होम /न्यूज /अजब गजब /

भालू और भेड़ियों से भरे जंगल में गुम हो गई थी बच्ची, 3 दिन बाद मिली, तो हालत देख निकल पड़े आंसू

भालू और भेड़ियों से भरे जंगल में गुम हो गई थी बच्ची, 3 दिन बाद मिली, तो हालत देख निकल पड़े आंसू

सालभर की बच्ची (Toddler girl) घने जंगल में गुम हो गई और जंगली जानवरों के बीच  3 दिन तक रही. (Credit- Pixabay /सांकेतिक तस्वीर)

सालभर की बच्ची (Toddler girl) घने जंगल में गुम हो गई और जंगली जानवरों के बीच 3 दिन तक रही. (Credit- Pixabay /सांकेतिक तस्वीर)

22 महीने की बच्ची (Toddler girl) 3 दिन तक घने जंगल (girl lost in forest) में घूमती रही. न तो कुछ खाने को था और न ही पीने को, ऊपर से भेड़ियों और भालुओं (Wolves and Bear) से भरे जंगल में उसने 2 रातें गुजार दीं.

    जाको राखे साइयां, मार सके न कोय- ये कहावत तो आप सभी ने सुनी होगी. रूस (Russia) में एक साल भर की बच्ची (Toddler girl)के साथ जो हुआ, वो कुछ ऐसा ही था. ये बच्ची अपने घर अपने से निकलकर जंगल (girl lost in forest) में खो गई थी और अगले 3 दिन तक इसका कोई पता नहीं चल सका.

    हैरानी की बात ये है कि जंगल में बहुत सारे जंगली जानवर (Forest filled with wild animals) भरे पड़े थे. इनके बीच बच्ची 2 रात और 3 दिन तक घूमती रही. बच्ची के माता-पिता ने भी इस बात की उम्मीद छोड़ दी थी कि उनकी बेटी (girl lost in forest) वापस मिल पाएगी. गनीमत ये रही कि बच्ची इतना सब कुछ झेलने के बाद भी घर वापस आ सकी.

    newचमत्कार था बच्ची का ज़िंदा बच जाना
    ये घटना रूस के स्मोलेंस्क इलाके में ओबिंस्क के पास की है. ऑनलाइन साइट द मिरर के मुताबिक बच्ची का नाम ल्यूडा (Lyuda) कुजिना है. वो मां के साथ गार्डन में खेलते-खेलते जंगल में पहुंच गई थी. 22 महीने की बच्ची को बगीचे और जंगल के बीच का फर्क कहां पता था? वो जंगल में खो गई और उसके माता-पिता ने उसको आस-पास तलाशते रहे. बच्ची जिस जंगल में खोई थी, वहां जंगली भालुओं और भेड़ियों का अड्डा था.

    ये भी देखें- Jeff Bezos को है आइसक्रीम से बेशुमार प्यार, घर में लगवा डालीं लाखों की मशीनें  

    3 दिन भूखी-प्यासी बच्ची हो चुकी थी बेहाल
    बच्ची की मां ने जब शोर मचाया तो बच्ची के गायब होने की सूचना सभी को मिल गई. करीब 500 लोग बड़े पैमाने पर बचाव के प्रयास में शामिल हुए. 3 दिन तक जब ल्यूडा नहीं मिली, तो लोगों ने मान लिया था कि उसे कोई जंगली जानवर खा गया होगा. तभी चमत्कारिक तौर पर बच्ची (girl miraculously survived) घर से ढाई मील की दूरी पर घने जंगल में मिली. बच्ची के रोने की हल्की चीख रेस्क्यू दल को सुनाई दी. टीम ने जब सर्च करना शुरू किया तो उन्हें ल्यूडा एक पेड़ के पास मिली. उसे जीवित देखकर हर किसी की आंख में आंसू आ गए. बच्ची को तमाम कीड़ों ने काटा था और वो बेहद कमज़ोर हो चुकी थी. हालांकि रात में तापमान गर्म होने की वजह से बच्ची ज़िंदा बच गई थी.

    Tags: Child, Forests, Russia

    अगली ख़बर