अपना शहर चुनें

States

तूफान में उजड़ गया था मकान, स्‍कूली दोस्‍तों ने दिवाली पर गिफ्ट किया नया घर

तूफान में उजड़ गया था घर. (प्रतीकात्‍मक फोटो)
तूफान में उजड़ गया था घर. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

तमिलनाडु के पुडुक्‍कोट्टाई के रहने वाले 44 साल के मुथुकुमार ट्रक चालक हैं. उनकी प्रतिमाह 15000 रुपये तक कमाई होती थी. लेकिन लॉकडाउन के कारण उनकी कमाई 2000 रह गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 2:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कहते हैं दोस्‍ती बहुत ही खास होती है. अगर स्‍कूल के दिनों में कोई दोस्‍त बन जाए तो फिर शायद उससे दोस्‍ती अंतिम सांस तक चलती है. ऐसे दोस्‍त हर सुख-दुख में साथ रहते हैं. कोई भी परेशानी आए तो वह हमेशा मदद को तैयार रहते हैं. ऐसी ही एक घटना तमिलनाडु (Tamil Nadu) में देखने को मिली है. यहां स्‍कूल के दोस्‍तों ने एक व्‍यक्ति को दिवाली (Diwali) पर नया घर गिफ्ट किया है.

दरअसल तमिलनाडु के पुडुक्‍कोट्टाई के रहने वाले 44 साल के मुथुकुमार ट्रक चालक हैं. उनकी प्रतिमाह 15000 रुपये तक कमाई होती है. इतनी आमदनी से वह घर चला लेते हैं. लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से उनकी नौकरी चली गई. अब उनकी जो कमाई 15000 रुपये होती थी, अब वो घट कर 2000 रह गई. इससे वह काफी परेशान रहने लगे. उनका और उनके परिवार का जीवनयापन इतने रुपये में संभव नहीं रहा.

उन पर एक ओर तो कोरोना महामारी तो दूसरी ओर उनके घर पर गाजा तूफान का भी कहर टूटा था. गाजा तूफान के कारण उनके घर की छत उड़ गई थी. घर के आसपास के पेड़-पौधे भी टूट गए थे. इससे उनका परिवार और भी दुखी था.



कुछ महीने पहले मुथुकुमार के स्‍कूल के दोस्‍त उनकी एक टीचर के घर पर रियूनियन के रूप में मिले थे. उस दौरान मुथुकुमार ने दोस्‍त के. नागेंद्रन को घर पर आमंत्रित‍ किया था. के. नागेंद्रन हाल ही में दोस्‍त मुथुकुमार के घर पहुंचे तो उसकी और उसके परिवार की हालत देखकर काफी दुखी हुए. इसके बाद उन्‍होंने उसकी मदद करने की योजना बनाई.

नागेंद्रन ने इसके लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया. वाट्सऐप पर एक ग्रुप बनाया. उसमें स्‍कूल के दोस्‍तों को जोड़ा और उनसे मदद के लिए अपील की. कुछ ही दिनों में उनके पास 1.5 लाख रुपये एकत्र हो गए. इसके बाद अभी दिवाली में दोस्‍तों ने मुथुकुमार और उनके परिवार को नया घर बनवाकर गिफ्ट किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज