Home /News /ajab-gajab /

पेट में अब तक चिपका होगा सालों पहले निगला Chewing Gum? जानकारों ने दिया आपकी इस चिंता का जवाब

पेट में अब तक चिपका होगा सालों पहले निगला Chewing Gum? जानकारों ने दिया आपकी इस चिंता का जवाब

च्युइंग गम खाने से जुड़ी ये बात काफी वक्त से सुनने को मिल रही है मगर लोग नहीं जानते कि ये सच है या झूठ. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

च्युइंग गम खाने से जुड़ी ये बात काफी वक्त से सुनने को मिल रही है मगर लोग नहीं जानते कि ये सच है या झूठ. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

च्युइंग गम को लेकर कई तरह की भ्रांतियां (Rumours related to chewing gum) और अफवाएं फैलती हैं जो आज से नहीं सालों से सुनने को मिल रही हैं. भले ही मां-बाप बच्चों को च्युइंग गम (Chewing Gum for kids) खाने से रोकने के लिए ऐसी बातें बोलते हैं मगर कई लोग तो बड़े होने तक इन बातों को सच माने रहते हैं. तो चलिए आज हम आपकी च्युइंग गम से जुड़ी एक उलझन को दूर कर देते हैं. अगर आपको भी ऐसा लगता है कि आपने कुछ सालों पहले च्युइंग गम निगल लिया था और वो 7 सालों तक आपके पेट (chewing gum stuck in stomach) में चिपका रहेगा तो ये महज एक अफवाह है. इस बात में जरा भी सच्चाई नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    बचपन से ही हमारे अंदर खाने-पीने से जुड़ी कई चीजों का डर बैठा दिया जाता है जिससे हम उन चीजों का सेवन ना करें. जैसे आपने अक्सर सुना होगा कि तरबूज का बीज निगल लेने से पेट में तरबूज का पेड़ उग जाता है. वहीं आपने ये भी सुना होगा कि ज्यादा पानी पीने से पेट में कीचड़ होने लगता है. उसी तरह आपने ये भी जरूर सुना होगा कि च्युइंग गम अगर निगल (Swallowing Chewing Gum) लिया तो पेट में 7 सालों (Gum remains for 7 years in body) तक चिपका रहता है और इससे शरीर को काफी नुकसान पहुंचता है.

    च्युइंग गम को लेकर कई तरह की भ्रांतियां (Rumours related to chewing gum) और अफवाएं फैलती हैं जो आज से नहीं सालों से सुनने को मिल रही हैं. भले ही मां-बाप बच्चों को च्युइंग गम (Chewing Gum for kids) खाने से रोकने के लिए ऐसी बातें बोलते हैं मगर कई लोग तो बड़े होने तक इन बातों को सच माने रहते हैं. तो चलिए आज हम आपकी च्युइंग गम से जुड़ी एक उलझन को दूर कर देते हैं. अगर आपको भी ऐसा लगता है कि आपने कुछ सालों पहले च्युइंग गम निगल लिया था और वो 7 सालों तक आपके पेट (chewing gum stuck in stomach) में चिपका रहेगा तो ये महज एक अफवाह है. इस बात में जरा भी सच्चाई नहीं है. अमेरिका के फ्लोरिडा में प्रैक्टिस करने वाले गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट डेविड मिलोव के अनुसार च्युइंग गम निगलने के बाद वो सीधे छोटी आंत में पहुंचता है. और वहां से मल के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाता है. हालांकि ये पूरा प्रोसेस अन्य खाने की चीजों को मुकाबले थोड़ा धीमा होता है.

    7 दिन में शरीर से निकल जाता है च्युइंग गम
    रिपोर्ट्स के अनुसार च्युइंग गम में स्वीटनर, फ्लेवरिंग, प्रिजर्वेटिव और सॉफ्टनर डला होता है जो आसानी से हजम हो जाता है. च्युइंग गम का जो गम बेस है वो सिंथेटिक पॉलीमर्स और रबर जैसे तत्वों से बना है इसलिए वो हजम नहीं होता. मगर इसका ये मतलब नहीं है कि वो पेट में चिपक जाता है. जैसे ही छोटी आंत में गम पहुंचता है, आंत उसमें से हजम होने वाली चीज को निकाल लेती है और वो धीरे-धीरे मल के रास्ते होते हुए शरीर से बाहर निकल जाता है. इस प्रोसेस को पूरा होने में 7 दिन तक लग सकते हैं. 7 दिन सुनकर भी घबराने की बात नहीं है क्योंकि मक्का, नट, बीन जैसी कई चीजें होती हैं जिन्हें हजम करने में लगभग इतना ही वक्त लगता है.

    निगलने से हो सकती हैं अन्य समस्याएं
    अब जब आपको ये पता लग चुका है कि च्युइंग गम गलती से निगल लेने पर घबराने की जरूरत नहीं है. तो ये भी जान लीजिए कि च्युइंग गम निगल लेना शरीर के लिए दूसरी तरह से खतरनाक (Chewing Gum harmful effects) हो सकता है. गलत तरीके से घोंटने पर ये नली को भी चोक कर सकता है और आंतों को भी ब्लॉक कर सकता है. इसलिए बच्चों को हमेशा ही ये सिखाना चाहिए कि वो च्युइंग गम को कभी न निगलें. निगलने का कोई बुरा असर नहीं पड़ेगा, इसका ये अर्थ नहीं है कि उसे निगला जाए क्योंकि वो दूसरी तरह से बुरा प्रभाव शरीर पर डाल सकता है.

    Tags: Ajab Gajab news, OMG News

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर