• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • जबरदस्ती हील सैंडल पहनाकर महिला सैनिकों से करवाई गई परेड, फोटो सामने आते ही सरकार की हुई थू-थू

जबरदस्ती हील सैंडल पहनाकर महिला सैनिकों से करवाई गई परेड, फोटो सामने आते ही सरकार की हुई थू-थू

यूक्रेन में अगले महीने आजादी के 30 साल के जश्न में महिला सैनिकों से हील्स में परेड करने को कहा गया है

यूक्रेन में अगले महीने आजादी के 30 साल के जश्न में महिला सैनिकों से हील्स में परेड करने को कहा गया है

सोशल मीडिया (Social Media) पर यूक्रेन (Ukraine) से सामने आई कुछ तस्वीरों ने लोगों का पारा हाई कर दिया है. गुस्सा आने वाली बात भी है. यहां अगले महीने देश की आजादी के 30 साल (30 Years Of Independence Of Ukraine) पूरे होने के जश्न में महिला सैनिकों से हील्स में परेड (Parade In High Heels) करवाई जाएगी. इसकी तैयारी की तस्वीरों ने हंगामा मचा दिया है.

  • Share this:
    किसी देश के लिए उसके आजादी (Independence Day) का जश्न काफी ख़ास होता है. भारत में भी हर साल पूरे जोश से इसका आयोजन होता है. लेकिन इसके आयोजन में अगर सैनिकों को टॉर्चर किया जाए, तो भला ये किस हद तक सही है? यूक्रेन में अगस्त के महीने में आजादी के 30 पूरे होने पर जश्न मनाया जाएगा. इसकी तैयारी अभी से शुरू हो गई है. इसकी तैयारी की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं. इसमें महिला सैनिकों से परेड के दौरान हील सैंडल पहनाकर (Parade In High Heels) प्रैक्टिस करवाई गई. तस्वीरें सामने आते ही बवाल शुरू हो गया.
    यूक्रेन में कई बार सैनिकों ने यूनिफॉर्म के फुटवियर जुड़ी शिकायतें की है. उनके मुताबिक, ये काफी अनकम्फर्टेबल हैं. परेड के दौरान उन्हें काफी दिक्कत होती है. इस समस्या के समाधान में यूक्रेन की डिफेन्स मिनिस्ट्री ने महिलाओं के फुटवियर में बदलाव किया है. अब इन्हें काले रंग की हील सैंडल में परेड की प्रैक्टिस करनी पड़ रही है. एक महिला सिपाही ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये मुश्किल है. लेकिन वो कोशिश कर रही हैं. बता दें कि अगले महीने यूक्रेन के सोवियत यूनियन से अलग होने साल पूरे हो जाएंगे. उसकी के उपलक्ष्य में इस परेड को करवाया जाएगा.

    ukrainian high heels parade

    शुरू हो गया विवाद
    जैसे ही परेड की प्रैक्टिस की तस्वीरें सामने आई, विवाद शुरू हो गया. एक शख्स ने लिखा कि महिलाओं के प्रति सोच को बदलने की जरुरत है. साथ ही कई ने इसे सेक्सिस्म और दिखावे से जोड़ा. एक महिला ने लिखा कि क्या इसे महिला शशक्तिकरण काम मजाक समझा जाए? देश के अंदर ही इसपर काफी बहस छिड़ गई है. कई ने इस फैसले को बेवकूफी भरा बताया. एक ने कहा कि आजादी में महिलाओं की भी बराबर भागीदारी थी. अगर वो हील्स पहन रही हैं तो पुरुषों से भी हील्स में परेड करवाई जाए.

    ukrainian high heels parade

    ऐसे मिली थी आजादी
    यूक्रेन 2014 से ही देश के औद्योगिक रूसी समर्थित अलगाववादियों से जूझ रहा है. इसमें चले संघर्ष में अब तक 13,000 से अधिक लोग मारे गए हैं. विधायिका की उपाध्यक्ष ओलेना कोंडराट्युक ने कहा कि अधिकारियों को महिलाओं को 'अपमानित' करने के लिए सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए और मामले की जांच करनी चाहिए. कोंडराट्युक ने कहा कि मौजूदा संघर्ष में 13,500 से अधिक महिलाओं ने लड़ाई लड़ी है. 31,000 से अधिक महिलाएं यूक्रेनी सशस्त्र बलों में सेवा करती हैं, जिनमें 4,000 अधिकारी शामिल हैं. ऐसे में ये इंसल्ट बर्दाश्त से बाहर है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज