Home /News /ajab-gajab /

10 लाख सिगरेट जुटाकर शख्स ने किया सबको हैरान, फेफड़ों को जलाने की जगह करता है खास काम!

10 लाख सिगरेट जुटाकर शख्स ने किया सबको हैरान, फेफड़ों को जलाने की जगह करता है खास काम!

शख्स की अपनी एक वेबसाइट भी जिसके जरिए वो लोगों को अपने कार्यों के बारे में बताता है. (फोटो: miguichonicotinaasesina)

शख्स की अपनी एक वेबसाइट भी जिसके जरिए वो लोगों को अपने कार्यों के बारे में बताता है. (फोटो: miguichonicotinaasesina)

इक्वीडॉर के गालापागोस आइलैंड (Galapagos Island, Ecudor) पर रहने वाले मिगुइचो (Miguicho) की जिंदगी काफी मुश्किलों से भरी थी. मुश्किल भरे बचपन से गुजरने के बाद उन्होंने मछली पकड़ने का काम शुरू किया. 35 साल की उम्र में एक बार वो बीच समुद्र में मछली पकड़ रहे थे जब उनकी नाव का इंजन खराब हो गया और वो 77 दिनों तक वहीं फंसे रहे. इसके बाद उन्हें बचा लिया गया मगर फिर उसके बाद वो अपने कुछ कर्ज नहीं चुका पाए तो उन्हें जेल भी भेज दिया गया. मगर शख्स ने हार नहीं मानी और फिर कुछ ऐसा किया कि आज उसे दुनिया में बहुत लोग जानते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    अगर कोई इंसान अपनी जिंदगी में हार मान ले तो वो हमेशा ही हारा हुआ रह जाता है. जीतने के लिए इच्छा शक्ति की भी जरूरत होती है क्योंकि तभी कोई इंसान कोशिश करना जारी रखता है. नहीं तो एक बार हार का सामना करने के बाद हर कोई अपने कार्य को बीच में ही छोड़ देना चाहता है. ऐसा ही एक शख्स के साथ भी हुआ. मगर उसने अपना नाम इस बात से फेमस कर लिया जब उसने 10 लाख से भी ज्यादा सिगेरट जुटायी (Man Collected 10 lakh cigarette butts) है. पर इस शख्स की कहानी सिर्फ इतनी सी नहीं है.

    इक्वीडॉर के गालापागोस आइलैंड (Galapagos Island, Ecudor) पर रहने वाले मिगुइचो (Miguicho) की जिंदगी काफी मुश्किलों से भरी थी. जब वो महज 5 साल के थे तब उनकी मां की एक भूकंप में मौत हो गई थी. उसके बाद उनके पिता की भी जल्द ही मौत हो गई. इस कारण से वो पढ़-लिख नहीं पाए. उन्होंने मछली पकड़ने का काम शुरू किया. 35 साल की उम्र में एक बार वो बीच समुद्र में मछली पकड़ रहे थे जब उनकी नाव का इंजन खराब हो गया और वो 77 दिनों तक वहीं फंसे रहे. इसके बाद उन्हें बचा लिया गया मगर फिर उसके बाद वो अपने कुछ कर्ज नहीं चुका पाए तो उन्हें जेल भी भेज दिया गया.

    Man collects cigarette butts 1

    मिगुइचो की कहानी काफी मोटिवेटिंग है. (फोटो: miguichonicotinaasesina)

    अपनी जिंदगी को पूरी तरह से बदला
    उस दौरान मिगुइचो पूरी तरह से टूट चुके थे. उन्हें शराब पीने की लत लग चुकी थी. यही वो वक्त था जब उन्हें लगा कि उनकी जिंदगी खत्म हो चुकी है मगर उन्होंने हार नहीं मानी. मिगुइचो ने 52 साल की उम्र में पढ़ना सीखा और खूब एक्सरसाइज शुरू कर दी. जल्द ही उनका स्वास्थ्य सुधरने लगा. 68 साल की उम्र में वो मैराथन दौड़ने लगे और उनके काफी पुरस्कार भी मिले.

    शुरू किया पर्यवारण को बचाने का काम
    तब मिगुइचो को समझ आया कि पर्यावरण को बचाना कितना जरूरी है. उसी वक्त उन्होंने फैसला किया कि अपने शहर को वो साफ करेंगे. इसके लिए उन्होंने तय किया कि वो सड़क पर पड़े सिगरेट के टुकड़ों से शुरुआत करेंगे और सड़कों को उनसे मुक्त करेंगे. मिगुइचो हर दिन ढेरों सिगरेट के टुकड़े उठाते और महज कुछ ही महीनों में उन्होंने 10 लाख से भी ज्यादा सिगरेट के टुकड़े जुटा लिए. इन टुकड़ों ने उन्होंने गजब की मूर्तियां और क्राफ्ट बनाना शुरू किया. उनके इन क्राफ्ट्स को बहुत पहचान मिली और सोशल मीडिया पर भी लोग उनकी काफी तारीफ करने लगे हैं. उनकी अब एक वेबसाइट भी है. वो लोगों को सिगरेट ना पीने के लिए जागरूक तो करते ही हैं साथ में शहर की सफाई के भी काम में लगे हैं.

    Tags: Ajab Gajab news, OMG News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर