्कर्ट पहनने की वजह से स्कूल से सस्पेंड कर दिया गया और उसे मनोचिकित्सक को दिखाने के लिए कहा गया. छात्र ने अपनी कहानी टिकटॉक (TikTok) पर एक वायरल वीडियो (Viral On Social Media) के ज़रिये शेयर की और बताया कि वो इस तरह सिर्फ महिलावाद और विविधता का समर्थन करना चाहता था.

    इस घटना के बाद 4 नवंबर. 2020 को स्पेन के तमाम स्कूलों में छात्र और बच्चे स्कर्ट पहनकर आंदोलन करने पहुंच गए. तब से ये आंदोलन स्पेन में चल रहा है.

    ये भी पढ़ें- सुपरहीरो बार्बी बनने की सनक में लुटाए 72 लाख रुपये, करा डाली दर्जन भर सर्जरी

    इन शिक्षकों ने पहनी स्कर्ट
    हाल ही में 37 साल के टीचर मैन्युएल ओर्टेगा (Mr Ortega) और 36 साल के टीचर बोर्जा वेलाजक्वेज (Mr Velazquez)की स्कर्ट पहने हुए तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. उनका कहना है कि वे जहां पढ़ाते हैं, वहां एक छात्र की टी शर्ट को लेकर उसे बुली किया गया. इस घटना के बाद उन्होंने स्कूल में स्कर्ट पहनकर आना शुरू कर दिया. वे एक महीने से यहां स्कर्ट पहनकर ही आ रहे हैं. एक और शिक्षक जोस पिनास (Jose Piñas) भी पिछले साल से ही स्कर्ट पहनकर स्कूल आ रहे हैं और उन्होंने अपनी फोटो भी ट्विटर पर शेयर की है. इन शिक्षकों को अपने पोस्ट के लिए कुछ अच्छे तो कुछ बुरे कमेंट्स भी मिल रहे हैं. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए वे कह रहे हैं कि उनका मकसद सस्ती लोकप्रियता हासिल करना नहीं है बल्कि वे इस तरह जेंडर इक्वालिटी के लिए गंभीर प्रयास कर रहे हैं.