पति के बेइंतहा प्यार से परेशान पत्नी ने मांगा तलाक, कहा- वो झगड़ते ही नहीं

पति के बेइंतहा प्यार से परेशान पत्नी ने मांगा तलाक, कहा- वो झगड़ते ही नहीं
शरिया कोर्ट में महिला ने तलाक की अर्जी दी है.

Women want divorce too Loved by Husband: अदालत में पत्नी ने कहा, 'जब भी मुझसे किसी तरह की कोई गलती होती है तो मेरा पति मुझे माफ कर देता है. मैं उसके साथ बहस करना चाहती हूं, लेकिन वो करता ही नहीं है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2020, 2:41 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. किसी भी पति-पत्नी (Husband-Wife) के बीच तलाक (Divorce) का सबसे बड़ा कारण होता है दोनों के बीच हर दिन होने वाला झगड़ा या मनमुटाव. रोजाना की लड़ाई से तंग आकर अक्सर पति-पत्नी एक-दूसरे से अलग होने का फैसला कर लेते हैं. लेकिन जरा सोचिए कोई महिला ये कहे कि मुझे अपने पति से तलाक इसलिए चाहिए क्योंकि वो मुझसे लड़ता ही नहीं है. मुझसे इतना प्यार करता है कि घर की सफाई, खाना बनाना, कपड़े धोना जैसे काम भी वो खुद ही कर लेता है. तो फिर आप क्या कहेंगे.

मामला थोड़ा सा अटपटा जरूर है, लेकिन उत्तर प्रदेश में ऐसा देखने को मिला है. शादी के 18 महीने बाद एक पत्नी ने शरिया कोर्ट में तलाक के लिए गुहार लगाई है. शरी अदालत में पत्नी ने कहा कि वो पति के प्यार और दयालु व्यवहार से परेशान हो चुकी है, इसलिए वो उससे अलग होना चाहती है. पत्नी ने आरोप लगाया कि कई बार उसने खाना भी बनाया और घर के कामों में उसकी मदद की, यह कहते हुए कि उनके बीच शायद ही कोई मतभेद हो.

महिला ने कोर्ट में कहा कि उसका पति हर गलती की माफी बिना बहस के दे देता है.




बिना बहस के हर गलती पर मिल जाती है माफी
अदालत में पत्नी ने कहा, 'जब भी मुझसे किसी तरह की कोई गलती होती है तो मेरा पति मुझे माफ कर देता है. मैं उसके साथ बहस करना चाहती हूं, लेकिन वो करता ही नहीं है.' पत्नी ने आगे कहा, मैं एक लड़ाई के लिए तड़प रही हूं, लेकिन मेरे रोमांटिक पति के साथ यह लगभग असंभव हो गया है.

हालांकि, अदालत ने इसे काफी अव्यावहारिक मानते हुए उसकी याचिका को खारिज कर दिया है. अदालत ने पति-पत्नी को खुद ही मामला सुलझाने के लिए कहा है. अदालत से याचिका खारिज होने के बाद महिला ने स्थानीय पंचायत से संपर्क किया, लेकिन वो भी किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंच सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज