• Home
  • »
  • News
  • »
  • ajab-gajab
  • »
  • Shocking: बचपन से ही सब्जियां देखकर पसीना-पसीना हो जाती है महिला, ज़िंदा रहने के लिए खाती है चिकन

Shocking: बचपन से ही सब्जियां देखकर पसीना-पसीना हो जाती है महिला, ज़िंदा रहने के लिए खाती है चिकन

शार्लेट व्हिटल (Charlotte Whittle) ने 34 साल की ज़िंदगी में हरी सब्ज़ियों और फलों से नाता तोड़ रखा है. (Credit- The Sun)

शार्लेट व्हिटल (Charlotte Whittle) ने 34 साल की ज़िंदगी में हरी सब्ज़ियों और फलों से नाता तोड़ रखा है. (Credit- The Sun)

यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) के नॉर्थ यॉर्कशायर (North Yorkshire) में रहने वाली शार्लेट व्हिटल (Charlotte Whittle) ने अपनी 34 साल की ज़िंदगी में सब्ज़ियां ही नहीं खाईं. उन्हें सब्ज़ियां देखते ही डर के मारे पसीना आने लगता है.

  • Share this:

    सामान्य लोगों के लिए ये सोचना भी मुश्किल होता है कि वे अपनी ज़िंदगी में सब्ज़ियां और फल न खाएं. हालांकि यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) की रहने वाली शार्लेट व्हिटल (Charlotte Whittle) ने अपने ज़िंदगी में सब्ज़ी और फल से कोई वास्ता ही नहीं रहा. वे हरी सब्ज़ियां देखकर ही डर (Vegetable and Fruit Phobia) जाती हैं, उन्हें खाना तो दूर की बात है. ये एक्स्ट्रीम फूड फोबिया उनकी सामाजिक ज़िंदगी में भी मुश्किल पैदा करता है.

    शार्लेट का फूड फोबिया (Food Phobia) इतना ज्यादा है, कि वो सुपरमार्केट से गुजरते हुए सब्ज़ियों की तरफ देखती तक नहीं हैं. ब्रोक्ली या हरी सब्ज़ियों (Green Vegetables) को देखकर रही उनकी हथेलियां पसीना-पसीना होने लगती हैं. उन्होंने बचपन में ही सब्ज़ियां खाना छोड़ दिया था और पिछले कई सालों से उनका जीवन सिर्फ चावल और चिकन पर कट रहा है. हरी सब्ज़ियां खाने का ख्याल ही उन्हें उल्टी करने पर मजबूर कर देता है.

    बचपन से ही है सब्ज़ियों और फलों से फोबिया
    शार्लेट का कहना है कि बचपन में वे सब्ज़ियां नहीं खाती थीं तो उनके माता-पिता उनसे कहते थे कि ऐसा करने से वे भूखी रह जाएंगी. फल-सब्ज़ियां खाने की कोशिश भी करने से उन्हें उल्टी होने लगती थी. धीरे-धीरे उन्हें सॉस, सूप और अलग-अलग तरह के खाने से भी फोबिया होने लगा. ऐसे में उनकी मां उन्हें हॉटडॉग, चिकन नगेट्स और फिश फिंगर्स जैसी चीज़ें खाने को देने लगीं. स्कूल में भी वे लंच के वक्त रोने लगती थीं. जब वे 18 साल की उम्र में नौकरी के लिए बाहर आईं, तो उन्हें यहां भी खाने को लेकर काफी दिक्कत होती थी. इससे उनकी सामाजिक ज़िंदगी भी प्रभावित होने लगी.

    ये भी पढ़ें- नॉन वेज है दुनिया का सबसे महंगा मक्खन !  200 ग्राम के पैक की कीमत है 10 हज़ार रुपये

    सब्ज़ियों से दूरी ने डेटिंग से भी दूर किया
    शार्लेट बताती हैं कि उन्हें खाने को गलत तापमान पर परोसने या गलत तरीके से परोसने से भी दिक्कत होने लगती है. वे अपने इसी फोबिया के चलते पिछले 10 सालों से सिंगल हैं, क्योंकि डेटिंग के लिए साथ में खाना खाने जाना पड़ता है और शार्लेट ऐसा कर नहीं सकतीं. उनका फूड फोबिया बढ़ता ही जा रहा है और पिछले कई साल से वो सिर्फ चिकन नगेट्स और राइस केक ही खाती हैं. पेशे से घुड़सवारी की ट्रेनर शार्लेट के लिए पोषण पर्याप्त नहीं होता, लेकिन वे इसमें कुछ नहीं कर सकतीं. उनके लिए आम लोगों की तरह दोस्तों के साथ लंच या डिनर करना किसी सपने की तरह है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज