आइलैंड पर 500 वर्ष पुराने घर में अकेला रहता है ये शख्स, छोड़ दी नौकरी, जानिए कैसी है लाइफ

रोरी मॉर्गन (Photo: Channel 5)

सोशल साइट्स (Social Sites) पर इन दिनों रोरी मॉर्गन (Rory Morgan) नाम के ऐसे शख्स की चर्चा हो रही है, जो अच्छी-खासी नौकरी करने की जगह एक आइलैंड पर जाकर बस गया. बिना बिजली वह पिछले 9 सालों से रह रहा है.

  • Share this:
    इस दौर में जब इंसान सारी सुख-सुविधाओं के साथ आराम की ज़िन्दगी जीना चाहता है. ऐसे में अगर कोई युवा शानदार लाइफस्टाइल (Lifestyle) छोड़कर, आइलैंड पर बने 500 साल पुराने घर में रहने चला जाये, तो आप उसे क्या कहेंगे?  शायद, यह जानकर आफको भी हैरानी होगी. लेकिन ऐसे ही एक शख्स हैं आयरलैंड के रहने वाले 41 वर्षीय रोरी मॉर्गन (Rory Morgan), जो 32 साल की उम्र में ही सबकुछ छोड़कर एक आइलैंड पर अपने दादी के छोटे से घर में रहने चले गए.

    रोरी जिस आइलैंड पर रहते हैं, उसका नाम रथलिन आइलैंड (Rathlin Island) है, जो उत्तरी आयरलैंड और स्कॉटलैंड के बीच स्थित है. यहां पर रोरी तमाम मुश्किलों के बीच लगभग 9 सालों से रह रहे हैं. हाल ही में उनसे 'न्यू लाइव्स इन द वाइल्ड' नाम के चैनल के प्रतिनिधि ने रोरी से मुलाकात की. चैनल से बातचीत में रोरी ने कहा कि ग्रेजुएशन करने के बाद मुझे एक मल्टीनेशनल कम्पनी में नौकरी मिल गई थी. वहां पर मैं बतौर एचआर एग्जक्यूटिव के तौर पर काम कर रहा था. सबकुछ ठीक चल रहा था, लेकिन कम्पनी ने अचानक अपने डबलिन ऑफिस को बंद कर दिया.

    कम्पनी के बंद होने के बाद रोरी बेरोजगार हो गए थे. उन्होंने कहा कि कम्पनी बंद हुई तो मैं दूसरी नौकरी की तलाश कर सकता था, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया. सबकुछ छोड़कर मैं इस आइलैंड पर आ गया और अपनी दादी के 500 साल पुराने घर को दुरुस्त करवाया. उसके बाद से लगातार यही पर रह रहा हूं. यहां न तो बिजली है और न ही ढंग का खाना. लेकिन मैं अपनी जिंदगी जी रहा हूं. कई बार तो घर के अंदर से भी अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देती हैं. मानो कोई भूत हो, लेकिन मैं अब इन सबके बीच रहने का आदि हो चुका हूं.

    कैसे करते हैं खाने का इंतजाम?
    रोरी ने बताया कि करीब 3 साल पहले मेरी तबीयत खराब हुई थी, तब मैंने जेनरेटर स्टार्ट किया था. लेकिन उसके पहले और बाद में बिना बिजली के ही इस घर में रहता हूं. खाने के लिए मैं समुद्र से झींगा मछली और केकड़े पकड़ता हूं. कई बार नहीं मिल पाते तो पड़ोसियों से खाना मांगकर काम चला लेता हूं. वहीं, थोड़ा-बहुत पैसा कमाने के लिए शाम के समय एक पब में भी काम करता हूं. रोरी ने बताया कि बतौर वॉलिंटियर मैं कई रिफ्यूजी लोगों की मदद करने के लिए टर्की के समीप स्थित लेसबोस आइलैंड भी जा चुका हूं. हालांकि, अब मैं यहां पूरी तरह सेट हो चुका हूं और आगे यहीं रहने की योजना है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.