• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • बार्बी डॉल के जैसा प्राइवेट पार्ट चाहती थी महिला! प्लास्टिक सर्जरी ने बढ़ा दी मुश्किलें, अब कर रही अफसोस

बार्बी डॉल के जैसा प्राइवेट पार्ट चाहती थी महिला! प्लास्टिक सर्जरी ने बढ़ा दी मुश्किलें, अब कर रही अफसोस

सर्जरी से महिला खुश नहीं है और अब वो अपने बच्चों के ये सिखाती है कि उन्हें अपने शरीर को वैसे ही अपना लेना चाहिए जैसा वो असल में है. (Instagram/@caseyberos)

सर्जरी से महिला खुश नहीं है और अब वो अपने बच्चों के ये सिखाती है कि उन्हें अपने शरीर को वैसे ही अपना लेना चाहिए जैसा वो असल में है. (Instagram/@caseyberos)

केसी बेरोस (Casey Beros) अपने प्राइवेट पार्ट (Private Part) की बाहरी बनावट से खुश नहीं थीं. वो चाहती थीं कि उनका गुप्तांग बार्बी डॉल (Barbie Doll) के प्राइवेट पार्ट जैसा लगे मगर प्लास्टिक सर्जरी (Plastic Surgery) के बाद उनकी ये चाहत निराशा में बदल गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    छोटे बच्चों को गुड्डे-गुड़िया से इतना प्यार होता है कि वो उन्हीं के जैसा दिखने की कोशिश करते हैं. अक्सर छोटी लड़कियां अपनी फेवरेट बार्बी डॉल (Barbie Doll) जैसी ड्रेस पहनना चाहती हैं या उनकी तरह मेकअप करना चाहती हैं. मगर एक महिला ने हद पार करते हुए बार्बी डॉल के कपड़ों या मेकअप की नकल नहीं की, उसने तो गुड़िया के प्राइवेट पार्ट (Barbie Doll Private Part) की नकल करनी चाहिए मगर ये नकल उसको काफी भारी पड़ गई.

    डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक लेखिका और पत्रकार केसी बेरोस (Casey Beros) अपने वैजाइना (Vagina) की बाहरी बनावट से खुश नहीं थीं. वो चाहती थीं कि उसमें बदलाव किए जाएं. उन्हें बार्बी डॉल के वैजाइना (Barbie Doll Vagina) की तरह अपने प्राइवेट पार्ट को बनाना था. जब वो अपने 20वें साल में थीं तब उन्होंने ‘डिजाइनर वैजाइनास’ से जुड़ी एक डॉक्यूमेंट्री देखी थी जिसमें सर्जरी के जरिए प्राइवेट पार्ट के सुधारने के बारे में बताया गया था. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें काफी कम उम्र से ऐसा लगता था कि अगर वो अपने गुप्तांग की बनावट को बदलवा लें तो वो कॉन्फिडेंट महसूस करने लगेंगी और उनके अंदर से खुद को लेकर संकोच और शर्मिंदगी की भावना खत्म हो जाएगी. इस वजह से उन्होंने लेबियाप्लास्टी (labiaplasty) यानी गुप्तांग की प्लास्टिक सर्जरी (Plastic Surgery) करवाने का फैसला किया. जब उनकी सर्जरी हो गई तब उन्हें समझ आया कि उनसे बड़ी गलती हो गई और अब वो अफसोस कर रही हैं.

    उन्होंने कहा कि सर्जरी से पहले उन्होंने एडल्ट वीडियोज नहीं देखे थे जिससे उन्हें ये पता लग पाता कि महिलाओं के गुप्तांग वैसे ही होते हैं जैसे उनका था. वो सिर्फ एक गुड़िया के प्राइवेट पार्ट की तरह अपने प्राइवेट पार्ट को बनवाना चाहती थीं. सर्जरी के बाद उनका गुप्तांग काफी छोटा हो गया और अब उनकी सेंसटिविटी (Senstivity) भी खत्म हो गई. उन्होंने कहा कि वो ऐसा तो बिल्कुल भी नहीं चाहती थीं और अब सर्जरी से वो नाखुश हैं. डॉक्टर्स का कहना है कि इन दिनों युवतियों में अपने प्राइवेट पार्ट्स को सुधारने के लिए प्लास्टिक सर्जरी (Plastic Surgery of Private Parts) की काफी होड़ मची हुई है. मगर ऐसा करने की को चिकत्सकीय आवश्यकता नहीं होती है. ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली केसी अब चाहती हैं कि महिलाएं अपने शरीर को वैसे ही अपनाएं जैसा हो है. उन्हें अब अपने प्राइवेट पार्ट को देखकर काफी शर्मिंदगी मेहसूस होती है. वो कहती हैं कि अब वो अपने बच्चों को भी यही सिखाती हैं कि उन्हें आत्मविश्वास रखना चाहिए कि वो जैसे हैं वैसे ही अच्छे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज