फैक्ट्री में बन गई महादेव जैसी 'तीसरी आंख', बाजार से खरीदकर माथे पर करना होगा फिट

सड़क पर मोबाइल चलाते हुए ये डिवाइस आपके लिए रोड पर नजर रखेगी

सड़क पर मोबाइल चलाते हुए ये डिवाइस आपके लिए रोड पर नजर रखेगी

साउथ कोरिया (South Korea) में एक डिजाइनर ने तीसरी आंख (Third Eye) तैयार की है. इस आंख में रोबोटिक आईबॉल (Robotic Eyeball) मौजूद है जिसे कोई भी अपने माथे में फिट कर सकता है. इसका सबसे ज्यादा फायदा सड़क पर मोबाइल चलाने वाले लोगों को होगा. इस तीसरी आंख से वो सड़क पर नजर रख पाएंगे.

  • Share this:

आज के समय में स्मार्टफोन लोगों की जरुरत बन गया है. चाहे घर हो या ऑफिस, सभी जगह लोग अपने मोबाइल फोन से चिपके रहते हैं. यहां तक की कुछ लोग सड़क पर भी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं. इससे कई बार एक्सीडेंट भी हो जाते हैं. नजर मोबाइल पर होने की वजह से लोगों को सामने से आ रही गाड़ियां नजर नहीं आती. और उनका एक्सीडेंट हो जाता है. इस प्रॉब्लम का सॉल्यूशन अब आ गया है.

साउथ कोरिया के इंडस्ट्रियल डिजाइनर (Industrial Designer) पेंग मीन-वूक (Peng Meen Wook) ने एक ऐसी आंख बनाई है जिसे माथे पर फिट किया जा सकता है. इस रोबोटिक आंख से फिर आराम से सड़क पर नजर रखी जा सकती है. यानी ये तीसरी आंख आपके दोनों आंखों के मोबाइल में लगे रहने के बाद भी आपको देखने की फैसिलिटी देगी. इससे आप सड़क पर बिना किसी इंजरी के अपने मोबाइल का इस्तेमाल कर पाएंगे.

मोबाइल ज़ॉम्बीज़ के लिए किया इन्वेंशन

अपने इस इन्वेंशन पर मिस्टर पेंग ने कहा कि उन्होंने ऐसे कई मामले देखे जब सड़क पर मोबाइल चलाने की वजह से एक्सीडेंट हुए थे. इन सब ख़बरों से वो आहत हो जाता था और सोचता था कि आखिर इसका सॉल्यूशन क्या है? इसलिए उसने बनाया थर्ड आई यानी तीसरी आंख. इसे गैजेट के इस्तेमाल में पूरी तरह डूबे लोगों के लिए बनाया गया है. ताकि वो मोबाइल का इस्तेमाल करते हुए भी सड़क पर एक्सीडेंट का शिकार ना हो पाएं.
ऐसे करता है काम

फैक्ट्री में बनी इस तीसरी आंख को इंसान अपने माथे पर फिट कर सकता है. इसके बाद इसमें लगा आईलिड एक्टिव हो जाएगा. अब सड़क पर चलते हुए अगर आपकी नजर मोबाइल पर है और आगे दो मीटर तक कोई खतरा है तो ये आंख आवाज कर आपको चेतावनी दे देगा. मिस्टर पेंग ने अपने इस आविष्कार को क्रन्तिकारी बताया है. उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन की वजह से सड़क पर आगे मौजूद किसी खतरे को हम देख नहीं पाते. लेकिन ये डिवाइस आपको सुरक्षा देगा.

खुद पर किया प्रयोग



मिस्टर पेंग ने इस डिवाइस को बनाकर खुद पर आजमाया. मिस्टर पेंग इस डिवाइस को माथे पर लगाकर सड़क पर मोबाइल यूज करते रहे. जब उनसे दो मीटर के दायरे में कोई खतरा होता था तो मशीन से आवाज आने लगती थी और वो खतरे के बारे में जान जाते थे. मिस्टर पेंग ने कहा कि उन्हें देखकर कई लोग हैरान थे. कई लोगों ने उन्हें एलियन समझ लिया था. हालांकि, उनका एक्सपेरिमेंट सफल रहा. जल्द ही इसका प्रोडक्शन बल्क में कर इसे मार्केट में उतार दिया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज