अपना शहर चुनें

States

कारों के शौकीन हैं 80 साल के ये बुजुर्ग, गाड़ियों के लिए बनवाई है अलग बिल्डिंग

ऑटोकर जे
ऑटोकर जे

ऑटोकर बताते हैं कि करीब 50 साल पहले एक पोर्श कार (Porsche Car) उनके पास से गुजरी. उसके बाद से गाड़ियों के प्रति जुनून पैदा हो गया था. अगले कुछ ही सालों में उन्होंने पैसा जोड़ना शुरू किया और एक 911E गाड़ी खरीदी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2020, 11:52 AM IST
  • Share this:
विएना. आमतौर पर बढ़ती उम्र के साथ लोग काम से फुरसत पाकर कुर्सियां तलाशते हैं, लेकिन वियना के ऑटोकर जे (Ottocar J) का प्लान कुछ और ही है. ऑटोकर पोर्श कारों के दीवाने हैं. गाड़ियों के प्रति उनकी दीवानगी का आलम यह है कि वो अब तक 80 पोर्श कारें खरीद चुके हैं. खास बात है कि केवल कारें खरीदना ही उनका मकसद नहीं है. वो इन्हें नियमित रूप से ड्राइव भी करते हैं. इतना ही नहीं उन्होंने अपनी गाड़ियों के लिए अलग से बिल्डिंग भी बनवाई है. वो इसे अपना लिविंग रूम कहते हैं.

ऐसी है कहानी
ऑटोकर बताते हैं कि करीब 50 साल पहले एक पोर्श कार (Car) उनके पास से गुजरी. उसके बाद से गाड़ियों के प्रति जुनून पैदा हो गया था. अगले कुछ ही सालों में उन्होंने पैसे जोड़ना शुरू किया और एक 911E गाड़ी खरीदी. हालांकि, इस पहली गाड़ी के बाद सिलसिला जारी रहा और कलेक्शन बढ़ता रहा. आने वाले कुछ सालों में ऑटोकर ने एक 917, खास 8 सिलेंडर इंजन वाली 910, ऑरिजिनल फर्मेन इंजन वाली 904 और 956 भी खरीदीं.

यह भी पढ़ें: जनवरी से महंगी हो जाएगी सभी कार, उससे पहले इन कारों पर मिल रहा है 1 लाख रुपये तक डिस्काउंट
गाड़ियों का रखते हैं पूरा खयाल


कुल मिलाकर उन्होंने 80 और पोर्श कारें खरीदीं. फिलहाल उनके पास 38 कारें हैं. उन्होंने कहा, 'मैं महीने के हर दिन अलग और वीकेंड्स पर दो कारें चला सकता हूं.' ऑटोकर केवल गाड़ियां खरीदने के शौकीन नहीं हैं, बल्कि उनका पूरा खयाल रखते हैं. उन्होंने गाड़ियों के लिए खास गैराज की व्यवस्था की है. उन्होंने गाड़ियों के लिए एक अलग बिल्डिंग तैयार की है. इस बिल्डिंग में उनकी सभी कारें नजर आती हैं. इस बिल्डिंग में एक खिलौनों की दुकान, एक एंटीक स्टोर और सिनेमा स्क्रीन भी है.

पसंदीदा कार को लेकर ऑटोकर कहते हैं कि टाइप 981 बॉक्स्टर स्पाइडर बाकी सभी गाड़ियों से अलग है. उन्होंने कहा, 'इसकी आवाज, चलने का तरीका, सस्पेंशन. यह मेरी एकमात्र पोर्श है, जो मेरी 910 की याद दिलाती है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज