• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • बच्चे को चलने में होती थी मुश्किल तो माता-पिता ने कराया चेकअप, रिपोर्ट में हुआ गंभीर बीमारी का खुलासा

बच्चे को चलने में होती थी मुश्किल तो माता-पिता ने कराया चेकअप, रिपोर्ट में हुआ गंभीर बीमारी का खुलासा

रॉरी अब चार साल का हो चुका है मगर अभी भी उसे चलने में तकलीफ होती है. (twitter/@viralbombs)

रॉरी अब चार साल का हो चुका है मगर अभी भी उसे चलने में तकलीफ होती है. (twitter/@viralbombs)

ब्रिटेन (Britain) के रहने वाले 38 साल के जॉन बेंट्ले (John Bentley) और उनकी पत्नी केरी नोटिस करना शुरू किया कि उनका 18 महीने का बेटा अजीब तरह से चलता है और चलते-चलते (Child unable to walk) अचानक गिर जाता है. जब कपल ने उसका चेकअप करवाया तो रिपोर्ट देखकर दंग रह गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    हर मां-बाप (Parents) चाहता है कि उनका बच्चा स्वस्थ्य रहे. इसके लिए वो अपने बच्चे की परवरिश में कोई कमी नहीं छोड़ते हैं मगर जब किसी माता-पिता को पता चलता है कि उनके छोटे से मासूम बच्चे को कोई गंभीर बीमारी है तो उनके पैरों तले जमीन खिसक जाती है. हाल ही में एक माता-पिता के साथ ऐसा ही हुआ. जब उन्हें पता चला कि उनके बेटे को ऐसी बीमारी है जिससे उसकी पूरी जिंदगी बदल जाएगी (life changing disease) तो वो दंग रह गए.

    ब्रिटेन (Britain) के रहने वाले 38 साल के जॉन बेंट्ले (John Bentley) और उनकी पत्नी केरी ने एक दिन पाया कि उनका 18 महीने का बेटा अजीब तरह से चलता है और चलते-चलते अचानक गिर जाता है. कपल ने लिवरपूल एको से बात करते हुए कहा कि उन्होंने नोटिस किया कि उनका बच्चा बहुत जल्दी थक जाता है और चलते-चलते गिर पड़ता है. फिर से खड़े होने में भी उसे मुश्किल होती है. जब उन्हें इस बात का अंदाजा लगा तो वो समझ गए कि बेटे को किसी तरह की समस्या है. उन्होंने कई डॉक्टर्स को दिखाया मगर वे बच्चे की बीमारी के जड़ तक नहीं पहुंच पाए. लेकिन एक बार जब उन्होंने लंदन के एक डॉक्टर को दिखाया तो उन्होंने बच्चे का डीएनए टेस्ट (DNA Test) करवाने को कहा. जब डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट आई तो कपल वो देखकर दंग रह गया. कपल को पता चला कि उनके बेटे को मस्क्यूलर डायस्ट्रॉफी (Muscular dystrophy) की समस्या है.

    रॉरी अब चार साल का हो चुका है मगर अभी भी उसे चलने में तकलीफ होती है. मस्क्यूलर डायस्ट्रॉफी एक तरह की कंडीशन है जिसमें मांसपेशियों के फाइबर म्यूटेट यानी बढ़ने लगते हैं जिसके कारण वो ठीक ढंग से काम नहीं करते. ये एक हिस्से की मस्ल्स में होता है और फिर शरीर के दूसरे हिस्से में भी हो जाता है जिससे इंसान विकलांग हो सकता है. कपल ने बताया कि उनका बेटा रॉरी जब 3 साल का था तब उन्हें इस बीमारी के बारे में पता चला. उस वक्त ब्रिटेन पहले कोरोना लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा था इस वजह से वो लोग और भी परेशान थे. रॉरी के होने से एक साल पहले कपल का पहला बेटा थॉमस पैदा हुआ था. इस वजह से कपल ने रॉरी को देखकर ये अंदाजा लगा लिया था कि उसके शरीर में कुछ तो समस्या है. कपल ने बताया कि उनका बच्चा, उसकी उम्र के बाकी बच्चों की तुलना में जल्दी थक जाता है. वो ज्यादा खेलकूद भी नहीं पाता और उसे जल्द ही आराम करने का मन करने लगता है. अब मां बाप ने बच्चे का इलाज करवाने का फैसला किया है. इसके लिए वो ऑनलाइन फंड्स भी जुटा रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज