Home /News /ajab-gajab /

ट्रकों के पीछे क्यों लिखा होता है Horn Ok Please? बेहद रोचक है इसके पीछे का कारण

ट्रकों के पीछे क्यों लिखा होता है Horn Ok Please? बेहद रोचक है इसके पीछे का कारण

ट्रकों के पीछे 'हॉर्न ओके प्लीज' लिखे जाने का खास कारण होता है. (फोटो: Twitter/@eristoddle)

ट्रकों के पीछे 'हॉर्न ओके प्लीज' लिखे जाने का खास कारण होता है. (फोटो: Twitter/@eristoddle)

अंग्रेजी के हिसाब से 'हॉर्न प्लीज' (Horn Please) अपने आप में पर्याप्त लाइन है जिससे ट्रक के पीछे चल रही गाड़ी का चलक समझ जाए कि ओवरटेक करने के लिए हॉर्न देना है मगर बीच में ओके जोड़ने (Why is Horn Ok Please Painted on Truck's Back) की क्या जरूरत है. चलिए आपको इसके बारे में डीटेल से बताते हैं. 'ओके' शब्द जोड़ने के पीछे कोई पुख्ता कारण नहीं है मगर इंटरनेट पर कई तरह की थ्योरी (Horn Ok Please Theories) चर्चा में रहती हैं.

अधिक पढ़ें ...

    अगर आपने कभी ट्रकों से भरे हाइवे पर ड्राइविंग की होगी तो ट्रक्स के पीछे बनी मजेदार पेंटिंग और गजब की लाइन को देखकर जरूर इंप्रेस हुए होंगे. लंबे समय से ट्रक चालक अपनी ट्रकों को सुंदर बनाने के लिए उसपर अजीबोगरीब पेंटिंग (Weird Paintings on Truck’s Back) करते हैं और मेजदार वन लाइनर लिख देते हैं. इनमें सबसे फेमस लाइन है ‘हॉर्न ओके प्लीज’ (Horn Ok Please Meaning). आपने कई ट्रकों के पीछ इसे लिखे देखा होगा मगर क्या आप जानते हैं कि हॉर्न ओके प्लीज (Why is Horn Ok Please Painted on Trucks) का क्या अर्थ होता है.

    अंग्रेजी के हिसाब से ‘हॉर्न प्लीज’ (Horn Please) अपने आप में पर्याप्त लाइन है जिससे ट्रक के पीछे चल रही गाड़ी का चलक समझ जाए कि ओवरटेक करने के लिए हॉर्न देना है मगर बीच में ओके जोड़ने की क्या जरूरत है. चलिए आपको इसके बारे में डीटेल से बताते हैं. ‘ओके’ शब्द जोड़ने के पीछे कोई पुख्ता कारण नहीं है मगर इंटरनेट पर कई तरह की थ्योरी (Horn Ok Please Theories) चर्चा में रहती हैं.

    ओके पर लगी थी सफेद लाइट
    उनमें से एक है कि पुराने वक्त में जब ज्यादा सिंगल लेन रास्ते हुआ करते थे तब ट्रक के पीछे चलने वाली छोटी गाड़ियों को दूसरी लेन से आने वाली गाड़ियों से ओवरटेक करते समय बचना भी होता था. मगर ट्रक के बड़े साइज के कारण गाड़ियां आती हुई नजर नहीं आती थीं. ऐसे में ‘ओके’ के ‘ओ’ में एक सफेद बल्ब लगा होता था. जब पीछे वाला शख्स हॉर्न बजाता था और आगे से कोई भी गाड़ी नहीं आती थी तो ट्रक ड्राइवर ओके के ब्लब को जला देता था जिससे छोटी गाड़ी का ड्राइवर समझ जाता था कि ओवरटेक करना ठीक रहेगा.


    द्वितीय विश्व युद्ध से जुड़ा है ओके का तार
    जो सबसे चर्चित थ्योरी है, वो ये कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ट्रकों में डीजल के साथ केरोसीन भी मिलाकर चलाया जाता था. इससे इंधन के खर्च में कमी आती थी. मगर डीजल की तुलना में केरोसीन ज्यादा ज्वलनशील होता था इसलिए हॉर्न ओके प्लीज लिखा जाता था जिसमें ओके का मतलब होता था ऑन केरोसीन (On Kerosene). यानी केरोसीन से चलने वाली ट्रक. इससे अन्य गाड़ियों के चालक सतर्क हो जाते थे कि ट्रक के बेहद नजदीक से नहीं निकलना है.

    हॉर्न ओवरटेक प्लीज
    एक और प्रमुख कारण ओके के पीछे ये है कि पहले हॉर्न ओटीके प्लीज (Horn OTK Please) लिखा होता था. जिसमें ‘ओटीके’ का मतलब होता था ओवरटेक (Overtake). यानी हॉर्न देकर ही ओवरटेक करिए. मगर धीरे-धीरे उसे ओके बना दिया गया. हालांकि इन सभी कारण में कौन सा सही है, या फिर कोई भी सही है या नहीं, इसके बारे में न्यूज18 इंडिया पुष्टि नहीं करता. ये सारे ही कारण इंटरनेट की कुछ थ्योरीज का हिस्सा हैं.

    Tags: Ajab Gajab news, OMG News

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर