'विनर-विनर चिकन डिनर' कहकर फैंस ने निकाली PUBG की अंतिम यात्रा, देखें वीडियो

'विनर-विनर चिकन डिनर' कहकर फैंस ने निकाली PUBG की अंतिम यात्रा, देखें वीडियो
फैंस ने निकाली पबजी की अंतिम यात्रा.

भारत में पबजी (PUBG Mobile) के बैन होने से इसके फैंस में निराशा का माहौल है. सोशल मीडिया भी पबजी पर भारत में बैन को लेकर मीम्‍स से भरा पड़ा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 10:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. लद्दाख (Ladakh) में चीन (China) की गुस्‍ताखियों को लेकर उसे सबक सिखाने के लिए भारत में सरकार ने लोकप्रिय गेमिंग ऐप पबजी सहित चीन की कंपनियों से जुड़े 224 अन्य मोबाइल ऐप पर को प्रतिबंध लगा दिया है. इन्हें भारत की संप्रभुता, अखंडत, सुरक्षा और शांति-व्यवस्था के लिए खतरनाक मानते हुए इन पर पाबंदी लगाई गई है. भारत में पबजी (PUBG Mobile) सबसे ज्‍यादा खेला जाता था. देश में इसके फैंस और गेमर्स की संख्‍या हजारों में है. ऐसे में पबजी के बैन होने से इन लोगों में निराशा का माहौल है. सोशल मीडिया भी पबजी पर भारत में बैन को लेकर मीम्‍स से भरा पड़ा है. ऐसा ही एक वीडियो आजकल खूब वायरल हो रहा है. इसमें फैंस पबजी का अंतिम संस्‍कार निकालते दिख रहे हैं.

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह वीडियो पबजी लवर्स के बीच काफी चर्चा का विषय बना हुआ है. इस वीडियो में दिख रहा है कि कई सारे पबजी फैन एक जगह एकत्र हैं. इसके बाद वे सभी पबजी पोस्‍टर लगी एक अर्थी को कांधा दे रहे हैं. पबजी को अंतिम संस्‍कार के लिए ले जाते समय ये फैंस 'विनर-विनर चिकन डिनर' कह रहे हैं. इसके बाद एक फैंस के घर पर पबजी की फोटो रखी है. अगरबत्‍ती जल रही है. फूल माला चढ़े हैं. इस बीच एक-एक कर लोग एक व्‍यक्ति के पास आकर पबजी के 'मर' जाने पर सांत्‍वना दे रहे हैं.





FuneralPUBG Feat - ( Gangs of Wasseypur )Posted by Assam Blogger on Saturday, 5 September 2020


इस वीडियो को सोशल मीडिया पर लोग काफी पसंद कर रहे हैं. बता दें कि भारत में जिन चीनी एप पर प्रतिबंध लगाया गया है, उनकी संख्या बढ़कर अब 224 हो गई है. इन प्रतिबंधित ऐप में बायदू, बायदू एक्सप्रेस एडिशन, अलीपे, टेनसेंट वॉचलिस्ट, फेसयू, वीचैट रीडिंग, गवर्नमेंट वीचैट, टेनसेंट वेयुन, आपुस लांचर प्रो, आपुस सिक्योरिटी, कट कट, शेयरसेवा बाइ श्याओमी और कैमकार्ड के अलावा पबजी मोबाइल और पबजी मोबाइल लाइट शामिल हैं.

ये सभी प्रतिबंधित ऐप चीन से जुड़ी कंपनियों के हैं. सरकार ने इससे पहले टिकटॉक और यूसी ब्राउजर समेत चीन के कई अन्य ऐप पर प्रतिबंध लगाया था. सरकार ने यह कदम ऐसे समय उठाया है, जब लद्दाख में चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव और बढ़ गया है. सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्रालय को विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं. इन शिकायतों में एंड्रॉयड व आईओएस जैसे प्लेटफॉर्म पर मौजूद कुछ मोबाइल ऐप के उपयोक्ताओं (यूजरों) का डेटा चुराकर देश से बाहर के सर्वरों पर भंडारित किये जाने की रपटें भी शामिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading