Home /News /ajab-gajab /

गर्भपात के बाद डॉक्टरों ने छोड़ दिया महिला के अंदर बच्चे का अंश! 7 महीने तक दर्द से तड़पती रही औरत

गर्भपात के बाद डॉक्टरों ने छोड़ दिया महिला के अंदर बच्चे का अंश! 7 महीने तक दर्द से तड़पती रही औरत

महिला ने बताया कि गर्भपात के कुछ महीनों बाद उन्हें काफी दर्द होने लगा और उनके लिए उठना भी कठिन हो गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला ने बताया कि गर्भपात के कुछ महीनों बाद उन्हें काफी दर्द होने लगा और उनके लिए उठना भी कठिन हो गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हाल ही में इंग्लैंड की एक महिला के गर्भपात (England Woman Miscarriage) से जुड़ी एक खबर काफी चर्चा में है. वो इसलिए कि पहले तो महिला को गर्भपात का दुख झेलना पड़ा और दूसरा ये कि अस्पताल की गलती के चलते 7 महीने तक उसके गर्भ में उसके बच्चे (Remains of baby inside woman) का कुछ अंश बचा रह गया जिसके चलते उसे भयंकर दर्द से गुजरना पड़ा. 7 महीने तक एरिका के अंदर बच्चे का बचा हुआ हिस्सा मौजूद रहा जिससे उनकी तबीयत भी बिगड़ने लगी. इस बात का पता चलने के बाद महिला ने अस्पताल के खिलाफ शिकायत करने का मन बनाया है.

अधिक पढ़ें ...

    किसी भी महिला के लिए मां बनना बेहद खुशी की बात होती है. प्रेग्नेंसी के दौरान मां हमेशा यही सोचती है कि जब वो पहली बार अपने बच्चो को गोद में उठाएगी तो उसे कैसा महसूस होगा. मगर प्रेग्नेंसी में आने वाली मुश्किलों (Problems during Pregnancy) के कारण कई बार स्थिति बिगड़ जाती है और बच्चे जीवन खत्म हो जाता है. गर्भपात की स्थिति मां के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से बेहद दर्दनाक होती है. हाल ही में इंग्लैंड की एक महिला के गर्भपात (England Woman Miscarriage) से जुड़ी एक खबर काफी चर्चा में है. वो इसलिए कि पहले तो महिला को गर्भपात का दुख झेलना पड़ा और दूसरा ये कि अस्पताल की गलती के चलते 7 महीने तक उसके गर्भ में उसके बच्चे (Remains of baby inside woman) का कुछ अंश बचा रह गया जिसके चलते उसे भयंकर दर्द से गुजरना पड़ा.

    इंग्लैंड के बर्सलम में रहने वाली 38 साल की एरिका (Ericka Hall) 4 बच्चों की मां हैं. वो अपने पांचवें बच्चे को जन्म देने वाली थीं. मार्च में जब वो अपने 12वें हफ्ते का स्कैन करवाने अस्पताल पहुंचीं तो उन्हें पता चला कि उनका गर्भपात हो गया है. उनके बच्चे की मौत हो गई है. उन्हें काफी ब्लीडिंग हो रही थी. डॉक्टरों ने उनके शरीर में ब्लड ट्रांस्फ्यूजन किया. और उसी रात उनके शरीर से भ्रूण को निकाल दिया गया. कुछ महीनों बाद उनके शरीर में बेहद दर्द होने लगा. दर्द से वो तड़प रही थीं जिसे वो सहन भी नहीं कर पा रही थीं. उनके पार्टनर उन्हें तुरंत अस्पताल लेकर गया जहां गर्भपात के बाद उनके शरीर से भ्रूण को निकाला गया था. डॉक्टरों ने बताया कि भ्रूण का कुछ भाग अभी भी शरीर में मौजूद है जिसके चलते उन्हें दर्द हो रहा था.

    इस बात के सामने आने के बाद एरिका ने अस्पताल प्रशासन को घेर लिया है. उनका कहना है कि अस्पताल ने इतनी बड़ी गलती कैसे कर दी है. उन्होंने कहा- “मुझे लगा कि मुझे किसी तरह का इंफेक्शन हो रहा है. मेरे पेट में भयंकर दर्द होने लगा. मैं अस्वस्थ मेहसूस कर रही थी. मैंने यूरिन टेस्ट करवाया मगर उसमें कुछ भी नहीं निकला. इस बीच मेरा दर्द इतना बढ़ गया था कि मैं बिस्तर से भी बाहर नहीं निकल पा रही थी. उस बीच में 14 दिन में तीन बार अस्पताल गई मगर डॉक्टर नहीं समझ पाए कि मुझे क्या हो रहा है. जब उन्होंने स्कैन किया तो पाया कि मार्च के महीने से मेरे अंदर भ्रूण का कुछ हिस्सा बचा हुआ है जिसे नहीं निकाला गया.” इस वजह से एरिका को कीहोल सर्जरी करवानी पड़ी जिसके जरिए शरीर से बाकी बच्चे हिस्से को भी निकाला गया. अब एरिका अस्पताल के खिलाफ प्रशासन से शिकायत करने वाली हैं. हालांकि अस्पताल ने उनसे माफी मांगी है.

    Tags: Ajab Gajab news, OMG News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर