Home /News /ajab-gajab /

the woman did not sit for 30 years told this special disease due to which she is forced to stand even after suffering pain shitri

30 सालों से नहीं बैठी महिला, बताई ये खास वजह जिसके चलते दर्द सहकर भी खड़े रहने को है मजबूर

सौ.सोशल मीडिया- जेनेटिक बीमारी के चलते 30 साल से बैठ नहीं पाई महिला, खड़े-खड़ कट रहा है जीवन

सौ.सोशल मीडिया- जेनेटिक बीमारी के चलते 30 साल से बैठ नहीं पाई महिला, खड़े-खड़ कट रहा है जीवन

पोलैंड की 32 साल की जोआना क्लिच 30 साल से नहीं बैठ पाई. उन्हें बचपन से ऐसी दुर्लभ बीमारी है जिसके चलते वो अपना वजन नहीं संभाल सकती. Spinal muscular atrophy के चलते अब उन्हें दिनचर्या के लिए भी निर्भर रहना पड़ता है. अपने इलाज के लिए वो फंड इकट्ठा करना चाहती है.

अधिक पढ़ें ...

हर इंसान इतना ज़रूर चाहता है कि वो खुद के बल पर चल सके, उठ बैठ सके, अपनी दिनचर्या खुद कर सके. यानि ऐसा जीवन जो लगभग हर इंसान जी ही रहा होता है. ये तो आधार है लाइफ का. लेकिन एक महिला ऐसी भी जिसके लिए बेहद आम लगने वाला ये जीवन भी किसी सपने से कम नहीं है.

पोलैंड की 32 साल की जोआना क्लिच से कोई पूछे कि वो जीवन में क्या चाहती हैं तो उनका जवाब शायद यही होगा कि वो खुद से चलफिर सके, बैठ सकें, औऱ अपनी दिनचर्या जैसी मामूली काम के लिए किसी और का सहारा न लेना पड़े. वजह है उनकी बीमारी जिसके चलते वो 30 साल से बैठ नहीं पाई. उनकी मां ने बताया कि वो 2 साल की उम्र में एक बार बैठी थी. उसके बाद अपनी याद में क्लिच कभी नहीं बैठ पाई.

जेनेटिक बीमारी ने तोड़ दिया आम जीवन का सपना
क्लिच को जन्म से ही ऐसी बीमारी है दुर्लभ बीमारी है जिसके चलते वो बैठ नहीं सकती. उनके कुल्हे और रीढ की हड्डी उनका ही वजन नहीं संभाल सकती. Spinal muscular atrophy के चलते अब उन्हें दिनचर्या के लिए भी निर्भर रहना पड़ता है. इलाज के लिए वो फंड इकट्ठा करना चाहती है. हालांकि अपनी बीमारी के बाद भी क्लिच 21 साल की उम्र तक खुद को काफी हद तक संभाल लेती थी. दूसरे देश में जाकर काम करती थी लेकिन अब उनका शरीर इतना असहाय होने लगा है कि अब उन्हें हर काम के लिए एक सहारे की ज़रूरत पड़ने लगी है. यही उनकी चिंता और गुस्से का कारण है कि उनकी शारीरिक स्थिति धीरे-धीरे बद्तर होती जा रही है.

woman did not sit

सौ.सोशल मीडिया- वर्टिकल व्हीलचेयर के सहारे होती है खड़ी, दिनचर्या के लिए भी रहना पड़ता है निर्भर

लेटकर जीवन नहीं जीना चाहती क्लिच, कुछ करने की है चाहत
क्लिच की चिंता ये है कि उसकी हालत आगे चलकर इससे भी खराब हो जाएगी, लेकिन वो एक सामान्य इंसान की तरह जीवन जीने का सपना देखती है. वो खुद के बल पर बहुत कुछ करना चाहती है. इसीलिए वो अपना इलाज के पैसों के इंतज़ाम के लिए एक GoFundMe खाते के ज़रिए संघर्ष कर रही हैं. क्लिच का कहना है कि फिजियोथेरेपी उन्हें मजबूत बनाएगी, मांसपेशियां मजबूत होंगी तो खड़े रहना इतना मुश्किल नहीं होगा, हालांकि उन्हें कुछ सर्जरी की भी ज़रूरत होगी लेकिन उससे जान पर जोखिम हो सकता है. अभी क्लिच को अपनी मदद के लिए एक वर्टिकल व्हीलचेयर, एक स्थायी सहायता, पेन किलर्स, और एक Respirator का उपयोग करना पड़ता है. लेकिन अब इन सारी सुविधाओं के बाद भी उनका जीवन कठिन होने लगा है. उनका वजन थोड़ा भी बढ़ जाए तो उनके लिए वर्टिकल मशीन पर चलना भी मुश्किल होता है. बढ़े वजन का भार उनके पैर बर्दाश्त नहीं कर पाते. जबकि वो चलते रहना चाहती है. क्योंकि वो सारी ज़िंदगी बिस्तर पर लेटकर नहीं रह सकती.

Tags: Ajab Gajab news, Genetic diseases, Khabre jara hatke, Weird news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर