Home /News /ajab-gajab /

50 साल पहले बच्ची ने लाइब्रेरी से उधार ली थी कहानी की किताब, अब इतने जुर्माने के साथ लौटाया वापस

50 साल पहले बच्ची ने लाइब्रेरी से उधार ली थी कहानी की किताब, अब इतने जुर्माने के साथ लौटाया वापस

1971 में पेंसिल्वेनिया के लाइब्रेरी से बच्ची ने किताब इशू करवाया था

1971 में पेंसिल्वेनिया के लाइब्रेरी से बच्ची ने किताब इशू करवाया था

सोशल मीडिया (Social Media) पर एक गुमनाम महिला की ईमानदारी की कहानी (Honest Woman Goes Viral) वायरल हो रही है. इस महिला ने आज से 50 साल पहले पेंसिल्वेनिया (Pennsylvania) के एक लाइब्रेरी से कहानी (Book Returned After 50 Years) की किताब उधार ली थी. लेकिन वो उसे लौटाना भूल गई. अब जाकर महिला ने अपनी गलती सुधारी है.

अधिक पढ़ें ...

    आज के समय में बेईमानी और भ्रष्टाचार काफी बढ़ गया है. कोई भी काम सही ढंग से हो जाए, तो उसमें शंका होने लगती है कि आखिर ये काम बिना किसी बेईमानी के हो कैसे गया? इसी दुनिया में कभी-कभी ऐसे मामले सामने आ जाते हैं जिसमें लोगों की ईमानदारी दिल को छू लेती है. सोशल मीडिया पर पेंसिल्वेनिया (Pennsylvania) के एक लाइब्रेरी लुज़र्न काउंटी के प्लायमाउथ पब्लिक लाइब्रेरी ने मीडिया के साथ एक घटना शेयर की. इसमें लाइब्रेरी के मैनेजर ने बताया कि कैसे एक गुमनाम पार्सल के जरिये उन्हें उधार ली गई किताब 50 साल बाद लौटाई गई (Book Returned After 50 Years), वो भी जुर्माने की राशि के साथ.

    मांमला आज से 50 साल पहले का है. लुज़र्न काउंटी के प्लायमाउथ पब्लिक लाइब्रेरी से एक बच्ची ने बर्टन हॉब्सन की लिखी गई किताब “कॉइन्स यू कैन कलेक्ट” की 1967 की प्रति उधार ली थी. लेकिन इसके बाद किताब लाइब्रेरी को लौटाई नहीं गई. अमूमन जब किताब लौटाई नहीं जाती तो जुर्माना लगाया जाता है. लेकिन इस मामले में लाइब्रेरी ने भी थोड़ी लापरवाही बरती और किताब को भूला दिया गया. लेकिन जिस बच्ची ने किताब ली थी, उसे अपनी ड्यूटी याद थी. 50 साल बाद उसने किताब को लौटाया.

    पार्सल में भेजे पैसे
    लाइब्रेरी को पिछले महीने एक गुमनाम पार्सल मिला था. इसके अंदर “कॉइन्स यू कैन कलेक्ट” की 1967 की एक कॉपी रखी थी. साथ ही एक लिफाफे में 20 डॉलर यानी करीब 1,483 रुपये भी रखे हुए थे. इसके साथ ही रखी थी एक चिट्ठी. इस चिट्ठी में लिखी बात से ऐसा लग रहा था जैसे किताब बातें कर रही हो. उसमें लिखा था की आज से 50 साल पहले एक बच्ची मुझे लेकर गई थी. उसने मेरी देखभाल अच्छे से की. वो मुझे पहले ही लौटाना चाहती थी लेकिन कर नहीं पाई. ऐसे में अब जुर्माने की राशि के साथ वो मुझे वापस लौटा रही है.

    book returned to library after 50 years 1
    लाइब्रेरी ने शेयर की स्टोरी
    इस किताब को लौटाए जाने से लाइब्रेरी की निदेशक लौरा केलर काफी इम्प्रेस हुई. उन्होंने मीडिया को बताया कि वैसे तो जुर्माने की राशि अब बढ़ गई है लेकिन इस महिला की ईमानदारी से वो काफी खुश हैं. अमूमन जब किताब नहीं लौटाई जाती है तो उस व्यक्ति को आगे से प्रतिबंधित कर दिया जाता है. हालांकि, इस महिला ने अपनी पहचान छिपाई है लेकिन रिकार्ड्स में ये पता चल जाएगा. लेकिन ईमानदारी की वजह से लाइब्रेरी इस महिला को बैन नहीं करेगा.

    Tags: Books, Honesty, Library, Trending news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर