लाइव टीवी

VIRAL VIDEO: यहां कभी भालू घूमते हैं तो कभी अजगर, पावर प्लांट है या चिड़ियाघर?

News18Hindi
Updated: March 12, 2019, 3:44 PM IST

इन दिनों कोटा थर्मल पावर प्लांट वाइल्डलाइफ सेंचुरी बना हुआ है. यहां कभी भी भालू, अजगर, रैटल स्नेक प्रजाति के सांप नजर आ जाते हैं. इससे थर्मल पावर प्लांट में काम करने वाले कर्मचारियों में दशहत बनी हुई है. कल रात थर्मल कर्मचारियों को क्लेरी फायर प्लांट के पास चार भालूओं का कुनबा दिखाई दिया. उनमें दो बडे और दो छोटे भालू थे. एक साथ चार भालूओं को विचरण करते देखकर थर्मल कर्मचारी डर गए और तुरंत अपने अधिकारियों को इसकी सूचना दी. साथ ही अन्य थर्मल कर्मचारियों को कंट्रोल रूम से सतर्क रहने का मैसेज दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2019, 3:44 PM IST
  • Share this:
इन दिनों कोटा थर्मल पावर प्लांट वाइल्डलाइफ सेंचुरी बना हुआ है. यहां कभी भी भालू, अजगर, रैटल स्नेक प्रजाति के सांप नजर आ जाते हैं. इससे थर्मल पावर प्लांट में काम करने वाले कर्मचारियों में दशहत बनी हुई है. कल रात थर्मल कर्मचारियों को क्लेरी फायर प्लांट के पास चार भालूओं का कुनबा दिखाई दिया. उनमें दो बडे और दो छोटे भालू थे. एक साथ चार भालूओं को विचरण करते देखकर थर्मल कर्मचारी डर गए और तुरंत अपने अधिकारियों को इसकी सूचना दी. साथ ही अन्य थर्मल कर्मचारियों को कंट्रोल रूम से सतर्क रहने का मैसेज दिया गया.

ये भी देखें- VIRAL VIDEO: फेसबुक पर परेशान कर रहे मनचले को ऐसे सिखाया सबक

थर्मल प्लांट में पिछले दो सालों से इस तरह जानवर देखें जा रहे हैं लेकिन वन विभाग इन्हें पकड़ पाने में नाकामयाब साबित हो रहा है. कुछ महीनों पहले ही थर्मल प्लांट से बाहर आए भालू ने एक महिला और एक युवक पर हमला कर घायल कर दिया था.

दो दिन पहले भी प्लांट परिसर में करीब 5 फीट से लंबा अजगर और 4 फीट लंबा रैटल स्नेक दिखाई दिया. इन जानवरों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. थर्मल कर्मचारियों की मांग है कि इन खतरनाक जानवरों को पकड़ कर जंगल में छोड़ा जाए ताकि वे सुरक्षित होकर प्लांट में काम कर सकें.

ऐसी ही अजब-ग़ज़ब कहानियों और VIDEOS के लिए क्लिक करें 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वायरल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 12, 2019, 3:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...