हादसे का शिकार होने वाली थी मेट्रो, 'व्‍हेल की पूंछ' ने बचाई ड्राइवर और यात्रियों की जान

व्‍हेल की पूंछ में जा फंसी मेट्रो.
व्‍हेल की पूंछ में जा फंसी मेट्रो.

मेट्रो (Metro) को स्‍टेशन पर ही रुकना था. इस स्‍टेशन के आगे मेट्रो लाइन नहीं है. लेकिन कुछ गड़बड़ी होने से चालक उसे प्‍लेटफार्म पर रोक नहीं पाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 8:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दुनिया भर में रोजाना तमाम हादसे (accident) होते हैं. इनमें बड़ी संख्‍या में लोगों की मौत भी होती है. वहीं कुछ ऐसे भी होते हैं, जो बड़े से बड़े हादसों में भी मौत को हराकर वापस आते हैं. ऐसा ही कुछ हुआ है नीदरलैंड (Netherlands) के रॉटरडम शहर में. वहां एक मेट्रो ट्रेन (Metro rail) आखिरी स्‍टेशन या हॉल्‍ट पर पहुंची थी. लेकिन कुछ गड़बड़ी होने से चालक उसे प्‍लेटफार्म पर रोक नहीं पाया. इसके बाद जो हुआ उससे सभी लोग हैरान हैं.

दरअसल, मेट्रो को इस स्‍टेशन पर ही रुकना था. इस स्‍टेशन के आगे मेट्रो लाइन नहीं है. यह मेट्रो स्‍टेशन रॉटरडम के दक्षिणी हिस्‍से में स्थि‍त है. इस स्‍टेशन पर व्‍हेल की एक‍ विशालकाय मूर्ति भी लगी हैं. ऐसे में हादसे वक्‍त ड्राइवर मेट्रो को नहीं रोक पाया. इसके बाद मेट्रो उसी लाइन पर आगे बढ़ते हुए स्‍टेशन पार कर गई. लेकिन आगे रेल पटरी थी नहीं तो मेट्रो आगे व्‍हेल मछली की मूर्ति से जा टकराई.

मूर्ति से टकराने के दौरान मेट्रो में एक ड्राइवर और दो यात्री सवार थे. उनके अलावा 50 से अधिक लोग नीचे मौजूद होकर सब देख रहे थे. लेकिन इस दौरान सभी की जान व्‍हेल की पूंछ ने बचा ली. दरअसल मेट्रो ट्रेन मछली का दो पूंछों के बीच जाकर फंस गई और नीचे गिरने या हादसे का शिकार होने से बच गई.

अब इंजीनियर इस बात पर विचार-विमर्श करने की कोशिश में हैं कि आखिर अबमेट्रो को व्‍हेल की पूंछ से हटाकर नीचे कैसे उतारा जाए, वो भी बिना किसी नुकसान के. इसके साथ ही प्रशासन ने घटना की जांच भी शुरू कर दी है. वह इस बात का पता लगाने का प्रयास कर रही है कि मेट्रोस्‍टेशन पर मौजूद बैरियर पर मेट्रो क्‍यों नहीं रुकी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज