VIDEO: उम्र 100 के पार, करते हैं लोकतंत्र का प्रचार-'वोट जरूर दें'

आजादी के कई दशक देख चुके हेमराज आज भी तमन्ना रखते हैं कि वे इस बार के लोकसभा और विधानसभा चुनाव मे वोट डालने जाएं और एक अच्छा नेता चुन कर लाएं. एक ऐसा नेता जो गरीबों को खुली आंख से देखे और और उनकी मदद करे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 17, 2019, 7:31 AM IST
  • Share this:
गया जिला मुख्यालय से 35 किमी दूर इटवा गांव में रहने वाले 108 साल के हेमराज पासवान कई चुनाव देख चुके हैं. हेमराज का कहना है कि जब तक उनकी सांस चलेगी तब तक वे वोट डालते रहेंगे. हेमराज एक लाठी के सहारे चलते हैं, यादाश्त भी थोड़ी कम हो गई है लेकिन जज़्बा अब भी बरकरार है.

ये भी देखें- CCTV: ट्रेलर-वैन की जबरदस्त भिड़ंत, सड़क किनारे खड़े शख्स को छूकर गुजरी मौत

आजादी के कई दशक देख चुके हेमराज आज भी तमन्ना रखते हैं कि वे इस बार के लोकसभा और विधानसभा चुनाव मे वोट डालने जाएं और एक अच्छा नेता को चुन कर लाएं. एक ऐसा नेता जो गरीबों को खुली आंख से देखे और और उनकी मदद करे. हेमराज पासवान फतेहपुर प्रखंड के इटवा गांव मे रहते हैं. उनके छोटे बेटे टुनटुन पासवान फतेहपुर प्रखंड के मुखिया हैं.



हेमराज बताते हैं कि आजादी के बाद पहली बार 1952 मे बार लोक सभा का चुनाव हुआ था, तब मैंने वोट दिया था, उस समय हाथ में मोहर मारते थे, पर्ची देते थे और एक कोने मे बक्सा रहता था. अब तो मशीन से वोट डालते हैं, पहले इतनी पुलिस भी नहीं रहती थी, मारपीट नहीं होती थी. अब तो बंदूक गोली से चुनाव जीते जाते हैं. वे अब भी लोगों को चुनाव में वोट डालने के लिए प्रेरित करते हैं. अपनी लड़खड़ाती अवाज में वे कहते है कि वोट डालने जरुर जाएं और उसी को वोट दे जो अपनी आंखे खोलकर लोगों की मदद करे.
ऐसी ही अजब-ग़ज़ब कहानियों और VIDEOS के लिए क्लिक करें 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज