Home /News /ajab-gajab /

भारत का अनोखा गांव जहां हर शख्स को नाम के साथ दिया जाता है खास गाना, गाकर एक-दूसरे को पुकारते हैं लोग

भारत का अनोखा गांव जहां हर शख्स को नाम के साथ दिया जाता है खास गाना, गाकर एक-दूसरे को पुकारते हैं लोग

गांव अपनी खूबसूरती के लिए काफी फेमस हो चुका है. (फोटो: twitter)

गांव अपनी खूबसूरती के लिए काफी फेमस हो चुका है. (फोटो: twitter)

भारत के मेघालय में एक गांव है कॉन्गथॉन्ग (Kongthong, Meghalaya). इस गांव को यूनाइटेड नेशन्स वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गनाइजेशन की ओर से बेस्ट टूरिज्म विलेज का पुरस्कार मिल चुका है. गांव को ये टाइटल अपनी खूबसूरती और यहां के लोगों के अच्छे व्यवहार के लिए मिला है. मगर इस गांव से जुड़ी एक और बेहद अनोकी बात है जो शायद कहीं और देखने को नहीं मिलेगी. वो है यहां के लोगों के नाम के साथ मिलने वाले खास गाने (Songs for Name of People). इस वजह से गांव को विसलिंग विलेज (Indian Whistling Village) यानी सीटी बजाने वाला गांव भी कहा जाता है.

अधिक पढ़ें ...

    जब बच्चा पैदा होता है तो माता-पिता और पिरवार के अन्य सदस्य उसके लिए नाम खोजने में लग जाते हैं. अक्सर ऐसे नाम का चयन किया जाता है जो दूसरे के नामों से काफी अलग हो और जिसका अर्थ अच्छा हो. आज के वक्त में तो नाम इंटरनेट के जरिए ही ढूंढ लिए जाते हैं इसलिए बच्चों के काफी नए और अनोखे नाम (Unique Name of Kids) सुनाई पड़ते हैं. मगर भारत में एक ऐसा गांव (Amazing Indian Village) है जहां बच्चे के पादा होते ही उसे सिर्फ नाम ही नहीं, एक गाना (Village Where Everyone Has a Song with Name) भी दिया जाता है जो उसके साथ जीवनभर के लिए जुड़ जाता है.

    भारत के मेघालय में एक गांव है कॉन्गथॉन्ग (Kongthong, Meghalaya). इस गांव को यूनाइटेड नेशन्स वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गनाइजेशन की ओर से बेस्ट टूरिज्म विलेज का पुरस्कार मिल चुका है. गांव को ये टाइटल अपनी खूबसूरती और यहां के लोगों के अच्छे व्यवहार के लिए मिला है. मगर इस गांव से जुड़ी एक और बेहद अनोकी बात है जो शायद कहीं और देखने को नहीं मिलेगी. वो है यहां के लोगों के नाम के साथ मिलने वाले खास गाने (Songs for Name of People). इस वजह से गांव को विसलिंग विलेज (Indian Whistling Village) यानी सीटी बजाने वाला गांव भी कहा जाता है.


    बच्चों के लिए माता-पिता बनाते हैं गाना
    रिपोर्ट्स की मानें तो गांव में करीब 650 लोग रहते हैं. रोचक बात ये है कि यहां के लोगों के नाम आम नामों की ही तरह हैं जिसे वो आधिकारिक चीजों के लिए इस्तेमाल करते हैं मगर इन नाम के साथ उनके लिए खास धुन (Unique tunes for names in Meghalaya Village) भी बनाई गई है. यहां माता-पिता बच्चा पैदा होते ही उसके लिए अनोखी धुन बनाते हैं. ये गाने बच्चों के नाम के साथ ही जुड़ जाते हैं. लोग जीवन भर अपने नाम के साथ-साथ इन गानों से भी जाने जाते हैं. आखिरी सांस तक गाने लोगों की पहचान बन जाते हैं और गाना गाकर ही यहां लोग एक दूसरे को पुकारते हैं.

    सालों से चली आ रही है प्रथा
    बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार गांव के निवासी शिदिआप खोंगसित ने कहा- “ये गाना एक मां के प्यार का सबूत है जो दिखाता है कि वो अपने बच्चे के पैदा होने पर कितनी खुश है. ये गाना माता-पिता के दिल से निकला गाना होता है जिसे लोरी की तरह बच्चों को सुनाया जाता है.” आपको बता दें कि मेघालय में इस गाने को जिंग्रवई इयॉबी (Jingrwai Iawbei) कहा जाता है जिसका अर्थ होता है दादी मां का गीत (Grandmother’s Song). गांव की रहनी वाली तीन प्रजातियों के अनुसार सदियों से नाम के साथ गाना देने की परंपरा यहां चली आ रही है. पुराने वक्त में शिकार करने के दौरान गाने वाले नामों का इस्तेमाल करने से बुरी आत्माएं दूर रहती थीं.

    Tags: Ajab Gajab news, OMG News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर