• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • कोरोना वैक्सीन का विरोध करने वाली मॉडल का हुआ मौत से सामना! अब कर रही वैक्सीन लगवाने की वकालत

कोरोना वैक्सीन का विरोध करने वाली मॉडल का हुआ मौत से सामना! अब कर रही वैक्सीन लगवाने की वकालत

महिला को लगता था कि उसकी स्वस्थ लाइफस्टाइल के कारण उसे कोविड नहीं हो सकता इसलिए वो वैक्सीन नहीं ले रही थी. (फोटो: Instagram/@officialhollymcguire)

महिला को लगता था कि उसकी स्वस्थ लाइफस्टाइल के कारण उसे कोविड नहीं हो सकता इसलिए वो वैक्सीन नहीं ले रही थी. (फोटो: Instagram/@officialhollymcguire)

43 साल की हॉली (Holly McGuire) ने कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) का काफी विरोध (Anti vaxxer model) किया मगर जब उन्हें कोरोना हुआ और उनकी हालत ऐसी हो गई कि डॉक्टरों ने भी घुटने टेक दिये तब उन्हें समझ आया कि वैक्सीन के कितने फायदे हैं. अब वो वैक्सीन समर्थक हो गई हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) ने पिछले साल से अभी तक दुनिया में जैसी तबाही मचाई उससे कई देश अभी तक नहीं निकल पाए हैं. कोरोना की वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) आने के बाद से स्थिति कुछ सामान्य तो हुई है मगर अभी भी कोरोना का खौफ जारी है. ऐसे में वैक्सीन लगवाना बेहद जरूरी है. कुछ लोग वैक्सीन की एहमियत को नहीं समझ रहे और उसका विरोध भी कर रहे हैं. एक पेज-3 मॉडल का भी ऐसा ही मानना था. वो वैक्सीन का विरोध (Anti-vaxxer model) कर रही थी मगर जब उसने मौत को बेहद करीब से देखा तब से वैक्सीन को लेकर उसके विचार बदल गए.

    ब्रिटेन (Britain) के एसेक्स की रहने वाली 43 साल की हॉली (Holly McGuire) फिलहाल स्पेन (Spain) में रहती हैं. जब कोरोना वैक्सीन आई तो उन्होंने उसका काफी विरोध किया मगर इस बीच उन्हें दो बार कोरोना हुआ और दोनों बार उसकी तीव्रता इतनी ज्यादा थी कि वो मौत के मुंह तक पहुंच गई थीं. डॉक्टर्स ने तो उनके बचने की महज 15 फीसदी ही उम्मीद जताई थी. इसके चलते उन्हें इंड्यूस कोमा में भी रखा गया था. उनकी स्थिति इतनी बुरी हो गई थी कि उनकी सांस लेने की नली में अलग से पाइप लगाया गया था जिससे वो सांस लेती रहें. कोरोना के चलते उनके फेफड़े खराब होने लगे थे और उन्हें निमोनिया हो गया था. हॉली ने तो अपनी मां से ये तक कह दिया था कि वो अब बचेंगी नहीं. 6 हफ्तों तक अस्पताल में रहने के बाद वो जब ठीक हुईं तो उन्हें घर भेजा गया.

    शुरुआत में तो उन्होंने वैक्सीन का काफी विरोध किया. उन्हें लगता था कि वो शराब कम पीती हैं, स्मोक नहीं करतीं और एक्सरसाइज करती हैं तो उन्हें कोरोना नहीं हो सकता. इसलिए वो वैक्सीन लगवाने के खिलाफ थीं मगर कोरोना से भीषण युद्ध लड़ने के बाद जब उन्हें समझ आया कि कोविड मजाक नहीं है, और ये किसी को भी हो सकता है तो उन्होंने वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों से तो अपील की ही, खुद भी वैक्सीन लगवा ली है. उन्होंने कहा कि वो गलत थीं मगर लोग वैक्सीन ना लगवाने की गलती ना करें. वो अब लोगों को जागरूक करती हैं और ऐसे लोगों की बातें सुनने से मना करती हैं जो वैक्सीन को बेकार बताते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज